प्रतापगढ़ : अपर सेशन न्यायाधीष ने किया छात्रावासो का औैचक निरीक्षण - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 19 अगस्त 2022

प्रतापगढ़ : अपर सेशन न्यायाधीष ने किया छात्रावासो का औैचक निरीक्षण

Hostel-Inspection
प्रतापगढ़।  राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार श्री शिवप्रसाद तम्बोली-सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, (अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश), प्रतापगढ़ द्वारा जनजातीय क्षैत्रीय विकास विभाग द्वारा संचालित राजकीय आवासीय जनजातीय विद्यालय, धरियावद रोड़, प्रतापगढ़ राणा पूंजा बालक आश्रम छात्रावास, देवगढ़ एवं रानी देवली बालिका आश्रम छात्रावास, देवगढ़ का निरीक्षण किया गया। राजकीय आवासीय जनजातीय विद्यालय, धरियावद रोड़, प्रतापगढ़ के निरीक्षण में बालक-बालिकाओं से संवाद कर हालचाल जाना, बच्चों को सचिव द्वारा सामान्य कानूनी जानकारी जैसे अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार निवारण कानून, बाल विवाह निषेध कानून, डाकन प्रथा निषेध कानून, दहेज प्रथा निषेध कानून, प्रोटेक्शन ऑफ सिविल राइट्स एक्ट, लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम की जानकारी दी एवं नैतिक शिक्षा के बारे में बताया। साथ ही सचिव ने बच्चों को बताया कि किसी भी प्रकार का भेदभाव या दुर्व्यवहार होने पर अपने माता-पिता, प्रधानाचार्य, छात्रावास अधीक्षक, पुलिस अथवा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण को सूचित किया जावें।  सचिव द्वारा राणा पूंजा बालक आश्रम छात्रावास देवगढ़ का भी निरीक्षण किया गया। दौराने निरीक्षण सामने आया कि छात्रावास के अधिकतर कमरों के खिडकियों के कांच टूटे थे, दो कमरों के दरवाजे टूटे थे, कई कमरों में पलंग नहीं थे, बेडशीट काफी गंदी थी, बच्चों से संवाद किया गया बच्चों ने जाहिर किया कि रोटियां कम पड जाती है, रोटियां कच्ची व जली हुई मिलती है, खाना भी ठण्डा मिलता है रोटी बनाने वाला रोटी बनाकर चला जाता है। रोटियों का अधोहस्ताक्षरकर्ता द्वारा निरीक्षण किया गया रोटियां कच्ची पायी गयी जिसके फोटोग्राफ्स अलग से लिये गये। छात्रावास अधीक्षक उपस्थित नहीं मिले, उपस्थिति पंजिका के निरीक्षण से जाहिर आया कि दिनांक- 17.08.2022 व 18.08.2022 के अधीक्षक के हस्ताक्षर नहीं थे। छात्रावास में गंदगी का आलम है, शौचालय व बाथरूम गंदे है। कुछ कमरों में अनावश्यक सामान पडा है। छात्रावास परिसर किसी उजाड क्षैत्र से कम नहीं है व छात्रावास परिसर में गंदगी फैली हुई है। साथ ही सचिव ने बच्चों को बताया कि किसी भी प्रकार का भेदभाव या दुर्व्यवहार होने पर अपने माता-पिता, प्रधानाचार्य, छात्रावास अधीक्षक, पुलिस अथवा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण को सूचित किया जावें। सचिव द्वारा रानी देवली मीणा बालिका आश्रम छात्रावास देवगढ़ का भी निरीक्षण किया गया। छात्रावास अधीक्षिका पार्वती मीणा अनुपस्थित मिली। उपस्थिति पंजिका में भी हस्ताक्षर नहीं है। चौकीदार ने बताया कि वार्डन आज नहीं आयी है। बालिकों से संवाद कर उन्हे कानूनी जानकारी दी गयी। बालिकाओं ने बताया कि ठण्डा खाना मिलता है, सभी कमरे बरसात में टपक रहे है। कमरों की खिडकियां टूटी है। बालिकाओं को सैनेटरी नैपकिन नहीं मिलते है। परिसर में काफी सारी घास उगी हुई है। साफ सफाई सही नहीं है जिससे जहरीले जानवरों का खतरा है। उक्त दोनों छात्रावास में काफी गंदगी पायी गयी। छात्रावासों में सिंगल बेड लगाये हुऐ है जिस पर भी एक पलंग पर दो बच्चे सोते है। सचिव ने उपरोक्त सभी कमियों को गंभीरता से लेते हुए उपायुक्त, जनजातिय एवं क्षैत्रीय विकास विभाग, प्रतापगढ़ को पत्र लिखने व शीघ्रातिशीघ्र पालना करवाये जाने हेतु निर्देश दिये।

कोई टिप्पणी नहीं: