बिहार : नीतीश कुमार को हमने नहीं किया आमंत्रित : जगदानंद - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 9 अगस्त 2022

बिहार : नीतीश कुमार को हमने नहीं किया आमंत्रित : जगदानंद

we-did-not-invite-nitish-kumar-jagdanand
पटना : केंद्र सरकार में जदयू कोटे से मंत्री और पूर्व अध्यक्ष आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद सियासी सरगर्मी बढ़ गई है। पिछले 48 घंटों से बिहार में पाला बदलने की चर्चा तेज है। इसी कड़ी में बिहार के चार महत्वपूर्ण दलों की बैठकें भी आयोजित होने वाली है। राजद, जदयू, कांग्रेस और हम की बैठक कल होगी। इसी बीच राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह का सबसे बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि हम हर युद्ध के लिए तैयार है। हालांकि, उन्होंने किसी तरह के गठबंधन की बात से इनकार किया है। राजद के बिहार प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद ने कहा कि नीतीश कुमार को हमने आमंत्रित नहीं किया है। गठबंधन की कोई बात नहीं हुई है। हमने किसी को प्रस्ताव नहीं भेजा है। उन्होंने कहा कि हमारा किसी तरह के गठबंधन की बात नीतीश कुमार से नहीं हुई है न ही हमनें नीतीश कुमार को आमंत्रित किया है। हमने किसी को प्रस्ताव नहीं भेजा है। जगदानंद ने कहा कि राजद ने 2024-25 चुनाव की तैयारियों के लिए कल की बैठक बुलाई है। जगदानंद सिंह ने कह दिया कि हर युद्ध के लिए हम तैयार हैं। जबकि जेडीयू के तरफ से बुलाई गयी बैठक को लेकर उनके नेताओं का कहना है कि आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद पार्टी के विधायकों से फीडबैक लेने के लिए जेडीयू विधायक दल की बैठक बुलाई गयी है। इसी को लेकर पटना में जेडीयू की अहम बैठक होगी। जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि आरसीपी प्रकरण को लेकर यह बैठक बुलाई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधायक दल की बैठक बुलाई है जिसमें आरसीपी के जाने के बाद की परिस्थितियों पर चर्चा होगी। इधर, जबकि हम पार्टी के संरक्षण जीतन राम मांझी ने यह क्लीयर कर दिया कि वे नीतीश कुमार के साथ हैं। हालांकि कि एनडीए में टूट की संभावना से जीतन राम मांझी ने भी इनकार किया है। हालांकि बिहार में जो ताजा राजनीतिक हालात हैं उसको देखते हुए यह बात कही से भी उचित नहीं लग रही है कि आरसीपी प्रकरण को लेकर बुलाई गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: