पत्रकारों ने तिरंगा यात्रा निकाल पीएम के नाम सौंपा ज्ञापन, मीडिया आयोग गठन की मांग - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 17 अगस्त 2022

पत्रकारों ने तिरंगा यात्रा निकाल पीएम के नाम सौंपा ज्ञापन, मीडिया आयोग गठन की मांग

  • - पत्रकारों ने तिरंगा यात्रा रैली निकालकर दिखाई एकजुटता
  • - उपजिलाधिकारी के माध्यम से 12 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन प्रधानमंत्री को भेजा गया
  • - देश में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू हो व मीडिया आयोग का गठन नितांत आवश्यक: शीबू खान

journalists-rally
फतेहपुर। खागा कस्बे में पत्रकारों ने तिरंगा यात्रा निकालकर देशभक्ति में अपने आप को आगे रखते हुए बाईक रैली में दमखम दिखाते हुए देश के प्रधानमंत्री के नाम उपजिलाधिकारी के माध्यम से 12 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा है। बताते चलें कि संयुक्त पत्रकार मोर्चा जिसमें विभिन्न संगठनों के पत्रकारों ने शिरकत करते हुए एक तिरंगा बाइक रैली निकाली जोकि मानू का पुरवा स्थित वरिष्ठ पत्रकार संजय पटेल के दरवाजे से शुरू हुई। इस तिरंगा यात्रा को तहसीलदार खागा इवेन्द्र कुमार व नायब तहसीलदार सिद्धांत कुमार ने तिरंगा दिखाकर शुरू किया जोकि सर्वप्रथम नगर पंचायत में नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि राम गोपाल सिंह द्वारा यात्रा का स्वागत किया गया एवं बापू महात्मा गांधी की मूर्ति पर माल्यार्पण किया गया। इस दौरान समूचे रास्ते में भारत माता की जय, इंकलाब जिंदाबाद, वंदे मातरम, भारत के अमर सपूत अमर रहें, कलम की हत्या बन्द करो, पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करो, पत्रकार एकता जिंदाबाद, सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा के नारे गुंजायमान होते रहें। इसी दौरान यात्रा सोनारी गली होते हुए अमर शहीद ठाकुर दरियाव सिंह स्मारक स्थल पहुंची जहां स्मारक समिति के मंत्री ने यात्रा का स्वागत किया जिसके बाद सभी पत्रकारों व अन्य उपस्थित लोगों ने अमर शहीद के स्थल पर सभी बलिदानियों की प्रतिमाओं को माल्यार्पण करते हुए सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की जिसके बाद स्मारक समिति के मंत्री ने अमर शहीद ठाकुर दरियाव सिंह व उनके अन्य बलिदानी साथियों का व्याख्यान करते हुए लोगों में जोश भरने का काम किया। इसके बाद राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मीडिया फायर ब्रांड लीडर शीबू खान ने अपना भाषण दिया जिसमें उन्होंने बलिदानी अमर शहीदों के प्रति श्रद्धा के सुमन अर्पित करते हुए पत्रकारों को देश हित व समाज हित में असल पत्रकारिता करते हुए स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से खबर लिखने व चलाने की अपील की गई, साथ ही पत्रकार पुरोधा अमर शहीद गणेश शंकर विद्यार्थी को अपना आदर्श मानते हुए पत्रकारिता करने की बात कही गयी। इसके बाद तिरंगा यात्रा अपने निर्धारित रास्ते पर चलते हुए रानी चन्द्रप्रभा महाविद्यालय के पास से होते हुए चौक व किशनपुर रोड होते हुए तहसील प्रांगण पहुंची जहां प्रधानमंत्री के नाम एक 12 सूत्रीय ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा गया जिसमें पत्रकार व पत्रकारिता के हित में मांग की गई जिसे शीबू खान ने पढ़कर सौंपा। इसके उपरांत तिरंगा यात्रा अन्य रास्ते पर चलते हुए पूर्वी बाईपास स्थित एक प्रतिष्ठान पर समाप्त की गई।


आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया है पत्रकारों ने: संजय पटेल

प्रेस को संबोधित करते हुए प्रेस कोर काउंसिल के राष्ट्रीय महासचिव एवं तिरंगा यात्रा के संयोजक संजय पटेल ने कहा कि आज समूचा देश एवं प्रत्येक प्रतिष्ठान आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है ऐसे में पत्रकार व पत्रकार संगठनों द्वारा भी खागा में पत्रकार व असंगठित क्षेत्र के लोगों ने सामुहिक रूप से तिरंगा यात्रा निकालकर देश को संदेश दिया कि हम सभी एक हैं।


मीडिया को संवैधानिक रूप से चौथा स्तंभ का दर्जा न दिया जाना दुर्भाग्यपूर्ण: शीबू खान

प्रेस को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मीडिया के फायर ब्रांड लीडर शीबू खान ने अमृत महोत्सव पर तंज कसा, उन्होंने कहा कि महोत्सव का अर्थ होता है खुशी लेकिन चहुं ओर लोग निराश मिल रहे हैं क्यूंकि बहुत सा वर्ग आज भी शासन - प्रशासन की कुछ गलत नीतियों से ठगा व उपेक्षित महसूस कर रहा है। श्री खान ने सबसे पहले कहा कि हर स्टेज से मीडिया को चौथा स्तंभ की संज्ञा दिया जाता है लेकिन आज तक संवैधानिक व्यवस्था में भारत के राजपत्र (गजट) के माध्यम से चौथे स्तंभ का दर्जा नहीं दिया गया जो बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है। साथ ही अवगत कराया कि आज एक ज्ञापन के माध्यम से मीडिया को संवैधानिक रूप से चौथा स्तंभ घोषित किया जाए, मीडिया आयोग गठित हो, पत्रकार सुरक्षा कानून लागू हो, तहसील स्तर तक के पत्रकारों का पत्रकार रजिस्टर बने, प्रत्येक पत्रकार को आयुष्मान कार्ड दिया जाए, पीएम आवास योजना के तहत पत्रकारों को आवास मुहैया कराया जाए, सरकारी योजनाओं से पत्रकारों को प्राथमिकता से जोड़ा जाए, पत्रकार सम्मान निधि लागू की जाए, पत्रकारों को मानदेय व पेंशन उपलब्ध कराई जाए, तहसील स्तर तक पत्रकार भवन व लायब्रेरी बनवाई जाएं एवं प्रशासन द्वारा पत्रकारों को सम्मान दिलाया जाए आदि प्रमुख मांगों का पत्र प्रधानमंत्री के नाम उपजिलाधिकारी के माध्यम से भेजा गया जिसे तहसीलदार ने प्रेषित किये जाने व स्थानीय स्तर पर कुछ व्यवस्थाएं लागू किये जाने की बात कही।

कोई टिप्पणी नहीं: