बिहार : उदयपुर कांड की उच्चस्तरीय जांच करानी चाहिए - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 2 जुलाई 2022

बिहार : उदयपुर कांड की उच्चस्तरीय जांच करानी चाहिए

  • केवल नुपूर शर्मा नहीं बल्कि भाजपा-आरएसएस ही है देश में है अशांति का कारण.

cpi-ml-kunal
पटना , भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने उदयपुर में कन्हैयालाल तेली हत्याकांड की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है. कहा कि इस मामले में जो नए तथ्य उभरकर सामने आ रहे हैं, वे बेहद ही खतरनाक हैं. हत्या के आरापियों के भाजपा कनेक्शन के तथ्य मिलने से इस बात का अंदेशा लगाया जा रहा है कि यह पूरी साजिश भाजपा व आरएसएस द्वारा ही की गई है. हत्यारे भाजपा के कार्यक्रमों में लगातार शामिल होते रहे हैं और उसके आइटी सेल से भी जुड़े रहे हैं. ऐसी स्थिति में पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच करानी चाहिए और सही तथ्यों को देश के सामने रखना चाहिए. हमें पूरा अंदेशा है कि देश में नफरत व अशांति का माहौल बनाने के लिए भाजपा व आरएसएस किसी स्तर तक जा सकते हैं. आगे कहा कि नुपूर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट पर की गई टिप्पणी महज एक व्यक्ति का मामला नहीं हो सकता है. देश में जो नफरत व अशांति का माहौल है, उसके लिए भाजपा व आरएसएस पूरी तरह से जिम्मेवार हैं. नुपूर शर्मा तो उसकी एक अदना प्रतिनिधि हैं. आए दिन संवैधानिक मूल्यों की हत्या हो रही है. अल्पसंख्यकों के खिलाफ चरम घृणा का माहौल बनाया जा रहा है. यह सबकुछ भाजपा की एक सोची समझी चाल के तहत हो रही है. वह देश को सांप्रदायिक हिंसा की आग में झोक देना चाहती है.

कोई टिप्पणी नहीं: