नालंदा : जैविक उत्पाद बिक्री केंद्र एवं जिला कृषि कार्यालय का निरीक्षण - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 18 अगस्त 2022

नालंदा : जैविक उत्पाद बिक्री केंद्र एवं जिला कृषि कार्यालय का निरीक्षण

  • * जिलाधिकारी ने जैविक उत्पाद बिक्री केंद्र एवं जिला कृषि कार्यालय का किया निरीक्षण
  • * आत्मा सभागार में की कृषि टास्क फोर्स की बैठक

nalanda-news
बिहारशरीफ: नालंदा जिले के जिलाधिकारी श्री शशांक शुभंकर ने आज बिहारशरीफ कृषि कार्यालय के पास जैविक उत्पाद बिक्री केंद्र का निरीक्षण किया. इस केंद्र में फ्रिज की व्यवस्था नहीं होने के कारण उत्पादों की बिक्री में कठिनाई हो रही है. जिलाधिकारी ने जिला कृषि पदाधिकारी को पूर्व में ही फ्रिज की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया था. इस संबंध में उनसे स्पष्टीकरण पूछते हुए फ्रिज की व्यवस्था के लिए विभाग को संसूचित करने का निर्देश दिया. इसके बाद जिलाधिकारी ने जिला कृषि कार्यालय का निरीक्षण किया.कार्यालय में संचालित उर्वरक नियंत्रण कक्ष का निरीक्षण किया गया. नियंत्रण कक्ष में संधारित शिकायत पंजी का उन्होंने बारीकी से अवलोकन किया. पंजी में दर्ज 15 शिकायतों के अनुपालन की प्रविष्टि से संबंधित जाँच रिपोर्ट का उन्होंने रैंडम अवलोकन किया. जाँच रिपोर्ट की गुणवत्ता को लेकर उन्होंने असंतोष व्यक्त किया क्योंकि इसमें शिकायतकर्ता का पक्ष दर्ज नहीं किया गया था. जिलाधिकारी ने इन सभी शिकायतों की जांच गुरुवार को वरीय पदाधिकारियों के क्षेत्र भ्रमण के क्रम में सुनिश्चित कराने को कहा.इसमें शिकायतकर्ता के पक्ष के साथ ही संबंधित उर्वरक बिक्री प्रतिष्ठान की जांच की जाएगी. जिले में उर्वरक की उपलब्धता/आपूर्ति से सम्बन्धित संचिका का भी जिलाधिकारी ने अवलोकन किया. प्रखंडवार उर्वरक के आवंटन/वितरण की पद्धति के बारे में जानकारी ली गई. वर्तमान खरीफ मौसम में उर्वरकों के प्रखंडवार आवंटन का समेकित रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा गया. निरीक्षण के उपरांत जिलाधिकारी द्वारा आत्मा सभागार में कृषि टास्क फोर्स की बैठक की गई. जिला में धान का आच्छादन लगभग 84 प्रतिशत बताया गया।धान,मक्का एवं अन्य सभी फसलों के आच्छादन का वास्तविक आंकड़े में भिन्नता नहीं हो, इसे सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया. उन्होंने धान के आच्छादन का किसान वार सूची तैयार करने को कहा. धान/मक्का के आच्छादन का स्थल जाँच प्रखंडों के वरीय पदाधिकारियों के क्षेत्र भ्रमण के क्रम में कराने का निर्देश दिया गया।विशेष रूप से वेन,बिंद, हिलसा, इस्लामपुर,परवलपुर, सरमेरा आदि प्रखंडों में फसल आच्छादन का जाँच कराने को कहा गया. डीजल अनुदान योजना के तहत हर पात्र किसान से आवेदन सृजित कराकर लाभान्वित करने का निर्देश दिया गया.उर्वरक की कालाबाजारी पर प्रभावी नियंत्रण सुनिश्चित रखने का स्पष्ट रूप से निर्देश कृषि विभाग के सभी संबंधित पदाधिकारियों को दिया गया.आकस्मिक फसल योजना से प्रत्येक पात्र किसान को आवश्यकतानुसार आच्छादित करने की व्यवस्था सुनिश्चित रखने को कहा गया. इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, जिला कृषि पदाधिकारी, सहायक निदेशक उद्यान, प्रखंड कृषि पदाधिकारी, प्रखंड उद्यान पदाधिकारी सहित कृषि विभाग के अन्य पदाधिकारी मौजूद थे.

कोई टिप्पणी नहीं: