विभाजन त्रासदी में जान गंवाने वालों को दी श्रद्धांजलि - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 14 अगस्त 2022

विभाजन त्रासदी में जान गंवाने वालों को दी श्रद्धांजलि

pay-tribute-to-those-who-lost-lives-in-partition
नयी दिल्ली 14 अगस्त,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भारतीय जनता पार्टी के अन्य नेताओं ने रविवार को 1947 में भारत के विभाजन में अपनी जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि दी। श्री मोदी ने एक ट्वीट में उन सभी लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिन्होंने विभाजन के दौरान अपनी जान गंवाई। साथ ही इसे विभाजन भयावह स्मरण दिवस को चिह्नित किया। श्री मोदी ने कहा,“आज, विभाजन भयावह स्मरण दिवस पर, मैं उन सभी लोगों को श्रद्धांजलि देता हूं, जिन्होंने विभाजन के दौरान अपनी जान गंवाई । ” श्री शाह ने कहा, “वर्ष 1947 में देश का विभाजन भारतीय इतिहास का वह अमानवीय अध्याय है जिसे कभी नहीं भुलाया जा सकता है। विभाजन की हिंसा और नफरत ने लाखों लोगों की जान ले ली और असंख्य लोगों को विस्थापित किया। आज, ‘विभाजन भयावह स्मरण दिवस’ पर, मैं उन लाखों लोगों को नमन करता हूं, जिन्हें विभाजन का खामियाजा भुगतना पड़ा।” रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी देश के विभाजन के दौरान जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा,“बंटवारे के दर्द को न भूल पाने के बावजूद एक नयी शुरुआत करने वालों को सलाम। यह देश बंटवारे की भयावहता को कभी नहीं भूलेगा।” गौरतलब है कि श्री मोदी ने 14 अगस्त, 2021 को घोषणा की कि 1947 में विभाजन के दौरान भारतीयों के कष्टों और बलिदानों की राष्ट्र को याद दिलाने के लिए 14 अगस्त को सालाना ‘विभजन विभिषिका स्मृति दिवस’ या ‘विभाजन भयावह स्मरण दिवस’ के रूप में याद किया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं: