अमेरिका में योग विश्वविद्यालय अपना पहला दीक्षांत समारोह आयोजित करेगा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 जून 2022

अमेरिका में योग विश्वविद्यालय अपना पहला दीक्षांत समारोह आयोजित करेगा

yoga-university-usa
वाशिंगटन, चार जून, अमेरिका में विवेकानंद योग विश्वविद्यालय 12 जून को अपना पहला दीक्षांत समारोह आयोजित करेगा जहां 23 छात्रों को स्नातक प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा। विश्वविद्यालय के पहले दीक्षांत समारोह में कई प्रतिष्ठित योग गुरुओं, योगाचार्यों आदि के शामिल होने की संभावना है। यह कार्यक्रम लॉस एंजिलिस में विश्वविद्यालय परिसर में आयोजित किया जाएगा। विवेकानंद योग विश्वविद्यालय के न्यासी बोर्ड के अध्यक्ष डॉ एच आर नागेंद्र ने कहा, ‘‘हमें यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि स्वामी विवेकानंद 1893 में जो योग पश्चिम में लेकर आए थे, उनके बताए पथ पर चलते हुए हम योग के प्रति समग्रता वाला दृष्टिकोण लेकर आए हैं। आधुनिक वैज्ञानिक अनुसंधान में भी इसके पक्ष में बातें सामने आई हैं।’’ योग विश्वविद्यालय (वायु) के संस्थापक निदेशक प्रेम भंडारी ने कहा, ‘‘यह बहुत गर्व की बात है कि विवेकानंद विश्वविद्यालय अपना पहला दीक्षांत समारोह आयोजित कर रहा है। अमेरिका में इस विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए सारा श्रेय डॉ नागेंद्र को जाता है। यह पश्चिम में प्रशिक्षित योग गुरुओं और शोधकर्ताओं की एक लंबी फौज तैयार करने की दिशा में लंबा रास्ता तय करेगा।’’ जून 2020 में न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन और विदेश मामलों की स्थायी समिति के अध्यक्ष पीपी चौधरी ने संयुक्त रूप से विवेकानंद योग विश्वविद्यालय का उद्घाटन किया था। इसे ‘कैलिफोर्निया ब्यूरो ऑफ प्राइवेट एंड पोस्टसेकंडरी एजुकेशन’ (बीपीपीई) द्वारा लाइसेंस प्रदान किया गया है। विश्वविद्यालय के अध्यक्ष प्रोफेसर श्री एन श्रीनाथ ने कहा कि ‘वायु’ अपने अद्वितीय ऑनलाइन-आधारित पाठ्यक्रम के माध्यम से उच्च गुणवत्ता वाली स्नातक शिक्षा और अनुसंधान की सुविधा प्रदान करता है। विश्वविद्यालय के अनुसार मास्टर ऑफ साइंस (योग) कार्यक्रम में 23 छात्रों का पहला बैच स्नातक कर रहा है। डॉ श्रीनिवास रेड्डी ने कहा कि वायु पाठ्यक्रम तीन बातें सीखने पर केंद्रित है: योग कैसे और क्यों काम करता है का विज्ञान, योग का गहराई से अभ्यास करने और साक्ष्य आधारित दृष्टिकोण के साथ योग का उपयोग करके आम बीमारियों का इलाज करने की कला। एसवीवाईएएसए के प्रो वाइस चांसलर और डायरेक्टर रिसर्च डॉ मंजूनाथ एनके भी अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: