झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 24 जुलाई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 24 जुलाई 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 24 जुलाई

जिला आजाद साहित्य परिषद् ने झाबुआ में निकाली गौरव माटी मिलन यात्रा, शहीद चन्द्रशेखर आजाद और राणा बख्तावर सिंह के जयघोष से गूंजायमान हुआ शहर

  • आजाद भूमि की माटी को जगह-जगह नागरिकों ने किया नमन एवं दी पुष्पांजलि, अमझेरा में साहित्य समारोह का हुआ भव्य आयोजन

झाबुआ। देश के वीर सपूत शहीद चन््रदशेखर आजाद की 116वीं जयंती के अवसर पर जिला आजाद साहित्य परिषद् द्वारा शहर के आजाद चौक पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसके प्रारंभ में जिलेभर के समस्त साहित्यकारों और गणमान्यजनों ने चौक पर स्थापित आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें पुष्पांजलि दी। बाद यहां से गौरव माटी मिलन यात्रा निकाली गई, जो शहर के प्रमुुख मार्गों से होते हुए देवझिरी, कालीदेवी, दत्तीगांव, सरदारपुर, राजगढ़ से अमझेरा पहुंची। यात्रा में शामिल आजाद भूमि की माटी के कलशों को देशभक्तों ने नमन करते हुए यात्रा प्रवेश पर जगह-जगह सभी की जोरदार आगवानी भी की गई। यात्रा का समापन अमझेरा में किले में स्थापित राणा बखतवारसिंह की प्रतिमा पर हुआ। जहां समारोह का आयोजन रखा गया। जिसमें अतिथियों और साहित्यकारों द्वारा दोनो महापुरूषांे के व्यक्तितृत्व एवं कृतित्व को अपने उद्बोधन और रचनाओं से माध्यम से बयां किया गया। जानकारी देते हुए जिला आजाद साहित्य परिषद् के अध्यक्ष डॉ. केके त्रिवेदी एवं सचिव शरतचन्द्र शास्त्री ने बताया कि परिषद् के सभी पदाधिकारी एवं सदस्यों के साथ शहर के गणमान्यजन और विभिन्न सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं के पदाधिकारी-सदस्य सुबह 9 बजे आजाद चौक पर एकत्रित हुए। बाद यहां भारत माता, वंदे मातरम् के साथ शहीद चन्द्रशेखर आजाद अमर रहे ..., अमर रहे .., आजाद तेरा यह बलिदान याद रखेगा हिन्दूस्तान ... जैसे गगनभेदी जयघोष के साथ बारी-बारी से सभी ने चन्द्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नमन किया। बाद यहां संक्षिप्त श्रद्धांजलि कार्यक्रम मंे वक्ताओं ने आजाद के जीवन पर प्रकाश भी डाला।


हरी झंडी दिखाकर यात्रा को किया गया रवाना

जिला आजाद साहित्य परिषद् के मुख्य संरक्षक वीरेन्द्र मोदी ‘दर्द’ ने बताया कि आजाद चौक से यात्रा को हरी दिखाकर आत्मनिर्भर भारत के राष्ट्रीय संयोजक तथा शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के सह-संयोजक ओम शर्मा द्वारा शहर के गणमान्य नागरिकों और साहित्यकारों की मौजूदगी में रवाना किया गया। यात्रा में आगे चन्द्रशेखर आजाद की जन्म स्थली भाबरा की भूमि की माटी कलश में लेकर दो महिलाएं चली। इसके पीछे राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के साथ समस्त नागरिक और साहित्यकार भारत माता और आजाद के जयकारे लगाते हुए शामिल हुए। सबसे पीछे विशेष वाहन पर कलश रखकर एलाउसं से इस विशेष यात्रा की जानकारी दी गई। यात्रा शहर के बाबेल चौराहा, थांदला गेट, रूनवाल बाजार, राधाकृष्ण मार्ग, राजवाड़ा, नेहरू मार्ग, डीआरपी लाईन तिराहा, राजगढ़ नाका, अनास नदी रोड होते हुए देवझिरी पहुंची।


इन स्थानों पर की गई जोरदार आगवानी

यात्रा समन्वयक जयेन्द्र बैरागी एवं संयोजक नीरजसिंह राठौर ने बताया कि दोपहर 12 बजे यात्रा का आगमन फोरलेन स्थित नरखेड़ा चौकड़ी पर हुआ। यहां से ढोल-धमाकों के साथ शहीद चन्द्रशेखर आजाद के जन्म स्थली की माटी के कलश को नरखेड़ा तक लाया गया। माटी कलश को लेकर वैष्णव समाजजन मंदिर पर पहुंचे। वहां चन्द्रशेखर आजाद और राणा बख्तावर सिंह की तस्वीर पर माल्यार्पण किया गया। इसके साथ ही कालीदेवी में भी वैष्णव समाजजन, दत्तीगांव में वहां के देशप्रेमी नागरिकों द्वारा श्रद्धांजलि सभा रखी गई। इसी प्रकार आगे चलने पर सरदारपुर और राजगढ़ में भी यात्रा की जोरदार आगवानी करते हुए माटी कलश पर सभी ने पुष्पांजलि दी।


अमझेरा में हुआ ऐतिहासिक कार्यक्रम

वरिष्ठ साहित्यकार पं. गणेश प्रसाद उपाध्याय एवं यशवंत भंडारी ने जानकारी दी कि यात्रा के अंतिम पड़ाव अमझेरा पहुंचने पर यहां प्रवेश द्वार पर राणा बख्तावर फाउंडेशन एवं क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों और नागरिकों ने यात्रा में सहभागिता कर चन्द्रशेखर आजाद और राणा बख्तावर सिंह के सामूहिक जयकारे लगाते हुए पूरे क्षेत्र में यात्रा को भ्रमण करवाया। समापन अमझेरा स्थित ऐतिहासिक किले मे स्थापित राणा-बख्तावर सिंहजी की प्रतिमा पर हुआ। जहां पर सभी ने बारी-बार से राणा बख्तावर सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें पुष्पांजलि दी।


देशभक्ति रचनाओं से बांधा समां

बाद यहां आयोजित समारोह में अतिथि के रूप में उपस्थित जिला आजाद साहित्य परिषद् के अध्यक्ष डॉ. केेके त्रिवेदी, सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी राजेन्द्र दुबे, सांसद प्रतिनिधि बालमुकुंद सिंह, संघ के प्रांतीय पदाधिकारी ललित कोठारी एवं कवि नगेन्द्र सिंह ठाकुर ने अपने उद्बोधनों के माध्यम से आजाद और राणा बख्तावर सिंह के बलिदान तथा वीर शौर्य गाथा को चरितार्थ किया। इस दौरान झाबुआ और अमझेरा दोनो क्षेत्रों के वरिष्ठ साहित्यकारो मंे सुरेश समीर रानापुर, एमएल फुलपगारे, पीडी रायपुरिया, लोकेन्द्रसिंह चौहान, भेरूसिंह चौहान ‘तरंग’, कवि नगेन्द्रसिंह ठाकुर अमझेरा आदि ने देशभ्क्ति पर आधारित रचनाओं से समां बांधा।


हनुमान चालीसा का पाठ किया गया

समारोह का आयोजन समन्वयक बैंक अधिकारी नरसिंहदास बैरागी ने किया। प्रारंभ में श्री बैरागी एवं श्री दुबे ने हनुमान चालीसा का पाठ किया। जिससे अभिभूत कर अतिथियों एवं साहित्यकारों ने दोनो का प्रशस्ति पत्र देकर अभिनंदन किया गया। नाना नरखेड़ा मंडल की ओर से यात्रा आयोजनकर्ता जिला आजाद साहित्य परिषद् को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया। झाबुआ जिले से उक्त संपूर्ण आयोजन में गायत्री परिवार कॉलेज मार्ग से पं. घनश्यामदास बैरागी, गायत्री परिवार बसंत कॉलोनी से विनोदकुमार जायसवाल, संस्कार भारती के अध्यक्ष प्रदीप ओएल जैन, वरिष्ठ शिक्षाविद् कुलदीपंिसह पंवार, वरिष्ठ समाजसेवी अशोक शर्मा, सामाजिक महासंघ के हरिश शाह लालाभाई, बचपन बचाओ आंदोलन एवं बाल अधिकार मंच के जिला संयोजक रामप्रसाद वर्मा, भागीरथ सतोगिया, राजकुमार पाटीदार आदि की विशेष सहभागिता रहीं। समारोह का संचालन मनोहर वैष्णव ने किया एवं आभार लक्ष्मीनारायण वैष्णव ने माना। इस आयोजन में श्री राम मित्र मंडल का भी सरहानीय सहयोग रहा।


लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए ज्ञान और मेहनत दोनों आवश्यक होते है -ः वरिष्ठ समाजसेवी यशवंत भंडारी

  • पीजी कॉलेज झाबुआ में बीएसडब्ल्यू और एमएसडब्ल्यू पाठ्यक्रम अंतर्गत उन्मुखीकरण कार्यशाला का हुआ शुभारंभ

jhabua-news
झाबुआ। स्थानीय शहीद चंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में 24 जुलाई, रविवार को मप्र जन अभियान परिषद् झाबुआ के निर्देशन में महात्मा गांधी ग्रामोदय विश्वविद्यालय चित्रकूट जिला सतना से संबद्धता प्राप्त मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व क्षमता विकास पाठ्यक्रम के बीएसडब्ल्यू एवं एमएसडब्ल्यू की कक्षाओं का शुभारंभ किया गया। उक्त कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वरिष्ठ समाजसेवी एवं शासकीय पीजी कॉलेज झाबआ के जनभागीदारी समिति के पूर्व अध्यक्ष यशवंत भंडारी थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. जेसी सिन्हा ने की। विशेष अतिथि के तौर पर मप्र जन अभियान परिषद के ब्लॉक समन्वयक तोलिया डामोर मौजूद रहे। प्रारंभ में अतिथियों ने विद्या और ज्ञान की देवी महा सरस्वतीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर शुभारंभ किया। उपस्थित छात्रों ने सभी का स्वागत किया। स्वागत भाषण मप्र जन अभियान परिषद् के ब्लॉक समन्वयक तोलिया डामोर एवं पाठ्यक्रम की रूपरेखा प्रोफेसर एवं मेंटर्स अजय कुमार द्वारा रखी गई। छात्र छात्राओं संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि यशवंत भंडारी ने अपनी ओजस्वी वाणी से शायर सुनाकर कि ‘‘लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती और कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती’’ को विस्तार से समझाते हुए बताया कि लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए ज्ञान और मेहनत दोनों आवश्यक होते है। व्यक्ति को अपनी क्षमता के अनुसार ही कार्य करना चाहिए। बड़े कदमों की बजाए छोटे कदमों से ही आप अपने गंतव्य पर पहुंच सकते है, इसमें धैर्य और संयम की आवश्यकता होती है। आज जन अभियान परिषद् गांव-गांव में अपनी पूरी क्षमता के साथ काम कर रहा है। श्री भंडारी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को उक्त महत्वपूर्ण पाठ्यक्रम पुनः प्रारंभ करने के लिए शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए उनका धन्यवाद ज्ञापित किया।


ज्ञान से बढ़कर कुछ भी नहीं

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए संस्था प्राचार्य डॉ. जेसी सिन्हा ने कहा कि आप को तत्परता एवं नियमितता से इस पाठ्यक्रम को पूर्ण करना है। इस कॉलेज की स्थापना सन् 1960 में हुई थी और यहां पर 8000 से अधिक छात्र पढ़ चुके हैं, इसलिए ज्ञान से बढ़कर कुछ भी नहीं है। ज्ञान से पवित्रता आती है। हमारे शरीर में मस्तिष्क ही एक ऐसी सत्ता है, जो सारे शरीर को नियंत्रित करती है। आप इसको साध लीजिए, सब सध जाएगा।


पाठ्य पुस्तके वितरित की गई

बाद अतिथियों द्वारा छात्र-छात्राओं को पाठ्यक्रम की पुस्तके भी वितरित की गई। इस दौरान एमएसडब्ल्यू के विद्यार्थियों ने कार्य के दौरान के अपने संस्मरण भी अतिथियों को सुनाएं। कार्यक्रम का सफल संचालन मेंटर्स राजेश बैरागी ने किया एवं आभार मेंटर्स पीएसआर मेड़ा ने माना। इस अवसर पर मेंटर्स मुकेश डामोर, अंतिम कलवार के साथ बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।


जय बजंरग व्यायाम शाला परिवार ने शहीद चन्द्रशेखर आजाद के जन्मोत्सव पर काटा केक, सभी देशप्रेमियों को लड्डू-मिठाई का किया गया वितरण

  • धर्म रक्षा दल के युवाओं ने रात्रि में हनुमान चालीसा पाठ कर देशभक्ति भजनों से बांधा समां

jhabua-news
झाबुआ। देश के वीर सपूत शहीद चन्द्रशेखर आजाद की 116वीं जयंती के उपलक्ष में जय बजरंग व्यायाम शाला परिवार द्वारा आजाद प्रेमी एवं राष्ट्रीय खिलाड़ी सुशील वाजपेयी के मार्गदर्शन में आजाद का जन्मोत्सव मनाते हुए यहां देशभक्ति गीतों की धुनो के बीच केक काटा गया। बाद सभी को लड्डू-मिठाई आदि का भी वितरण हुआ। इस दौरान सभी ने उत्साहपूर्वक शहीद चन्द्रशेखर आजाद के गगनभेदी घोष भी लगाए। उक्त कार्यक्रम में अतिथि के रूप में नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती मन्नूबेन डोडियार एवं वरिष्ठ समाजसेवी यशवंत भंडारी भी उपस्थित रहे। रात्रि मंे धर्म रक्षा दल से जुडे़ युवाओं ने आजाद चौक मंच पर हनुमान चालीसा का पाठ कर देशभक्ति गीतों से समां बांधा। जानकारी देते हुए आजाद प्रेमी एवं सेवाभावी सुशील वाजपेयी ने बताया कि व्यायाम शाला परिवार द्वारा युवा वर्ग के बीच बड़े जोश और उत्साह से क्रांति के स्तंभ बाल गंगाधर तिलक एवं क्रांति के महानायक वीर शहीद चन्द्रशेखर आजाद का जन्मोत्सव शाम 5 बजे से मनाया गया। जिसमें सर्वप्रथम आजाद की प्रतिमा का पवित्र तीर्थ स्थल देवझिरी में बह रहे नर्मदा नदी के जल और दूध से महाभिषेक किया गया। बाद अतिथियों सहित उपस्थित गणमान्यजनों में ललित शर्मा, दीपक चौधरी ‘रुप श्री रेस्टोरेंट’, राजेश शाह, पार्षद अजय सोनी, नारायणसिंह ठाकुर, आदित्य वाजपेयी, सौरभ जायसवाल, राजेश बारिया, प्रेमसिंग सतोगिया, मांगीलाल माली, चंदरसिंह चंदेल, महिलाओं में वरिष्ठ श्रीमती सुशीला भट्ट के साथ अन्य युवाओ ने प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलन एवं माल्यार्पण कर आजाद को पुष्पांजलि दी और उन्हें नमन किया। उक्त कार्यक्रम को सफल बनाने में हिन्दू समाज के जागरूक युवाओं मंे विरेन्द्रसिंह चौहान, धर्मेद्रसिंह सोलंकी, सौरभसिंह कंजेटा, उमेश, राकेश, राजीव, गुलाबसिंह गुंडिया. शिवम त्रिवेदी, दिनेश, सुरेश, गुलसिंग, अमृत, क्रीपालसिंग आदि का विशेष सहयोग रहा।


आजाद की प्रतिमा का लगातार किया जा रहा सौंदर्यीकरण

आजाद प्रेमी सुशील वाजपेयी ने बताया कि प्रतिवर्ष 23 जुलाई एवं 27 फरवरी को आजाद चौक पर कार्यक्रम किए जाते है, जिसमें हर वर्ग और आयु के लोगांे की सहभागिता रहती है। बिना निमंत्रण के देशभक्त स्वयं यहां आजाद को उनकी जयंती और बलिदान दिवस पर नमन के लिए बड़ी संख्या में एकत्रित होते है। श्री वाजपेयी ने जानकारी दी कि आगामी दिनों में नगरपालिका एवं शहर के जागरूक युवाओं के सहयोग से आजाद चौक को ओर सुंदर तथा सुव्यवस्थित बनाने के प्रयास किए जाएंगे। जिसमें जिला प्रशासन का भी विशेष सहयोग लिया जाएगा। पिछले दिनों में आजाद की प्रतिमा पर जो वि़द्युत पोल झूल गया था, उसे विद्युत मंडल में कंपलेन कर सहीं करवाया गया है। आजाद की प्रतिमा को सुंदर बनाते हुए यहां प्रतिमा के पीछे घड़ी भी लगवाई गई है। साथ ही रात्रि में सजावट की दृष्टि से विशेष वि़द्युत व्यवस्था के इंतजाम किए गए है। समीप सुविधायुक्त मंच भी बना हुआ है। वरिष्ठ समाजसेवी समाजसेवी संजय काठी एवं अन्य गणमान्यजनों द्वारा आजाद जयंती के उपलक्ष में आजाद प्रतिमा के पास दो सीमेेंटेड सुंदर कुर्सियां भी लगाई गई है।


धर्म रक्षा दल ने 2 घंटे तक किया हनुमान चालीसा पाठ

रात्रि 8 बजे धर्म रक्षा दल के पदाधिकारियों में विरेन्द्रसिंह चौहान, धर्मेन्द्रसिंह सोलंकी, सौरभ पंवार, लोकेन्द्र कहार, गौरव पालिवाल, सुनिल पंवार, जयंत पंवार, कुलदीप राठौर, अनूज सुजल, जीत टेलर, केशव शर्मा, सुंदरलाल पालिवाल आदि युवा कार्यकर्ताओं में आजाद प्र्रतिमा पर माल्यार्पण कर एवं उन्हें नमन कर समीप मंच पर बैठकर करीब 2 बजे घंटे तक हनुमान चालीसा पाठ किया। इस दौरान देशभक्ति गीतों की भी प्रस्तुति दी गई। समापन पर सभी द्वारा भगवान श्री राम, हनुमानजी, भारत माता, वंदे मातरम् और आजाद के सामूहिक जयघोष लगाए गए।


अनु भूरिया ग्राम पंचायत खजूरी के उप सरपंच बने


jhabua-news
थांदला। जनपद पंचायत थांदला के ग्राम पंचायत खजूरी में उपसरपंच का चुनाव संपन्न हुआ जिसमें कुल 15 वार्ड एवं एक सरपंच सहित 16 वोट में से कांग्रेस प्रत्याशी अनु भुरिया ने 10 वोट प्राप्त किए जबकि भाजपा के प्रत्याशी श्रीमती सुबा डामोर को केवल 5 वोट ही मिले जबकि एक वोट निरस्त हो गया। अनु भुरिया 5 वोट से उपसरपंच का चुनाव जीत गए। इस प्रकार भाजपा के गढ़ में 17 वर्षों बाद कांग्रेस का पूरी तरह से कब्जा हो गया है। ग्राम पंचायत खजूरी के पंच एवं ग्राम वासियों ने ग्राम पंचायत खजूरी में ढोल बाजे के साथ रैली निकालते हुए सरपंच रुसमाल मईड़ा के साथ निर्वाचित उप सरपंच अनु भूरिया का भव्य स्वागत किया। रैली में युवा नेता अनिल भाबर, पंच सावनसिह भाबर, पंच राकेश गरवाल, पंच नरेंद्र बारीया, पंच भुडा मईडा, पंच दिनेश बारिया, पंच राजु अमलियार, पंच गोवीद बारिया, पंच कमलेश भाबर, पूर्व सरपंच अमरु बारिया, जानु बारिया, कालिया बारिया, बादरसिह बारिया, अल्केश वसावा, करण भाबर, प्रवीण वसावा एवं खजूरी के ग्राम वासी एवं कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे।


थांदला महिला मंडल ने निकाली कावड़ यात्रा

 

jhabua-news
थांदला। श्रावण मास में नगर की पहली कावड़ यात्रा का आयोजन पण्डित द्वारिका प्रसाद शर्मा एवं पण्डित वेदांत भट्ट के मार्ग दर्शन में विवेकानन्द व इंद्रपुरी कॉलोनी की रहवासी महिला मंडल द्वारा निकाली गई। दुर्गा त्रिवेदी, सुमित्रा जानी, कीर्ति चतुर्वेदी, पायल अरोड़ा, रानू अरोड़ा, मीना त्रिवेदी, नीता अरोड़ा, चेतना मोड़ आदि महिला मंडल सदस्यों ने बावड़ी मंदिर से जल भरकर मनोकामनेश्वर महादेव मंदिर विवेकानंद कॉलोनी में अर्पण किया। यह पहला अवसर है जब महिला कावड़ियों की तरह बम बम भोलें के जयकारों के साथ श्रावण मास की भक्ति कर रही है।


स्वावलंबी भारत अभियान ने बच्चों से किया संवाद


jhabua-news
थांदला। स्वाबलंबी भारत अभियान अंतर्गत शहीद चंद्रशेखर आजाद की 116वीं जन्म जयंती एवं कौशल विकास दिवस पर युवाओं को प्रेरित करने के लिए संवाद कार्यक्रम का आयोजन उत्कृष्ट शासकीय बालक उत्कृष्ट विद्यालय थांदला में आयोजित किया। संवाद कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पी एन अहिरवार (खंड शिक्षा अधिकारी थांदला, राजू जी धानक (प्रदेश महामंत्री गौ रक्षा वाहिनी), दिलीप जोशी (विभाग संयोजक स्वदेशी जागरण मंच झाबुआ), अनिल पोरवाल तहसील संयोजक, बृजेश टवली रहे। इस अवसर पर अतिथियों ने बच्चों को स्वदेशी उद्यमिता एवं सहकारिता के क्षेत्र में आगे बढ़नें व स्वरोजगार स्थापित करने तथा व्यावसायिक पाठ्यक्रम के अंर्तर्गत कैरियर गाइडेंस दिया। इस अवसर पर मंच के मोहन यादव, पत्रकार कादर शेख, इमरान खान, मनीष वाघेला, जमील खान,शाहिद खान, नीलिमा डाबी, अभिभाषक श्रीमंत अरोरा एवं स्कूल स्टॉफ आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम के दौरान देश की आजादी में क्रांतिकारी आजाद की भूमिका पर निबंध लेखन प्रतियोगिता के प्रथम, द्वितीय व तृतीय प्रतियोगियों को शील्ड प्रदान कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का सफल संचालन विधानसभा प्रभारी मनोज उपाध्याय ने एवं जीव दया प्रेमी पवन नाहर ने आभार माना।


बाड़ी हनुमान मंदिर पर श्रावण मास में हो रहा अखंड रामायण पाठ, 


jhabua-news
झाबुआ। शहर के नेहरू मार्ग स्थित बाड़ी हनुमान मंदिर पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी श्रावण मास में अखंड रामायण पाठ किया जा रहा है। पं. दशरथ जानी मित्र मंडल से जुड़़े सदस्यगण समयानुसार रामायण पाठ कर बाड़ी वाले हनुमान और भगवान भोलेनाथ से देश में सुख-शांति और खुशहाली की कामना करने के साथ ही क्षेत्र में अच्छी वर्षा के लिए भी प्रार्थना कर रहे है। ज्ञातव्य रहे कि दशरथ जानी मि़त्र मंडल पिछले 13 वर्षों से सत्त बाड़ी हनुमान मंदिर पर श्रावण मास में यह आयोजन करता आ रहा है। अखंड रामायण पाठ विगत 14 जुलाई से आरंभ हुआ है। जिसमें मित्र मडल से जुड़े कलाकार बारी-बारी से सत्त 24 घंटे संगीतमय, वाद्य यंत्रों के साथ पाठ कर बीच-बीच में पाठ की चौपाईयां और धार्मिक भजन भी गाए जा रहे है। उक्त संपूर्ण आयोजन के लाभार्थी वरिष्ठ समाजसेवी शांतिलाल चौहान है।


भगवान का सुंदर पाट सजाया गया

रामायण पाठ हेतु मंदिर परिसर में श्री राम दरबार एवं हनुमानजी की तस्वीर स्थापित कर प्रतिदिन माल्यार्पण कर विधिवत् पूजन भी की जा रहीं है। यह पाठ आगामी 10 अगस्त तक चलेगा। पाठ की पूर्णाहूति पर महाआरती कर महाप्रसादी (भंडारे) का आयोजन किया जाएगा। दशरथ जानी मित्र मंडल ने शहर की धर्मप्रेमी जनता से अखंड रामायण पाठ एवं महाआरती तथा महाप्रसादी में अधिक से अधिक संख्या में सम्मिलित होकर लाभ लेने की अपील की है।

कोई टिप्पणी नहीं: