मधुबनी : स्वर्ण जयंती समारोह पर वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 30 जुलाई 2022

मधुबनी : स्वर्ण जयंती समारोह पर वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन

madhubani-today-news
मधुबनी,  ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय की स्थापना की 50 वीं वर्षगांठ के अवसर पर सी. एम. जे. कॉलेज दोनवारीहाट,खुटौना में चार दिवसीय 'स्वर्ण जयंती समारोह' का आयोजन किया गया। इस क्रम में समारोह के दूसरे दिन वाद -विवाद) प्रतियोगिता का आयोजन प्रधानाचार्य  डाॅ. मो. रहमतुल्लाह के मार्गदर्शन में सम्पन्न किया गया।  शिक्षा पर कोरोना का प्रभाव विषय पर आयोजित 'वाद-विवाद प्रतियोगिता' आई.कउ.ए. सी. एवं एन. एस. एस.के तत्वाधान मे किया गया। प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए डॉ रमण कुमार राजेश  ने कहा कि कोरोना पूरे विश्व के लिए चुनौतीपूर्ण वैश्विक परिदृश्य में बदलते भारत के सम्यक् विकास मे बाधा है। अतः इस पर परिचर्चा की आवश्यकता है। आयोजन समिति के संयोजक एवं एन. एस. एस पदाधिकारी डॉ धनवीर प्रसाद ने कहा कि कोरोना अभी पुरे विश्व को आर्थिक तंगी मे रहने पर मजबूर कर दिया है।वाद-विवाद प्रतियोगिता समन्वयक डॉ रमण कुमार राजेश ने कहा कि लोगो को कोरोना के बुरे प्रभाव से सभी को अवगत होना चाहिए।निबंध लेखन प्रतियोगिता के समन्वयक शत्रुघ्न कुमार ने कहा कि हमलोगो को वर्तमान एवं भविष्य के करोड़ों छात्रों की जीवन से सम्बद्ध होने के कारण नये भारत-निर्माण के सपनों से जुड़ी हुई प्रासंगिक नीति और इसके दुष्प्रभाव से संभलने कि जरुरतहै।। पेंटिंग प्रतियोगिता के समन्वयक डॉ अमर कुमार, डाॅ कृष्ण कुमार भारती और डाॅ सुधांशु कुमार  ने कहा कि सरकार और समाज के बीच सहज संवाद बना रहे ताकि आवश्यकता पड़ने पर इसमें परिवर्तन सहजता से संभव हो सके और इसके प्रभाव को कम कर सके।  इस अवसर पर सहयोगी सदस्य शिक्षकों के रूप में डॉ मीरा कुमारी, विनोद कुमार मंडल, डाॅ अब्दुल मन्नान, डाॅ विकास कुमार, डॉ कृष्णदेव कुमार भारती, डॉ राकेश रंजन, डाॅ सुधांशु कुमार, डाॅ सुशील कुमार सुमन, डॉ चितरंजन, डॉ मो. हनीफ आलम एवं कई छात्र और छात्राए उपस्थित रहा।

कोई टिप्पणी नहीं: