सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 17 अगस्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 18 अगस्त 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 17 अगस्त

 सम्पूर्ण कायाकल्प अभियान के अन्तर्गत जिला चिकित्यालय में किये जाने वाले कार्यो के लिए समिति का गठन


सम्पूर्ण कायाकल्प अभियान के तहत जिला चिकित्सालय में स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वीकृत किये गये कार्यो के लिए पॉच सदस्यीय की समिति का गठन किया गया है। समिति में सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ. आशोक कुमार मांझी, डॉ. यूके श्रीवास्तव, डॉ. हरिओम गुप्ता, समाजसेवी श्री अखिलेश राय तथा वार्ड-21 के पार्षद श्री कमलेश कुशवाह को शामिल किया गया है। उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले की स्वास्थ्य संस्थाओं की मरम्मत केटेगरी के अन्तर्गत एक करोड़ 37 लाख से अधिक की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की गई है। जारी प्रशासकीय स्वकृति एवं प्राक्कलन अनुसार विशेष मरममत कार्य के लिए पीआईयू लोक निर्माण विभाग को शासन द्वारा दिशा निर्देश जारी कर कार्य प्रारंभ किया जाना है। जिला चिकित्साल के कार्यो के लिए 20 लाख 68 हजार 685, रूपये की रूवीकृति जारी की गई है।


सीवन नदी की बाढ़ में बहे पटवारी श्री रजक का शव ग्राम सेवनियां में मिला


15 अगस्त की रात भारी बारिश के दौरान सीहोर से लापता हुए शाजापुर जिले में पदस्थ तहसीलदार नरेंद्र सिंह ठाकुर एवं नसरुल्लागंज में पदस्थ पटवारी महेंद्र रजक की सीवन नदी की बाढ़ में कार सहित बह गए थे। डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट श्री कुलदीप मलिक ने बताया कि एसडीईआरएफ की टीम द्वारा लगातार तलाश के दौरान 17 अगस्त को सुबह पटवारी श्री महेन्द्र रजक का शव सीहोर से तीन किलोमीटर दूर ग्राम सेवानियां के समीप मिला है। समाचार लिखे जाने तक तहसीलदार श्री नरेन्द्र सिंह ठाकुर की एसडीईआरएफ की टीम तलाश कर रही है।


अमानक घोषित उर्वरक के क्रय-विक्रय एवं स्थानान्तरण पर तत्काल प्रतिबंध


खरीफ वर्ष 2022 में उर्वरकों के नमूने विश्लेषण के लिए उर्वरक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला जबलपुर भेजे गये थे जिसके विश्लेषण के आधार पर उर्वरक अमानक घोषित पाये जाने के कारण उर्वरक के क्रय-विक्रय एवं स्थानान्तरण पर तत्काल प्रतिबन्ध लगाया गया है। उप संचालक पदेन अधिसूचित प्राधिकारी उर्वरक एवं किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग सीहोर ने जानकारी दी कि प्रतिबन्धित उर्वरक निर्माता महाधन फास्फेट प्रायवेट लिमिटेड राजस्थान का बैच एवं लॉट नंबर M/PL/A-1, अमानक लॉट की मात्रा टन में 6.0.00 विक्रेता प्राथमिक साख सकहारी समिति मर्यादित रेहटी के उर्वरक के क्रय-विक्रय एवं स्थानान्तरण पर तत्काल प्रतिबन्धित किया गया है। इसी प्रकार एनएफएल विजयपुर गुना का बैच एवं लॉट नंबर VSP/3996/1001/2022, अमानक लॉट की मात्रा टन में 1.0.00 विक्रेता सेवा सहकारी समिति बनेटा, एग्रोफॉस इंडिया लिमिटेड तुकोगंज का बैच एवं लॉट नंबर D/PGA/0204/2022, अमानक लॉट की मात्रा टन में 1.0.00 विक्रेता सेवा सहकारी समिति मर्यादित सत्रामऊ, इंडियन फार्मर फर्टिलाइजर लिमिटेड कांडला गाधीग्राम गुजरात का बैच एवं लॉट नंबर 07 JUNE 2022, अमानक लॉट की मात्रा टन में 1.5.00 विक्रेता सेवा सहकारी समिति मर्यादित सत्रामऊ, इंडियन पोटाश लिमिटेड चेन्नई का बैच एवं लॉट नंबर (01)-B/22, अमानक लॉट की मात्रा टन में 1.0.00 विक्रेता प्राथमिक साख सहकारी समिति मर्यादित बोरी, मोजेक इंडिया प्रायवेट लिमिटेड गुरूग्राम (हरियाणा) का बैच एवं लॉट नंबर 01 05/2022, अमानक लॉट की मात्रा टन में 1.0.00 विक्रेता  प्राथमिक साख सहकारी समिति मर्यादित बुधनी, चम्बल फर्टिलाइजर एंड केमिकल्स लिमिटेड गडेपान कोटा राजस्थान का बैच एवं लॉट नंबर 5/22, अमानक लॉट की मात्रा टन में 1.0.00 विक्रेता सेवा सकहारी समिति मर्यादित जवाहरखेड़ा के उर्वरक के क्रय-विक्रय एवं स्थानान्तरण पर तत्काल प्रतिबन्धित किया गया है।


जिले में अब तक 1087.9 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 7.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज


जिले में 01 जून से 17 अगस्त 2022 तक 1087.9 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा 592.0 मिलीमीटर थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 17 अगस्त 2022 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 1114.1 मिलीमीटर, श्यामपुर में 1121.0, आष्टा में 957.2, जावर में 820.0, इछावर में 1096.3, नसरूल्लागंज में 1028.9, बुधनी में 1158.0 और रेहटी में 1408.8 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 24 बजे तक 7.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 10.1 मिलीमीटर, श्यामपुर में 7.0, आष्टा में 12.0, जावर में 15.0, इछावर में 10.0, नसरुल्लागंज में 4.0, बुधनी में 2.0 एवं रेहटी में 2.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


डीपीटी/टीडी टीकाकरण अभियान 31 अगस्त तक


डीपीटी, टिटनेस और डिप्थीरिया की जानलेवा बीमारी से बचाने के लिये डीपीटी/टीडी टीकाकरण अभियान 31 अगस्त तक चलेगा। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तथा जिला प्रभारी मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने इस अभियान के राज्य स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश डिप्थीरिया उन्मूलन में अग्रणी राज्यों में से एक है। उन्होंने कहा कि डीपीटी और टीडी के टीके 36 लाख किशोर-किशोरियों को लगाये जायेंगे। टीका 5 से 6 वर्ष, 10 वर्ष और 16 वर्ष के बच्चों को लगाया जाना है। स्कूल और आँगनवाड़ी में नि:शुल्क टीके लगाये जायेंगे। बीमारियों से बचाव के लिये टीके पूरी तरह सुरक्षित हैं। उन्होंने जन-प्रतिनिधियों, शिक्षकों और पालकों से अभियान में शत-प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण करवाने में सहयोग करने की अपील की।


पात्रता सूची में छूटे हुए शेष 38 लाख हितग्राही को भी मिलेगी खाद्य सुरक्षा


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना की पात्रता सूची में छूटे हुए शेष 38 लाख हितग्राही के नाम भी जोड़े जाएंगे। हितग्राही को पात्रता सूची के लिए चिन्हित किया गया था। वर्तमान में 5 करोड़ 8 लाख हितग्राही को खाद्यान्न सुरक्षा का लाभ मिल रहा है। शासन की मंशा के अनुरूप शत-प्रतिशत हितग्राहियों को खाद्यान्न सुरक्षा मुहैया कराने के उद्देश्य से शेष छुटे हुए 38 लाख हितग्राही को भी पात्रता सूची में जोड़ा जाएगा। आजादी के अमृत महोत्सव पर पात्रता सूची में छूटे हुए पात्र परिवारों के हितग्राहियों को स्थानीय निकाय के माध्यम से 16 अगस्त से 15 अक्टूबर तक विभिन्न स्तर पर कार्रवाई कर विशेष अभियान चलाकर 27 प्राथमिकता परिवार की श्रेणी में शामिल करने चिन्हित किया जाएगा। इसके बाद निकाय कर्मियों द्वारा एम राशन मित्र पोर्टल पर नए हितग्राहियों के निर्धारित प्रारूप में आवेदन, आधार नंबर, मोबाईल नंबर, पात्रता श्रेणी, वर्तमान पता सहित पात्रता संबंधी दस्तावेज अपलोड किए जाएंगे। पंजीयन के बाद आवेदन https://rationmitra.nic.in/ पोर्टल पर संबंधित स्थानीय निकाय अधिकारी को अग्रेषित किया जाएगा, जो आवेदन खाद्य अधिकारी को अग्रेषित करेंगे। पात्रता पर्चियों को स्थानीय जन-प्रतिनिधियों के माध्यम से वितरित कराया जाएगा।


आयुष क्योर टेली-मेडिसिन एप - घर बैठे लाभ ले रहे हैं नागरिक


आयुष विभाग द्वारा जन-सामान्य को घर बैठे चिकित्सा सुविधा देने के मकसद से आयुष क्योर टेली-मेडिसिन एप विकसित किया गया है। एप से घर बैठे नि:शुल्क लाइव वीडियो कॉल पर आयुष चिकित्सा विशेषज्ञों से परामर्श लेने की सुविधा विकसित की गई है।योजना में आयुष की 3 विधा-आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी का लाभ प्रदान किया जा रहा है। इस एप को अब तक 50 हजार से अधिक नागरिकों द्वारा डाउनलोड किया जा चुका है। विभाग ने इस योजना को वैद्य आपके द्वार योजना का नाम दिया है। आयुष क्योर एप को राष्ट्रीय स्तर पर चिकित्सा के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि के लिये "स्कॉच अवार्ड'' भी प्रदान किया जा चुका है।


प्राकृतिक खेती के इच्छुक कृषक पोर्टल पर कर सकेंगे पंजीयन


प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए वृहद कार्यक्रम चलाये जाने का निर्णय लिया गया है। इसी क्रम में प्राकृतिक खेती करने के इच्छुक कृषकों के पंजीयन के लिए पोर्टल तैयार किया गया है। किसानों प्राकृतिक खेती के लिए ऑनलाईन पंजीयन करने के लिए प्रक्रिया अपनाने की अपील की गई है। किसान अपने मोबाईल पर विभागीय वेबसाईट http://mpkrishi.org टाईप करें। वेबसाईट के होम पेज पर नीचे दी गई लिंक पर किसान पंजीयन के लिए क्लिक करें। पंजीयन तीन स्टेप में होगा जिसमें कृषक की जानकारी, मोबाइल का वेरीफिकेशन एवं अन्य जानकारी फीड कर जानकारी भरेंगे। प्रक्रिया पूर्ण कर लेने पर कृषक का प्राकृतिक खेती के लिए पंजीयन हो जाएगा।


बिजली चोरी की सूचना देने वाले को मिलेगा ईनाम


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा बिजली चोरी की रोकथाम के लिए इनाम योजना घोषित की है। अवैध उपयोग की सूचना देने पर निर्धारित शर्तों के अधीन पारितोषिक देने का प्रावधान है। सूचना के आधार पर राशि वसूली होने पर सफल सूचनाकर्ता को 10 प्रतिशत राशि का भुगतान किया जाएगा। इस राशि की अधिकतम सीमा नहीं है। बिजली के अवैध उपयोग/चोरी के संबंध में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कंपनी मुख्यालय एवं क्षेत्रीय मुख्यालयों के अलावा क्षेत्रीय महाप्रबंधकों को भी लिखित अथवा दूरभाष पर सूचना दी जा सकती है। सूचनाकर्ता की जानकारी गोपनीय रखने की जिम्मेदारी संबंधित अधिकारी की रहेगी। कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी को सूचनाकर्ता नहीं माना जाएगा। सूचनाकर्ता को प्रोत्साहन राशि का भुगतान कंपनी मुख्यालय से किया जाएगा। प्रोत्साहन राशि सीधे सूचनाकर्ता के बैंक खाते में जमा की जाएगी। प्रकरण बनाने एवं राशि वसूली करने वाले विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी ढाई प्रतिशत राशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी। कंपनी मुख्यालय में इस योजना के क्रियान्वयन के लिए विजिलेंस सेल गठित किया गया है। इस विजिलेंस सेल को भी सूचना भेजी जा सकती है।


पात्र हितग्राहियों को खाद्य सुरक्षा प्रदान करने 16 से 30 अगस्त तक चलाया जा रहा विशेष अभियान, पात्र परिवारों को खाद्य सुरक्षा का लाभ देने के कलेक्टर ने दिए निर्देश


आजादी के अमृत महोत्सव अंतर्गत जिन पात्र परिवारों को खाद्य सुरक्षा का लाभ प्राप्त नही हो पा रहा है, ऐसे पात्र परिवारों के सदस्यो को खाद्य सुरक्षा का लाभ प्रदान करने एवं प्राथमिकता परिवार श्रेणी से जोड़ने के लिए 16 से 30 अगस्त तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के सभी जनपद सीईओ, सीएमओ एवं कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे अपने क्षेत्र अंतर्गत पात्र परिवारों को विशेष अभियान के तहत प्राथमिकता परिवार श्रेणी से जोड़ा जाना सुनिश्चित करें। एनएफएसए के माध्यम से शेष रहे पात्र परिवारों को शामिल करने के लिए खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के प्रमुख सचिव श्री फैज अहमद किदवई ने आदेश जारी किए है। जारी आदेशानुसार राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम अंतर्गत मध्यप्रदेश में कुल 5.46 करोड़ लोगों को पात्रता की सीमा रखी गई थी, जिसमें से वर्तमान में 5.08 करोड़ हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा रहा है। इस प्रकार राज्य में वर्तमान में 38 लाख नवीन हितग्राहियों को और जोड़कर लाभान्वित किया जा सकता है। इसलिए आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत जिन पात्र परिवारों को खाद्य सुरक्षा का लाभ प्राप्त नहीं हो रहा है, ऐसे छूटे हुए पात्र परिवारों के सदस्यों को स्थानीय निकायों के अमले के माध्यम से विशेष अभियान चलाकर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 अंतर्गत अधिसूचित 27 प्राथमिकता परिवार श्रेणी में लाभान्वित करने के लिए निर्धारित प्रक्रिया अनुसार शामिल किया जाए। इसके लिए ग्राम पंचायत एवं वार्ड कार्यालय द्वारा प्राथमिकता परिवार के सदस्यों से सम्पर्क कर उन्हें चिन्हित किया जाए। साथ ही स्थानीय निकाय के अमले द्वारा एम राशनमित्र पोर्टल पर नवीन पात्रता पर्ची जारी करने, सदस्यों को जोडऩे के लिए निर्धारित आवेदन में पोर्टल पर आधार नंबर मोबाइल नंबर, पात्रता श्रेणी, वर्तमान पते तथा पात्रता श्रेणी संबंधी दस्तावेज अपलोड किए जाएं। पंजीकृत लाभार्थी का आवेदन पोर्टल पर दर्ज कर सक्षम अधिकारी को अग्रेषित कर स्थानीय निकाय के अधिकारी द्वारा आवेदन का परीक्षण कर अनुशंसा के बाद खाद्य विभाग को अग्रेषित किया जाना। पोर्टल पर स्थानीय निकाय द्वारा अनुशंसित पंजीकृत लाभार्थियों की एएसओ, आईएसओ द्वारा स्वीकृति तथा उचित मूल्य दुकान से मैपिंग। एनआईसी भोपाल द्वारा जिले से प्राप्त डेटा को एनआईसी हैदराबाद के साथ शेयर कर पात्रता पर्ची जारी करना, पात्र परिवारों को जारी पात्रता पर्चियों को स्थानीय निकाय के माध्यम से जन प्रतिनिधियों की उपस्थिति में वितरण कराया जाना। इस कार्य की समय सीमा निर्धारित की गई है, जिसके तहत 16 अगस्त से प्रक्रिया शुरू कर राशन वितरण करवाने तक की जिम्मेदारी संबंधित विभागों को सौंपी गई है। ताकि जरूरतमंद पात्र छूटे हुए परिवारों को लाभ मिल जाए।


सद्भावना दिवस की प्रतिज्ञा सभी शासकीय कार्यालयों में 18 अगस्त को दिलाई जाएगी


सद्भावना दिवस 20 अगस्त को मनाया जाता है। इस वर्ष 19 एवं 20 अगस्त को अवकाश होने के कारण सद्भावना दिवस की प्रतिज्ञा 18 अगस्त 2022 को दिलाई जाएगी। जिले के सभी शासकीय कार्यालयों में इस दिन प्रातः 11 बजे अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जाति,  सम्प्रदाय,  क्षेत्र,  धर्म अथवा भाषा का भेदभाव किए बिना सभी भारतवासियों की भावनात्मक एकता और सद्भावना तथा हिंसा का सहारा लिए बिना सभी प्रकार के मतभेद बातचीत और संवैधानिक माध्यम से सुलझाने की प्रतिज्ञा दिलाई जाएगी।


जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने किया वैक्सीनेशन कार्यक्रम आयोजित


sehore-news
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर द्वारा कोरोना वायरस के बचाव के लिए एडीआर सेंटर में वैक्सीनेशन कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधान जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री आरएन चंद द्वारा मॉ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। कार्यक्रम में 238 लोगो को प्रिकॉशन डोज लगाए गए। वैक्सीनेशन कार्यक्रम में जिला न्यायालय के सभी अधिकारी-कर्मचारियों, अधिवक्ताओं ने वैक्सीनेशन कराया। कार्यक्रम में विशेष न्यायाधीश श्री सुरेश सिंह, कुटुम्ब न्यायालय सुश्री सुमन श्रीवास्तव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मुकेश कुमार दांगी सहित समस्त जिला न्यायालय व जिला प्राधिकरण के अधिकारी कर्मचारी, अधिवक्ता एवं पैरालीगल वालेन्टियर्स उपस्थित थे।


धरणीधर के जन्मोत्सव पर निकाली भव्य वाहन रैली, गूंजे जयकारे


sehore-news
सीहोर। अखिल भारतीय धाकड़ युवा संघ सीहोर के तत्वाधान में बुधवार को प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी धाकड़ समाज द्वारा अपने आराध्य भगवान धरणीधर बलराम की जयंती परंपरा और उत्साह के साथ मनाई गई। धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रम आयोजन के साथ शहर में भगवान धरणीधर बलराम को पालकी में बैठाकर शोभायात्रा निकाली गई। इस मौके पर युवाओं ने हलधर को भी वाहन रैली में निकाला। बुधवार को शहर के भोपाल नाके पर अखिल भारतीय धाकड़ युवा संघ सीहोर के तत्वाधान भव्य वाहन रैली की शुरूआत की गई। इस मौके पर वाहन रैली में मुख्य अतिथि के रूप में जिला पंचायत सदस्य डीपी धाकड़, भोपाल के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मनमोहन नागर, प्रदेश उपाध्यक्ष राजेन्द्र नागर और जिलाध्यक्ष गब्बर पटेल सहित बड़ी संख्या में शामिल थे। दोपहर बारह बजे वाहनों के साथ धाकड़ समाज के युवाओं के साथ बड़ी संख्या में क्षेत्रवासियों ने आस्था और उत्साह के साथ जयकारें के साथ धरणीधर के जन्मोत्सव मनाया। वाहन रैली का शहर के अनेक चौराहे-तिराहे पर भव्य स्वागत भी किया गया। वाहन रैली शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए शहर के इंदौर नाके स्थित पटेल निवास पर पहुंची जहां पर सभी समाजजनों ने सामूहिक रूप से भगवान की आरती कर महा प्रसादी का वितरण किया।


समाज की एकता और संगठित तथा समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने का मंत्र भी दिया

पूजा कार्यक्रम में वरिष्ठजनों सहित युवाओं ने भी उत्साह से हिस्सा लिया। इस अवसर पर समाज के गणमान्य लोगों ने अपने संबोधन में समाज की एकता और संगठित तथा समाज में फैली कुरीतियों को दूर करने का मंत्र भी दिया। भविष्य में धरणीधर जयंती को कैसे मनाएं के बारे में भी विचार व्यक्त किए गए। समापन अवसर पर प्रसादी वितरण हुआ। कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि श्री धाकड़ ने कहा कि हमारा समाज पूरी तरह एकजुट है, पिछले दो सालों से कोरोना महामारी के कारण कोई बड़ा आयोजन नहीं हो पाया था, लेकिन अब शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बैठकों का आयोजन कर उन्होंने समाज को फिर से संगठित करने पर जोर दिया।


श्रावण मास पारायण का आयोजन, सत्कर्म की ओर अग्रसर रहना चाहिए-पूज्य त्यागवत्सल स्वामी


sehore-news
सीहोर। शहर के रेलवे स्टेशन के समीप श्री स्वामी नारायण मंदिर में जारी श्रावण मास पारायण के अवसर पर जारी पूज्य स्वामी महाराज के जीवन पर आधारित संत परम हितकारी विषय पर जारी सत्संग में संस्था के विद्वान वक्ता पूज्य त्यागवत्सल स्वामी ने कहा कि हमें सदैव भगवान की भक्ति और संतों की सत्संग का लाभ लेते रहना चाहिए। उन्होंने सत्संग के माध्यम से बताया कि श्रावण मास में मनुष्य के लिए श्रवण करने का श्रेष्ठ महीना माना गया है। इस दौरान प्राणी मात्र को ईश्वर से जुड़ा हुआ रहना चाहिए। सत्कर्म की ओर अग्रसर रहना चाहिए। बाहरी चकाचौंध और मोह माया से बचकर कुछ समय ही सुख पहुंचा सकता है लेकिन घट में प्रभु स्मरण करते रहना चाहिए। प्रभु के स्मरण से व्यक्ति को जीवन भर तक सुख की प्राप्ति करता है। बुधवार को आयोजित धार्मिक कार्यक्रम में स्वामी जी ने कहा कि प्राचीन भारत से लेकर आधुनिक युग तक कई विशिष्ट ऋषि मुनियों एवं महापुरुषों को ब्रह्म सत्य की प्राप्ति हुई है। इनमें नानक, रैदास, मीरा, कबीर, सूरदास, भगवान महावीर, गौतम बुद्ध आदि ने ब्रह्म सत्य को जाना है। हमें भी प्रभु की कृपा से इस सत्य को जानने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से चंद्रमा शीतलता प्रदान करता है, उसी प्रकार से भागवत कथा और श्रीरामकथा हमें जीवन जीने की सही राह दिखाती है। भगवान श्रीराम का स्मरण स्वयं भगवान महादेव करते हैं। उस सत्य रूपी राम को हमें पाने की कोशिश करनी चाहिए। श्रीराम कथा हमारे मन में व्याप्त संदेह एवं संशय को दूर करती है। श्रीराम के दर्शन सुलभ हो सकते हैं, लेकिन उनके चरित्र को आत्मसात करना कठिन है। श्रीराम कथा वह करतल ध्वनि की तरह है जिसके बजते ही मन मस्तिष्क में व्याप्त संदेह सदा के लिए दूर हो जाते हैं। हमारा विषय सदैव भगवान का चिंतन होना चाहिए। इसके अलावा जहां भी सत्संग, प्रवचन, भागवत कथा, श्रीराम कथा और शिव महापुराण कथा आदि होती हो उसका श्रवण करना चाहिए। इस दौरान पूज्य निर्गुण स्वामी, सीहोर मंदिर के कोठारी पूज्य मंगल मुनि स्वामी, पूज्य श्री तिलक स्वामी, सीहोर सत्संग मंडल के संचालक रमेश काका और डॉ. अशोक पिचोनिया, दक्षय पटेल आदि शामिल थे। 


पृथ्वी को बचाने के लिए अधिक से अधिक पेड़ लगाना होगा - कलेक्टर श्री ठाकुर

  • पर्यावरण संरक्षण हम सब की सामूहिक जिम्मेदारी- कलेक्टर श्री ठाकुर
  • जवाहर नवोदय विद्यालय श्यामपुर में गायत्री परिवार 1111 पौधों का रोपण किया गया

sehore-news
आने वाली पीढ़ी को स्वस्थ पर्यावरण देने तथा धरती को बचाने के लिए पूरे समाज को मिलकर अधिक से अधिक पेड़ लगाना होगा। यह बात कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने नवोदय विद्यालय श्यामपुर में जन अभियान एवं गायत्री परिवार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कहीं। इस कार्यक्रम में विभिन्न प्रजातियों के 1111 पौधों का रोपण किया गया। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में पर्यावरण संरक्षण के लिए अंकुर अभियान चलाया जा रहा है। यह अभियान तभी सफल होगा जब हर व्यक्ति पूरी जिम्मेदारी के साथ पौधारोपण करेगा। उन्होंने कहा कि जन्मदिन, वर्षगांठ जैसी विशेष तिथियों और विशेष अवसर पर एक पौधा अवश्य लगाना जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पेड़ हमारे जीवन का अभिन्न अंग हैं और इनकी रक्षा करना हमारा दायित्व है। जब तक पृथ्वी पर पेड़ों का अस्तित्व है तब तक ही मनुष्य का अस्तित्व है। सभी लोग अधिक से अधिक पौधे लगाकर तथा राष्ट्र निर्माण में सहयोगी बने। इस दौरान कलेक्टर श्री ठाकुर ने छात्र-छात्राओं से चर्चा कर उन्हें कैरियर निर्माण के टिप्स भी दिए। कार्यक्रम में सभी को वायुदूत ऐप डाउनलोड कर एप पर पौधे को डालने के लिए प्रेरित किया गया। कार्यक्रम में गायत्री सेवा धाम समिति से पंडित श्री मेवालाल पाटीदार, नवोदय विद्यालय के प्राचार्य श्री एस बघेल, जन अभियान परिषद की जिला समन्वयक श्रीमती पारुल उपाध्याय सहित ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति के लोग उपस्थित थे।



कोई टिप्पणी नहीं: