500 वर्षों के संघर्ष के बाद भारत की विजय : योगी आदित्यनाथ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 1 जून 2022

500 वर्षों के संघर्ष के बाद भारत की विजय : योगी आदित्यनाथ

victory-after-500-years-with-yogi
अयोध्या, एक जून, अयोध्या में राम मंदिर के पवित्र गर्भगृह की आधारशिला रखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि यह अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए एक विशेष दिन है क्योंकि भारत ने 500 वर्षों का संघर्ष जीता है। बुधवार का दिन अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए एक बहुत खास दिन था। मंदिर निर्माण अब दूसरे चरण में प्रवेश कर गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम जन्मभूमि मंदिर में वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच बहुत विधि-विधान से गर्भगृह की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि इस क्षण की 500 वर्षों से प्रतीक्षा की जा रही थी जो अब वास्तविक हुआ है। उन्होंने कहा ,‘‘ आक्रांताओं ने भारत की आस्था पर हमला किया, लेकिन अंत में भारत और सच्चाई की विजय हुई। यह आक्रांताओं के खिलाफ भारत की विजय है। यह 500 वर्षों का संघर्ष था। हर भारतीय के लिए इससे अधिक गर्व का क्षण क्या हो सकता है।’’ योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘‘इन आक्रांताओं ने कुटिल इरादों के साथ भारत के सपनों को चकनाचूर करने की मानसिकता से भारत की आस्था पर हमला किया और अंत में हमारी आस्था की विजय हुई। एक बार फिर सत्यमेव जयते, धर्मो रक्षति रक्षिताः यतो धर्मस्ततो जयः के नारे ने अपना महत्व सिद्ध किया।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि यह विजय धर्म, सत्य और न्याय के मार्ग पर चलकर हासिल की गई है तथा अशोक सिंघल जैसे संतों के संघर्ष और आरएसएस से जुड़े लाखों कार्यकर्ताओं के प्रयासों से उसने आज आकार लिया है। उनका कहना था कि यह हमें नई प्रेरणा देता है कि यदि हम हमेशा सच्चाई और न्याय के मार्ग पर चलेंगे तो हमें जीतने से कोई नहीं रोक सकता। मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘अब इस मंदिर का निर्माण बहुत तेज गति से होगा। अब वह दिन दूर नहीं जब मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का मंदिर तैयार होगा और यह इस देश और विदेश के सभी सनातन धर्मियों की आस्था का प्रतीक बनेगा। यह भारत की आस्था के संबंध में भारत की एकता का प्रतीक होगा।’’ मुख्यमंत्री ने आगे कहा, ‘‘हमें शिलापूजन कार्यक्रम में शामिल होने का सौभाग्य मिला है। इसके लिए मैं राम मंदिर ट्रस्ट के सभी ट्रस्टियों का आभार प्रकट करता हूं। निर्माण कार्य से जुड़े संस्थानों और एजेंसियों ने पिछले ढाई साल में बहुत तेजी से काम किया है।’’

कोई टिप्पणी नहीं: