बेतिया : करूणा, सागर और सत्यम राज ने लहराया परचम - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 1 जुलाई 2022

बेतिया : करूणा, सागर और सत्यम राज ने लहराया परचम

  • सत्यम राज को गोल्ड, सागर को ब्रॉन्ज और करुणा** को मिला सिल्वर मेडल
  • जिलाधिकारी ने कराटे चैम्पियन को किया गया सम्मानित, दी शुभकामनाएं

bettiah-news
बेतिया. पश्चिम चंपारण जिले के करुणा, सागर और सत्यम राज ने पश्चिम बंगाल में परचम लहराने के बाद घर वापस आ गये हैं.11 वीं साउथ एशियन आशिहारा कराटे चैम्पियनशिप 2022 में परचम लहराने वालों को जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने सम्मानित कर शुभकामनाएं दी है. बता दें कि पश्चिम बंगाल में 25-26 जून को आयोजित 11 वीं साउथ एशियन आशिहारा कराटे चैम्पियनशिप 2022 में करूणा कुमारी, सागर कुमार और सत्यम राज ने परचम लहराया है. सत्यम राज ने गोल्ड, सागर कुमार ने ब्रॉन्ज एवं करूणा कुमारी ने सिल्वर मेडल जीतकर जिले का नाम रौशन किया है. मेडल के साथ तीनों कराटे चैम्पियन को प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया गया है. पश्चिम चंपारण जिले के जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा आज कार्यालय प्रकोष्ठ में करुणा कुमारी (उम्र-09 वर्ष) पिता-श्री चन्दन कुमार, चरगाहां, नौतन को सम्मानित किया गया तथा शुभकामनाएं दी गयी.सागर कुमार एवं सत्यम राज स्वास्थ्य लाभ लेने के कारण उपस्थित नहीं हो सके. जिलाधिकारी द्वारा इन्हें भी खूब शुभकामनाएं दी गयी है. उन्होंने कहा कि इसी तरह आगे भी राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर के कराटे प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रदर्शन कर जिले, राज्य तथा देश का नाम रौशन करें. करूणा कुमारी ने कहा कि उनका लक्ष्य राष्ट्रीय/अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं सहित ओलंपिक में मेडल जीतना है और पूरे देश का नाम रौशन करना है.कराटे का प्रशिक्षण लेने में उनके माता-पिता तथा अभिभावकों का पूरा समर्थन मिलता है तथा वे हमेशा उनका मनोबल बढ़ाते रहते हैं. चम्पारण फाईट क्लब, बेतिया के चम्पारण चीफ, श्री सेन्सेई अनिल सहनी ने बताया कि कड़ी मेहनत के बाद बच्चों ने गोल्ड, ब्रॉंन्ज और सिल्वर मेडल अपने नाम किया है तथा जिले का नाम रौशन किया है. सभी बच्चों को अच्छे तरीके से प्रशिक्षित किया जाता है.इसी के फलस्वरूप उक्त बच्चों ने मेडल जीता है.

कोई टिप्पणी नहीं: