बिहार : केंद्र सरकार अयोग्य, बेच रही देश की संपति : तेजस्वी यादव - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 5 अगस्त 2022

बिहार : केंद्र सरकार अयोग्य, बेच रही देश की संपति : तेजस्वी यादव

bihar-rjd-news
पटना : देश में बढ़ती मंहगाई को लेकर राजधानी दिल्ली से लेकर बिहार की राजधानी पटना में भी विपक्षी दलों द्वारा सरकार पर हमला बोलना शुरू कर दिया है। बिहार की सबसे बड़ी पार्टी के सर्वमान्य नेता तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से बढ़ती महंगाई को लेकर सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। तेजस्वी यादव ने कहा है कि महंगाई, बेरोजगारी और बदहाल अर्थव्यवस्था देश की सबसे गंभीर व ज्वलंत समस्या है, लेकिन दुर्भाग्य है कि सरकार जन सरोकार के इन मुद्दों पर बात ही नहीं करना चाहती। यह अयोग्य सरकार देश की आय बढ़ाने की बजाय देश की संपत्ति बेचकर, युवाओं एवं आमजनों को भ्रमित कर कितने दिन काम चलाएगी?’ उन्होंने केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार जन सरोकार के मुद्दों पर बात ही नहीं करना चाहती। वे बेवजह के मुद्दों को उठती है। उन्होंने यह भी कह दिया कि सरकार देश की आय बढ़ाने की बजाय देश की संपत्ति बेच रही है। मालुम हो कि, इससे पहले भी तेजस्वी ने कहा था कि देशवासी नोटबंदी के बाद से बदहाल अर्थव्यवस्था, बेतहाशा महंगाई, रिकॉर्ड तोड़ बेरोजगारी और नौकरी के विकल्पों के अभाव से पहले ही तंग हैं। इस नए बोझ ने उनकी परेशानी और बढ़ा दी है। नए जीएसटी के चलते दूध-दही, घी, आटा, चावल, स्टेशनरी के भाव 10-15 फीसदी बढ़ गए हैं। लोगों के भोजन के साथ-साथ पढ़ाई-लिखाई पर इसका सीधा असर पड़ना तय है। हर माह बेरोजगारों की संख्या में डेढ़-दो करोड़ का इजाफा हो रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: