मोदी की नीतियों के कारण देश गेहूं संकट का सामना कर रहा है : बनर्जी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 जून 2022

मोदी की नीतियों के कारण देश गेहूं संकट का सामना कर रहा है : बनर्जी

modi-policy-wheat-crisis-mamata-banerjee
कोलकाता, एक जून, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को आरोप लगाया कि केंद्र सरकार की खराब आर्थिक नीतियों के कारण देश गेहूं संकट का सामना कर रहा है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार को ‘‘भ्रष्ट’’ करार देते हुए उन्होंने कहा कि नोटबंदी जैसे गलत फैसलों ने देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ दी है और देश में बेरोजगारी बढ़ी है। बनर्जी ने बांकुड़ा जिले में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘ केंद्र सरकार हमें गेहूं उपलब्ध नहीं करा रही है। वह दावा कर रही है कि उसके पास देने के लिए गेहूं नहीं है। देश में गेहूं की कमी है... यह संकट केंद्र में भाजपा नीत सरकार की खराब आर्थिक नीतियों के कारण उत्पन्न हुआ है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ केंद्र को हमें हमारा पैसा देना चाहिए। अगर आप राज्यों को पैसा नहीं दे सकते हैं, तो आपको इस देश पर शासन करने का कोई अधिकार नहीं है।’’ बनर्जी ने सवाल किया कि नोटबंदी के बाद ‘‘सारा पैसा कहां चला गया’’ और आरोप लगाया कि यह एक बड़ा घोटाला है। उन्होंने कहा, ‘‘ नोटबंदी एक बड़ा घोटाला था। हमने इससे क्या हासिल किया? सारा पैसा कहां गया?’’ तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख बनर्जी ने केंद्र पर भारतीय रेलवे और बीमा जैसी देश की संपत्तियों को बेचने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘ भाजपा देश की संपत्तियां बेचने में लगी हुई है, चाहे रेलवे हो, बीमा हो.. सब कुछ बेचा जा रहा है। इस तरह से वे अर्थव्यवस्था चला रहे हैं। यह देश की अभी तक की सबसे अक्षम पार्टी है। अगर अगले लोकसभा चुनाव में उनकी हार होती है, तो यह देश के लिए बेहतर होगा।’’

कोई टिप्पणी नहीं: