आईसीसी चेयरमैन बार्कले ने चेताया, भविष्य में कम हो सकते हैं टेस्ट मैच - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 4 जून 2022

आईसीसी चेयरमैन बार्कले ने चेताया, भविष्य में कम हो सकते हैं टेस्ट मैच

test-cricket-may-reduce-berkeley
लंदन, चार जून, आईसीसी चेयरमैन ग्रेग बार्कले ने चेताया है कि घरेलू टी20 लीगों की बढती संख्या से द्विपक्षीय श्रृंखलायें छोटी होती जा रही है और अगले दशक में इससे टेस्ट मैचों की संख्या में कटौती हो सकती है । नवंबर 2020 में आईसीसी चेयरमैन बने बार्कले ने कहा कि अगले साल से शुरू हो रहे अगले भावी दौरा कार्यक्रम को तय करते समय आईसीसी को बड़ी दिक्कतें आयेंगी । उन्होंने इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला के पहले मैच के दौरान बीबीसी के ‘टेस्ट मैच स्पेशल’ कार्यक्रम में कहा ,‘‘ हर साल महिला और पुरूष क्रिकेट का एक टूर्नामेंट है । इसके अलावा घरेलू लीग बढती जा रही है । इससे द्विपक्षीय श्रृंखलायें छोटी हो रही है ।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ इसके दुर्भाग्यपूर्ण परिणाम होंगे । खेलने के अनुभव के नजरिये से भी और उन देशों के राजस्व पर भी जिन्हें ज्यादा खेलने के मौके नहीं मिलते खासकर भारत, आस्ट्रेलिया या इंग्लैंड जैसी टीमों के खिलाफ ।‘‘ उन्होंने कहा ,‘‘अगले 10 . 15 साल में टेस्ट क्रिकेट खेल का अभिन्न हिस्सा तो रहेगा लेकिन मैचों की संख्या कम हो सकती है ।’’ उन्होंने यह भी संकेत दिया कि भारत, आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जैसे देशों पर इसका असर नहीं पड़ेगा । बार्कले ने यह भी कहा कि महिला क्रिकेट में टेस्ट प्रारूप का उतनी तेजी से विकास नहीं हो रहा है । उन्होंने कहा ,‘‘ टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिये घरेलू ढांचा उस तरह का होना चाहिये जो अभी किसी देश में नहीं है । मुझे नहीं लगता कि महिला क्रिकेट में टेस्ट प्रारूप का उतनी तेजी से विकास हो रहा है ।’’

कोई टिप्पणी नहीं: