विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 09 जुलाई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 9 जुलाई 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 09 जुलाई

 केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरी श्री राव ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे प्रशिक्षणार्थियों से पूछे सवाल

  • बीएसएनएल नेटवर्क द्वारा प्रदत्त सुविधाओं का अवलोकन कर अधिकारियों को दिए निर्देश, केन्द्रीय एडिशनल सेक्रेटरी का विदिशा आगमन हुआ

vidisha-news
भारत सरकार के एडिशनल सेक्रेटरी श्री व्हीएल कांता राव का आज शनिवार को विदिशा आगमन हुआ। उन्होंने आकांक्षी जिला अंतर्गत विभिन्न ग्रामों में क्रियान्वित कार्यों का भ्रमण कर जायजा लिया है। आकांक्षी जिला अंतर्गत प्रभारी अधिकारी केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरी श्री व्हीएल कांता राव ने सर्वप्रथम सांची रोड स्थित डीडीयूजी जीकेवाय (दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना) अंतर्गत प्रशिक्षण केंद्र संचालन का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने योजना अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे प्रशिक्षणार्थियों से संवाद कर प्रशिक्षण के संबंध में जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव एवं जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरी श्री व्हीएल कांता राव ने अहमदपुर रोड स्थित ग्राम चिडोरिया के प्राथमिक शाला एवं आंगनबाड़ी केंद्र का जायजा लिया है। इस दौरान उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों को मिलने वाले पोषण आहार समेत अन्य सुविधाओं की जानकारी प्राप्त कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका को आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं। इसके उपरांत उन्होंने ग्राम चिडोरिया के प्राथमिक शाला भवन में शिक्षा प्राप्त कर रहे बच्चों से संवाद स्थापित कर शिक्षण गतिविधियों के विषय में चर्चा की। प्राथमिक शाला भवन में पहुंचे एडिशनल सेक्रेटरी श्री राव का कक्षा 5वी की बालिकाओं ने स्वयं के द्वारा बनाए गया गुलदस्ता भेंट कर उनका स्वागत किया। इसी क्रम में केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरी श्री व्हीएल कांता राव ने ग्राम हांसुआ के उप स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लिया। उन्होंने यहां तैनात डॉक्टर नर्स और अन्य स्टाफ को स्वास्थ्य सुविधाओं के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि ग्राम वासियों को स्वास्थ्य सुविधाओं में किसी भी प्रकार की कोई असुविधा का सामना ना करना पड़े का विशेष ध्यान रखा जाए। केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरी व्हीएल कांता राव नए ग्राम हांसुआ ग्राम पंचायत भवन में पहुंचकर बीएसएनएल नेटवर्क द्वारा प्रदत्त सुविधाओं का अवलोकन ही नहीं किया बल्कि उन्होंने साथ मौजूद बीएसएनएल के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि ग्राम में बीएसएनएल की लाइन बिछाई जा कर ग्रामवासियों को बीएसएनएल नेटवर्क से जोड़ा जाए और उन्हें इंटरनेट की सुविधा प्रदान की जाए। श्री राव ने इसके उपरांत ग्राम गोबरहेला पहुंचकर किसान खेत पाठशाला एवं प्राकृतिक खेती प्रशिक्षण अंतर्गत किसानों से संवाद भी किया है उन्होंने ग्राम गोबरहेला में आयोजित किसानों के एक कार्यक्रम में शामिल होकर किसानों को संबोधित भी किया है।


केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरी श्री व्हीएल कान्ता राव ने किया कृषक खेत पाठशाला का निरीक्षण


vidisha-news
केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरी एवं नीति आयोग के प्रभारी अधिकारी श्री व्हीएल कान्ताराव द्वारा  ग्राम गोबरहेला में कृषि विभाग द्वारा मिलेट मिशन योजना अंतर्गत चलाई जा रही कृषक खेत पाठशाला का शनिवार को निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव एवं जिला पंचायत सीईओ डॉ. योगेस भरसट एवं कृषि विभाग के उप संचालक श्री पीके चौकसे एवं संबंधित विभागों के अधिकारी, कर्मचारी भी उपस्थित थे। उक्त पाठशाला कृषि विभाग के ऐचीवर किसान श्री बृजकिशोर राठी के खेत पर आयोजित की गई थी जहा पर ज्वार का प्रदर्शन आयोजित किया जाना है। कार्यक्रम के दौरान खेत की सोयाबीन फसल पर ड्रोन के द्वारा खरपतवार नाशक दवा का छिडकाव का प्रदर्शन किया गया एवं पेडी ट्रान्सप्लांटर मशीन द्वारा धान की रोपाई कार्य का भी प्रदर्शन किया गया। कृषि महाविद्यालय गंजबासौदा से आये कृषि वैज्ञानिक डॉ पी के मिश्रा, डॉ मालवीय द्वारा कृषकों से मिलेट मिशन अंतर्गत चयनित ज्वार की फसल की संपूर्ण कार्यमाला प्राकृतिक खेती, मिट्टी परीक्षण एवं समसामयिक चर्चा की गई। केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरीक्षश्री कान्ताराव ने कृषि विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की प्रसंशा की। मौके पर मौजूद कृषकों से चर्चा की एवं गेहूँ उत्पादन में मप्र की प्रगति की सराहना की गई। कार्यक्रम में लगभग 100 कृषकों ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. डी. के. तिवारी, जिला सलाहकार, कृषि विभाग द्वारा किया गया।कार्यक्रम में कृषि संबंधी यंत्रों का प्रदर्शन, जीवामृत बनाने की विधि का प्रदर्शन तथा इफको कंपनी एवं यूपीएल कंपनी द्वारा अपने उत्पादों का प्रदर्शन भी किया गया। कार्यक के अंत में सहायक संचालक  कृषि श्री एनपी प्रजापति द्वारा उपस्थित अधिकारियों, कृषकों का आभार प्रदर्शन किया गया। 


पौधरोपण में सहभागिता निभाई


केंद्रीय एडिशनल सेक्रेटरी श्री व्हीएल कांता राव ने विदिशा आगमन के दौरान अहमदपुर रोड स्थित ग्राम पंचायत चिडोरिया के प्राथमिक शाला भवन एवं आंगनबाड़ी केंद्र का अवलोकन करने के पहले परिसर में ही पौधरोपण कर सहभागिता निभाते हुए आमजनों से अपील की है कि सभी को पर्यावरण के प्रति जागरूक रहना चाहिए और एक पौधा अवश्य लगाना चाहिए श्री व्हीएल कांता राव ने अमरूद का पौधा रोपित किया है। इस अवसर पर कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने भी पौधरोपण में सहभागिता निभाते हुए कटहल का पौधा लगाया तथा जिला पंचायत सीईओ ने भी इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए अमरूद का पौधा लगाया है। इस अवसर पर विभिन्न विभागों के अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे। 


इंडिकेटर्स पर फील्ड वर्क कर जिले की रैकिंग में सुधार लाएं- श्री कांता राव

  • प्रशिक्षणार्थियों का शत प्रतिशत प्लेसमेंट हो

vidisha-news
केन्द्रीय एडिशनल सेक्रेटरी एवं नीति आयोग के प्रभारी अधिकारी श्री व्हीएल कांता राव ने आज विदिशा जिले में नीति आयोग के पैरामीटर अनुसार क्रियान्वित कार्यो की गहन समीक्षा की। श्री राव ने कहा कि नीति आयोग के मापदण्डो के अनुसार फील्ड में कार्य कर डाटा पोर्टल पर दर्ज कराने के कार्य सुव्यवस्थित रूप से संपन्न कराए जाएं। श्री कांताराव ने कहा कि विदिशा जिला जिन पैरामीटरों में पीछे है उन क्षेत्रों में आगे बढे और आकांक्षी जिलो की सूची जो अपै्रल माह में जारी होगी कम से कम टॉप टेन में शामिल रहें। उन्होंने कहा कि विदिशा जिले को आकांक्षी जिलो की देशयापी सूची से बाहर निकालने के लिए जिले में बेहतर कार्य करना संबंधित विभाग के साथ-साथ हम सबका नैतिक दायित्व है। उन्होंने कहा कि विभागों को क्रियान्वयन करने में किसी भी प्रकार की दिक्कत आती है तो अविलम्ब जानकारी में लाएं। केन्द्रीय एडिशनल सचिव श्री कांताराव ने कहा कि केन्द्र सरकार से संबंधित समस्याओं का समाधान प्राप्ति हेतु सीधे मुझे अवगत कराया जा सकता है ताकि केन्द्रीय विभागो के अधिकारियों से मै समन्वय स्थापित कर विदिशा जिले की समस्याओं का समाधान शीघ्र करा सकूं। उन्होंने कहा कि जिले में भ्रमण के दौरान यह पाया गया है कि नीति आयोग के पैरामीटर अनुसार कार्य तो किए जा रहे है किन्तु उनको सुव्यवस्थित रूप से आयोग को बतलाने के प्रयास बेहतर नहीं है। जिले की ग्रेडिंग सूची में आशातीत परिवर्तन आए इसके लिए किए गए कार्यो को सुव्यवस्थित रूप से आयोग को अवगत कराने का भी महत्वपूर्ण दायित्व है। नीति आयोग के प्रभारी अधिकारी श्री कांता राव ने कहा कि देश के अन्य प्रदेशो के ऐसे जिले जिनमें नीति आयोग के पैरामीटरो पर बेहतर कार्य कर वे वरिष्ठता सूची में शामिल है ऐसे जिलो का विदिशा जिले के अधिकारियों का भ्रमण कराया जाएगा ताकि वे त्रुटियों में सुधार ला सकें और उनके द्वारा रैकिंग में वरिष्ठता प्राप्ति हेतु क्या-क्या, कैसे नवाचार करते हुए क्रियान्वयन किया जाए की मूलधारणा से अवगत हो सकें। एडिशनल सेक्रेटरी श्री राव ने बैठक में कहा कि विदिशा जिले में तकनीकी कौशल कार्यक्रम के तहत जिन युवा, युवतियों को प्रशिक्षित किया जाता है उनका शत प्रतिशत प्लेसमेंट हो वे निजी कंपनियो में नौकरी ज्वाइंन करें या फिर किसी शासकीय योजनाओं से लाभांवित होकर स्वंय का रोजगार स्थापित कर सकें। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने केन्द्रीय एडिशनल श्री राव को आश्वस्त कराते हुए कहा कि विदिशा जिले में नीति आयोग के पैरामीटरों में आशतीत सुधार लाने के लिए जो भी आवश्यक सुझाव आपके द्वारा अवगत कराए गए हैं उनका पालन कर अमल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अप्रैल माह में जारी होने वाली आकांक्षी जिलों की देशव्यापी सूची में विदिशा जिला टॉप-टेन में शामिल रहे इसके लिए संबंधित विभागों के पैरामीटरों में सुधार लाने हेतु किसी भी प्रकार की कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने समीक्षा बैठक में पावर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से विभिन्न क्रियान्वित पैरामीटरों की उपलब्धियों व तुलनात्मक प्रगति की जानकारी प्रतिशतों के माध्यम से प्रस्तुत की। उन्होंने कहा कि आकांक्षी जिले में शामिल विदिशा में नवाचार किया जा रहा है। जिसके तहत बेहतर रिव्यू के लिए प्रथक से टीम गठित की गई है वहीं डाटा एंट्री कार्य के लिए भी जिला अधिकारियों को दायित्व सौंपे गए हैं। इन दोनों टीमों के संयुक्त समन्वय से उल्लेखित विभागों की जानकारियों का डाटा प्रत्येक माह की पंद्रह तारीख तक नीति आयोग के पोर्टल पर दर्ज कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। उन्होंने बताया कि नीति आयोग के पैरामीटर अनुसार जिले में आकांक्षी ग्रामों का भी चयन किया गया है। इन ग्रामों की जबावदेही जिलाधिकारियों को सौंपी गई है। इन अधिकारियों के द्वारा समीक्षा बैठकें आयोजित की जाएंगी ताकि आयोग के मापदंडों से ग्रामवासी भी अवगत हो सकें और उनके द्वारा सुधार कार्यों को सम्पादित कराया जा सके। उन्होंने बताया कि विदिशा जिले को नीति आयोग के द्वारा आठ करोड़ की राशि आवंटित की गई थी। जिसमें से पांच करोड़ की राशि से जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं खासकर संस्थागत प्रसव के संबंध में विशेष पहल की गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में प्रसव केन्द्रों के उन्नयन हेतु जो प्रबंध सुनिश्चित किए गए हैं उनमें बुनियादी सुविधाओं के साथ साथ उन्नत उपकरणों एवं अन्य सामग्री की पूर्ति कराई गई है। वहीं महिला बाल विका के लिए तीन करोड़ की राशि आवंटित कर ऐसे ग्राम, शहरी आंगनबाड़ी केन्द्र जो किराए के भवनों में संचालित हो रहे थे वहां नवीन भवन बनाए जाने का कार्य उक्त राशि से सम्पादित किया जाएगा। उन्होंने जिले में एडीपी के क्रियान्वयन हेतु निर्धारित मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के संबंध में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी है। जिला पंचायत सीईओ डॉ भरसट ने पावर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से नीति आयोग के द्वारा जारी होने वाली डेल्टा सूची, ओवरऑल सूची, विभागीय सूची के प्रतिशत की तुलनात्मक जानकारी प्रस्तुत करते हुए शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, तकनीकी उन्नयन कौशल, अधोसंरचनाएं तथा वित्तीय प्रबंध के संबंध में किए गए कार्यो की भी जानकारी प्रस्तुत की है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में डिप्टी कलेक्टर, बीएसएनएल के जीएम, बीबीएनएल के डायरेक्टर सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहें। 


मतगणना प्राधिकर पत्र हेतु 13 तक आवेदन जमा करें


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि विदिशा नगरपालिका के आम निर्वाचन उपरांत मतो की गणना कार्य रविवार 17 जुलाई को एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में प्रातः नौ बजे से शुरू होगी। उन्होंने बताया कि मतगणना कार्य में प्रवेश के लिए प्राधिकार पत्र जारी करने हेतु विदिशा एसडीएम एवं सहायक रिटर्निंग आफीसर श्री गोपाल सिंह वर्मा को अधिकृत किया गया है। विदिशा नगरपालिका क्षेत्र के अभ्यर्थी, निर्वाचन अभिकर्ता को मतगणना प्राधिकार पत्र प्राप्ति हेतु 13 जुलाई तक आवेदन विदिशा एसडीएम कार्यालय में दो रंगीन, पासपोर्ट फोटो साईज एवं आधार कार्ड की फोटो कॉपी जमा करनी होगी। ताकि संबंधितों को विधिवत रूप से प्राधिकार पत्र जारी हो सकें। एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा ने बताया कि अभ्यर्थी एवं निर्वाचन अभिकर्ताओं को पूर्व में जारी परिचय पत्र, मतगणना स्थल पर प्रवेश के लिए मान्य नहीं होंगे। मतगणना परिसर में प्रवेश हेतु नवीन प्राधिकार पत्र जारी किए जा रहे है उन्होंने बताया कि कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा यह भी निर्धारित किया गया है कि अभ्यर्थी या उनके निर्वाचन अभिकर्ता में से कोई एक को ही प्रवेश दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त एक गणना अभिकर्ता को प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश प्राधिकार पत्र प्राप्ति के लिए 13 जुलाई तक आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। गौरतलब हो कि एक वार्ड के सभी मतदान केन्द्रो की ईव्हीएम की गणना एक ही टेबिल पर की जाएगी। 


शासकीय कन्या अग्रणी स्नातकोत्तर महाविद्यालय में इंडक्शन कार्यक्रम संपन्न, प्रशिक्षण कार्यक्रम में नवीन शिक्षा नीति 2020 से शिक्षा में आए परिवर्तनों पर विस्तार से प्रकाश डाला


vidisha-news
शासकीय कन्या (अग्रणी) स्नातकोत्तर महाविद्यालय विदिशा में इंडक्शन कार्यक्रम के अंतर्गत नव प्रवेशित विद्यार्थियों को इंडक्शन कार्यक्रम के अंतर्गत नवीन शिक्षा नीति का प्रशिक्षण दिया गया। उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार शासकीय कन्या (अग्रणी) स्नातकोत्तर महाविद्यालय विदिशा में नई शिक्षा नीति 2020 का व्यापक प्रशिक्षण विद्यार्थियों को दिया गया है। उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम में कला, वाणिज्य एवं विज्ञान संकाय के नवप्रवेशित विद्यार्थियों को प्रशिक्षित किया गया है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में नवीन शिक्षा नीति 2020 से शिक्षा में आए परिवर्तनों पर प्राध्यापकों ने विस्तार से प्रकाश डाला तथा विद्यार्थियों की उच्च शिक्षा से संबंधित जिज्ञासाओं का समाधान भी किया है। विद्यार्थियों को मेजर माइनर इलेक्टिव एवं वोकेशनल विषयों के बीच के अंतर को स्पष्ट किया है। महाविद्यालय प्राचार्य डॉ मंजू जैन ने इंडक्शन कार्यक्रम के पहले दिन शुरुआत की तथा सभी विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति एक नयी पहल है। इसलिए इसके विषय में विद्यार्थियों को जानकारी जरूरी है। विद्यार्थी इससे पहले से परिचित हों और आगे के लिए योजनाएँ बना सकें, इस उद्देश्य से इस कार्यक्रम को आयोजित किया गया है। यह कार्यक्रम दिनाक 1 से प्रारंभ हुआ जो शनिवार 9 जुलाई तक चला। कार्यक्रम मे प्रोफेसर नीता पाण्डे, प्रोफेसर नीता दीक्षित, प्रोफेसर वसुंधरा गवांदे, डा. सीमा चक्रवर्ती, प्रोफेसर विनयमणि त्रिपाठी, डॉ ज्योति मिश्रा, डॉ विनिता प्रजापति, प्रो. सविता सोनी सहित महाविद्यालय के अन्य प्राध्यापकों ने सक्रियता की और नयी शिक्षा नीति विषयक जानकारी विद्यार्थियों के समक्ष प्रस्तुत की। 

कोई टिप्पणी नहीं: