बिहार : 38 महिला शिक्षिकाओं को सम्मान से सम्मानित किया गया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 9 जुलाई 2022

बिहार : 38 महिला शिक्षिकाओं को सम्मान से सम्मानित किया गया

38-women-teacher-honored
पटना. सूबे के 38 महिला शिक्षकों का चयन किया गया था.जिन्होंने माहवारी स्वच्छता प्रबंधन (एम०एच०एम०) पर सराहनीय कार्य किये थे.गुरुवार को सम्मान समारोह का आयोजन कार्यालय सभागार, महिला एवं बाल विकास निगम, दरोगा राय पथ, आर ब्लॉक, पटना में किया गया.जहां महिला एवं बाल विकास निगम के द्वारा चयनित 38 महिला शिक्षिकाओं को ‘एम०एच० एम० के स्टार 2022‘  सम्मान से सम्मानित किया गया. राज्य से चयनित अड़तीस महिला शिक्षिकाओं को मुख्य अतिथि श्री विवेक कुमार सिंह, विकास आयुक्त,श्री दीपक कुमार सिंह, अपर सचिव शिक्षा विभाग, श्रीमती हरजौत कौर बामहराह, अध्यक्ष -सह- मैनेजिंग डायरेक्टर महिला विकास निगम, बिहार, नफीसा बिन्ते शाफीक चीफ, यूनिसेफ बिहार ने संयुक्त रूप से सम्मानित किया गया.  इस समारोह के मुख्य अतिथि विवेक कुमार सिंह ने कहा कि माहवारी स्वच्छता प्रबंधन पर राज्य में शिक्षा विभाग एवं यूनिसेफ द्वारा बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य किये जा रहे है, विद्यालय में बालिकाओं को माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के बारे में जागरूक बनाया जा रहा है साथ ही इस विषय पर रोड मैप तैयार कर कार्य किये जा रहे है. उन्होंने कहा कि आप सभी सम्मानित शिक्षिका न सिर्फ नोडल शिक्षिका, मास्टर ट्रेनर है बल्कि एक लीडर के रूप में भी कार्य कर रही है. आप आगे भी समाज में ऐसे ही बालिकाओं को सशक्त और जागरूक बनाये.  इस अवसर पर पश्चिम चंपारण जिले की राजकीय + 2 उच्च विद्यालय कुमारबाग की शिक्षिका सुश्री मेरी आडलीन को माहवारी स्वच्छता प्रबंधन पर बेहतर एवं सराहनीय कार्य करने के लिए प्रशस्ति पत्र एवं लैपटॉप प्रदान कर एम० एच० एम० के स्टार 2022 अवार्ड से सम्मानित किया गया. सुश्री आडलीन ने बताया कि राज्य में पहली बार माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के लिए अवार्ड का आयोजन किया गया है.  बिहार शिक्षा परियोजना, बिहार और यूनिसेफ के द्वारा वर्ष 2017 में माहवारी विषय पर राज्य स्तरीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया था. उसके बाद से लगातार राज्य के सभी उच्च विद्यालय में एम एच एम विषय के लिए नोडल शिक्षिकाओं द्वारा छात्राओं को माहवारी स्वच्छता के प्रति जागरूक बनाने के लिए कक्षा का संचालन भी किया जाता रहा है. सुश्री ने कहा कि माहवारी विषय पर समाज में लोग खुलकर बात नहीं करते है, लड़कियों, महिलाओं को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है, ऐसे में शिक्षा विभाग और यूनिसेफ के द्वारा पहलकदमी कर शिक्षिकाओं और छात्राओं के लिए माहवारी स्वच्छता प्रबंधन का प्रशिक्षण, कार्यशाला का आदि का आयोजन किया जाता है. जिससे बालिकाओं में जागरूकता फैल रही है.अब बच्चियां शर्म और झिझक महसूस नहीं करती है बल्कि इस विषय पर खुलकर बात करती है, अपनी समस्याओं को साझा करती है. कार्यक्रम में श्रीमती किरण कुमारी, राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी, बिहार शिक्षा परियोजना बिहार, श्री राजीव वर्मा, डायरेक्टर महिला विकास निगम, बिहार, श्री अजय कुमार श्रीवास्तव, प्रोजेक्ट डायरेक्टर, महिला विकास निगम, बिहार, श्रीमती सोनिया, श्रीमती रश्मि कुमारी सहित अन्य अधिकारी और शिक्षिका उपस्थित हुई.

कोई टिप्पणी नहीं: