रिबाकिना बनीं विम्बलडन चैम्पियन, पहली एशियाई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 9 जुलाई 2022

रिबाकिना बनीं विम्बलडन चैम्पियन, पहली एशियाई

rybakina-becomes-wimbledon-champion
लंदन, 09 जुलाई, कज़ाकस्तान की एलेना रिबाकिना शनिवार को ट्यूनीशिया की ओन्स जब्योर को विम्बलडन महिला फाइनल में तीन गेमों में हराकर ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने वाली पहली कजाक महिला और विम्बलडन जीतने वाली पहली एशियाई महिला बनीं। कजाकस्तान की 17वीं सीड रिबाकिना ने सेंटर कोर्ट में एक घंटा 48 मिनट तक चले फाइनल मैच में तीसरी सीड जब्योर को 3-6, 6-2, 6-2 से मात दी।यह रिबाकिना का पहला ग्रैंड स्लैम फाइनल था, जिसमें जीतकर उन्होंने अपना तीसरा खिताब जीत लिया है। इससे पहले वह बुकारेस्ट ओपन 2019 और होबार्ट ओपन 2020 का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। होबार्ट 2020 और विम्बलडन 2022 के बीच रिबाकिना को चार बार फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। साथ ही वह पिछले वर्ष हुए टोक्यो ओलंपिक का कांस्य पदक मुकाबला भी हार गयी थीं। रिबाकिना की विपक्षी जब्योर भी अपना पहला विम्बलडन फाइनल खेल रही थीं। जब्योर विम्बलडन फाइनल में पहुंचने वाली पहली ट्यूनीशियाई, पहली अरब और पहली अफ्रीकी महिला हैं। विश्व के सबसे पुराने ग्रैंड स्लैम आयोजन के फाइनल में पहली बार उतरते हुए दोनों खिलाड़ियों पर दबाव लगभग बराबर ही था, लेकिन पहला सेट हारने के बाद रिबाकिना ने शानदार वापसी की और बड़ी आसानी से अंतिम दो सेट जीतकर विम्बलडन खिताब हासिल किया। इस जीत के साथ रिबाकिना ओपन एरा में 21 वर्षीय पेट्रा क्वितोवा (2011) के बाद वीनस रोज़वाटर डिश उठाने वाली सबसे युवा खिलाड़ी बन गयीं।

कोई टिप्पणी नहीं: