भारत-चीन सैन्य कमांडरों के बीच 16 वें दौर की बैठक 17 जुलाई को - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 13 जुलाई 2022

भारत-चीन सैन्य कमांडरों के बीच 16 वें दौर की बैठक 17 जुलाई को

meeting-between-india-china-military-commanders
नयी दिल्ली 13 जुलाई, पूर्वी लद्दाख में पिछले दो वर्ष से भी अधिक समय से चले आ रहे सैन्य गतिरोध से संबंधित बाकी बचे मुद्दों के समाधान के लिए भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच 16 वें दौर की वार्ता 17 जुलाई को होगी। दोनों पक्षों के बीच करीब चार महीने के अंतराल के बाद हो रही बैठक चीनी सीमा क्षेत्र में होगी। गत 11 मार्च को हुई 15 वें दौर की बैठक में बाकी बचे मुद्दों के समाधान में सफलता नहीं मिली थी। चीन ने पेट्रोलिंग प्वाइंट -15 से सैनिकों को पूरी तरह से पीछे हटाने से भी इंकार कर दिया था। इस बार की बैठक में इस विषय के साथ साथ देप्सांग और डेमचोक को लेकर भी बात होगी। वार्ता का यह दौर विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री वांग यी के बीच गत 6 जुलाई को बाली में जी 20 देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर मुलाकात के बाद हो रहा है। इस बैठक में श्री जयशंकर ने पूर्वी लद्दाख में सभी लंबित मुद्दों के समाधान पर जोर दिया था। मई 2020 में चीन द्वारा वास्तविक नियंत्रण रेखा पर यथास्थिति में बदलाव की कोशिश के बाद उत्पन्न हुए गतिरोध के चलते दोनों पक्षों ने सीमा पर करीब 50-50 हजार सैनिकों की तैनाती कर रखी है। 

कोई टिप्पणी नहीं: