गूगल पर क्यू ट्रेंड कर रहे है बिहार और यूपी के दोनों शिक्षक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 19 अगस्त 2022

गूगल पर क्यू ट्रेंड कर रहे है बिहार और यूपी के दोनों शिक्षक

google-trend
यूपी के अलख पांडे और बिहार के आरके श्रीवास्तव क्यू है इतने चर्चित, स्टूडेंट्स बना रहे इनका सुंदर स्केच: चर्चित कहावत है की "एक बिहारी सौ पर भारी" तो एक यूपी वाला लाखो पर भारी, बिहार और यूपी के दो युवा शिक्षक अलख पांडे और आरके श्रीवास्तव क्यू है इतने चर्चित, आखिर गूगल पर टॉप ट्रेंड में क्यों है यह दोनों शिक्षक, कई मल्टी टैलेंटेड स्टूडेंट्स बना रहे इनका स्केच,

गूगल पर टॉप ट्रेंड में है दोनो शिक्षक,

गूगल पर आप जैसे ही "मैथमेटिक्स गुरु" टाइप करेंगे सबसे टॉप पर बिहार के आर के श्रीवास्तव का नाम आएगा, इसके अलावा जैसे ही आप गूगल पर सर्च करेंगे कि "best teacher of bihar"तो सबसे टॉप पर बिहार के आरके श्रीवास्तव का नाम दिखाई देगा। बिहार में एक ऐसे मैथमेटिक्स गुरु (best teacher of bihar) हैं जो गरीब बच्चों को महज 1 रुपए में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करवाते हैं। यही नहीं करीब 545 बच्चे को अब तक इंजीनियर भी बना चुके हैं। हम बात कर रहे हैं आरके श्रीवास्तव की, वे गूगल बॉय नाम से प्रसिद्ध कौटिल्य को भी पढ़ाते हैं। महज 35 की उम्र में वे देश और दुनिया भर में प्रसिद्ध हो चुके हैं। उनका नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड सहित कई रिकॉर्ड बुक में दर्ज है। पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी इन्हें सम्मानित कर चुके हैं और उनके शैक्षणिक कार्यशैली की प्रशंसा कर चुके हैं। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के रहने वाले अलख पांडे अपने शैक्षणिक कार्यशैली के बल पर देश के कोने कोने में छाए हुए हैं, यूट्यूब पर इनसे पढ़ने वाले स्टूडेंट्स की संख्या करोड़ों में है। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रयागराज (Prayagraj) के एक ट्यूशन टीचर अलख पांडेय (Alakh Pandey) के नाम देश के 101वें यूनिकॉर्न के मालिक बनने का गौरव हासिल हुआ है। उनकी कहानी एक प्रेरणा से कम नहीं है। एक 30 साल के युवक ने अरबों रुपये की कंपनी खड़ी करके हर किसी को चौंका दिया है। इनकी संस्था फिजिक्स वाल्लाह के नाम से देश में चर्चित है।

कोई टिप्पणी नहीं: