बिहार : दिल्ली रवाना हुए BJP के सभी बड़े नेता - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 9 अगस्त 2022

बिहार : दिल्ली रवाना हुए BJP के सभी बड़े नेता

all-the-bihar-big-leaders-of-bjp-left-for-delhi
पटना : बिहार में पिछले दो दिनों से सियासी गलियारों में काफी उथल -पुथल मचा हुआ है। जहां बिहार की सबसे बड़ी पार्टी राजद, और तीसरे नंबर की पार्टी जदयू के साथ ही साथ कांग्रेस और जीतन राम मांझी की पार्टी ने अपने विधायकों को पटना बुला लिया है। जिसके बाद बिहार में बदलते सियासी समीकरणों के बीच राजनीतिक जानकारों का कहना है कि बिहार में आगामी 15 अगस्त के पहले नई सियासी तस्वीर निकल कर सामने आ सकती है। वहीं, इस बीच अब भाजपा ने भी अपने सभी बड़ें नेता को दिल्ली तलब किया है। जिसके बाद यह कहा जा रहा है कि बिहार में इन दिनों राजनीती में जो कुछ हो रहा है, उस पर कोई बड़ी रणनिति बनाने के लिए सभी बड़े नेताओं को भाजपा ने दिल्ली तलब किया है। भाजपा के तरफ से बिहार सरकार में मंत्री नितिन नवीन, शहनवाज हुसैन के साथ ही साथ केंद्रीय राज्य मंत्री नित्यानंद राय, केंद्र सरकार के पूर्व मंत्री रविशंकर प्रसाद और वर्तमान में राज्यसभा मेंबर सतीश चंद्र दुबे को दिल्ली बुलाया गया है। ये सभी नेता दिल्ली के लिए रवाना हो गए है। कहा जा रहा है कि इन सभी नेताओं के साथ बैठकर आगे की रणनिति तैयार की जाएगी। वहीं, इन सबके बीच भाजपा के कद्द्वार नेता व केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि बिहार में एनडीए काफी मजबूत है। अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। उन्होंने कहा कि संगठन के लिए बैठकें होती रहती है। यह कोई बड़ी बात नहीं है। वहीं बिहार के कृषि मंत्री अमरेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि बिहार में एनडीए एकजुट है। एनडीए में कहीं कोई बात नहीं है। वहीँ, इसके साथ ही साथ राष्ट्रीय जनता दल के सूत्रों ने बड़ा दावा किया है कि तस्वीर बदलने की सूरत में अगर नया गठबंधन बनता है तो नीतीश कुमार के साथ 150 से ज्यादा विधायकों का समर्थन हो सकता है। बहरहाल , अब देखना यह है कि भाजपा के दिल्ली में चल रही बैठक के बाद बिहार में साथ चल रही सरकार को लेकर कोई बड़ा निर्णय होता है या नहीं या फिर वतर्मान में जिस तरह से सरकार चल रही है, उसी तरह से आगामी विधानसभा चुनाव तक यह चलती रहेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: