आईपीएस ने भाजपा नेता को गिरफ्तार न करने के लिए पुलिस को घेरा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 16 जुलाई 2022

आईपीएस ने भाजपा नेता को गिरफ्तार न करने के लिए पुलिस को घेरा

ips-d-roopa-surrounds-police-for-not-arresting-bjp-leader
बेंगलुरू, 16 जुलाई, आईपीएस अधिकारी डी रूपा ने ट्विटर पर भाजपा नेता बेलूर राघवेंद्र शेट्टी को उनके खिलाफ अदालत द्वारा जारी वारंट के बावजूद गिरफ्तार न करने के कारण कर्नाटक पुलिस की निष्क्रियता की आलोचना की है। उन्होंने शुक्रवार को ट्विटर पर अरेस्ट वारंट के कागजात को संलग्न करते हुए बेंगलुरू के पुलिस आयुक्त प्रताप रेड्डी को दिए अपने संदेश में कहा, 'सर, बेलूर राघवेंद्र शेट्टी के खिलाफ साल 2019 में कोर्ट द्वारा अरेस्ट वारंट जारी किया गया, लेकिन अभी तक उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस कोर्ट को बता रही है कि वह फरार है जबकि वह कल तक निगम के अध्यक्ष थे। कृपया इस मामले पर गौर फरमाएं।' उन्होंने हेरफेर करने के संबंध में श्री शेट्टी के खिलाफ छह पन्नों की शिकायत भी संलग्न की। एक अन्य ट्वीट में आईपीएस रूपा ने कहा कि वारंट के बाद भी गिरफ्तार न किए जाने से पुलिस भी भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 166, 166 ए, 166 बी के तहत दंडनीय है। उल्लेखनीय है कि सुश्री रूपा वर्तमान में कर्नाटक हस्तशिल्प विकास निगम की प्रबंध निदेशक हैं और श्री शेट्टी को भाजपा सरकार ने इसका अध्यक्ष नियुक्त किया था। उन पर आईपीएस अधिकारी के आरोप हैं कि अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने के बाद से उन्होंने बिना पैसे दिए निगम के शोरूम से कलाकृतियां ली हैं। इससे पहले एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें एक बैठक के दौरान श्री शेट्टी को खुद को जान से मारने की धमकी देते हुए और रूपा को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते देखा गया था। रूपा ने मुख्य सचिव से उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराने को कहा था। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि शेट्टी ने उन पर तेजाब फेंकने की भी धमकी दी थी।

कोई टिप्पणी नहीं: