बिहार : भारतीय मानक ब्यूरो के नवीनीकृत भवन का उद्धघाटन किया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 31 जुलाई 2022

बिहार : भारतीय मानक ब्यूरो के नवीनीकृत भवन का उद्धघाटन किया

bihar-news
पटना, 31 जुलाई , केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन तथा उपभोक्ता मामले, खाद्य व सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री श्री अश्विनी चौबे ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत नए आर्थिक आयाम पाने की ओर अग्रसर है। इस दिशा में, भारत को आत्मनिर्भर बनाने एवं भारतीय उत्पादों को वैश्विक मान्यता दिलाने के लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी  ने वोकल फॉर लोकल मंत्र का आह्वान किया है। घरेलू उत्पादों की सफलता के लिए उनकी गुणवत्ता को विश्व स्तरीय एवं उनके दामों को प्रतिस्पर्धा सुनिश्चित करना आवश्यक है जिससे भारत अपने 5 ट्रिल्यन डॉलर अर्थव्यवस्था वाला  सपना साकार कर सकता है।  केंद्रीय मंत्री श्री चौबे आज 31जुलाई 2022 को पटना में भारतीय मानक  ब्यूरो शाखा कार्यालय के नवीनीकृत प्रयोगशाला व कार्यालय के उद्घाटन के उपरांत अधिकारियों, कर्मचारियों व उद्योग संगठनों के प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस परिपेक्ष्य में भारतीय मानक ब्यूरो जो कि राष्ट्रीय मानक निकाय के रूप में भारतीय मानकों को विकसित करता है एवं इनका संचालन कर रहा है महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। .इन मानकों के निर्धारण एवं संचालन में उपभोक्ताओं का हित भी समाहित है। देश के समुचित विकास के लिए, प्रत्येक राज्य का विकास हो यह भी आवश्यक है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार के सतत प्रयास से आज बिहार में भी औद्योगिक गतिविधियां बढ़ी हैं। साथ ही बिहार के उद्योगों में मानकीकरण के प्रति भी रूझान बढ़ा है एवं नए उत्पागद मानकीकरण के लिए आ रहे हैं। फलस्वरूप, प्रतिवर्ष ब्यूरो द्वारा दिए जा रहे लाइसेंस में करीब 15 से 18 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि भारतीय मानक ब्यूरो पटना शाखा प्रयोगशाला के इस नवीनीकृत परिसर में नए उत्पायदों की जांच  की व्यवस्था भी शुरू की गई है। जिसमें बोतलबंद जल एवं सोने की शुद्धता की जॉंच की व्यवस्था शामिल है। पहले से उपलब्ध व्यवस्था को भी उन्नत किया गया है जिसमें प्रमुख हैं स्टील उत्पाद, सीमेंट, पीवीसी के उत्पाद एवं केमिकल उत्पाद हैं। इस मौके पर भारतीय मानक ब्यूरो के डीजी प्रमोद तिवारी सहित सभी उच्च अधिकारी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: