झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 01 अगस्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 1 अगस्त 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 01 अगस्त

अमरनाथ में प्राकृतिक आपदा और तेज बारिश के बीच भी झाबुआ के तीन चिकित्सकों ने हजारों यात्रियों का किया  स्वास्थ्य परीक्षण -ः वरिष्ठ अधिवक्ता राजेन्द्रप्रसाद अग्निहोत्री

  • हसनैन खिदमते खल्फ कमेटी ने जिला चिकित्सालय परिसर में किया सम्मान समारोह, तीन चिकित्सक डॉ. अंकित  अलावा, डॉ. राजेश गणावा एवं डॉ. फैजल पटेल का किया गया अभिनंदन

jhabua-news
झाबुआ। हसनैन खिदमते खल्फ कमेटी झाबुआ द्वारा 1 अगस्त, सोमवार को दोपहर 11.30 बजे से जिला चिकित्सलय परिसर में सम्मान समारोह का आयोजन का किया गया। जिसमें अमरनाथ में श्रावण मास में हजारो की संख्या में यात्रा करने वाले यात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर सकुशल झाबुआ लौटने पर जिला चिकित्सालय के तीन चिकित्सक डॉ. अंकित अलावा, डॉ. राजेश गणावा एवं डॉ. फैजल पटेल का आत्मीय अभिनंदन किया गया एवं उनकी इस निःस्वार्थ सेवाओं की सराहना की गई।   सम्मान समारोह का संचालन करते हुए कमेटी के वरिष्ठ सदस्य एवं पार्षद साबिर फिटवेल ने बताया कि उक्त समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में वरिष्ठ अधिवक्ता एवं सार्वजनिक गणेश मंडल के संरक्षक राजेन्द्रप्रसाद अग्निहोत्री तथा वरिष्ठ समाजसेवी एवं सीए संजय व्यास उपस्थित थे। प्रारंभ में स्वागत उद्बोधन कमेटी के सदर अब्दुल रहमान शेख ने दिया। संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि वरिष्ठ अधिवक्ता श्री अग्निहोत्री ने बताया कि प्रतिवर्ष अमरनाथ में श्रावण मास के दौरान लाखों की संख्या में देशभर से आने वाले शिव भक्तों के बालटाल में स्वास्थ्य परीक्षण के लिए भारत के अलग-अलग स्थानों से चिकित्सकों की ड्यूटी लगती है। जिसमें इस वर्ष झाबुआ जिले से तीन चिकित्सक डॉ. अंकित अलावा, डॉ. राजेश गणावा एवं डॉ. फैजल पटेल ने अमरनाथ से पहले बालटाल में दिन-रात यहां यात्रियों के स्वास्थ्य परीक्षण का कार्य निःस्वार्थ भाव से किया, उनका यह कार्य काफी अनुकरणीय है। सीए संजय व्यास ने बताया कि पिछले दिनों अमरनाथ में प्राकृतिक आपदा भी आई थी एवं तेज बारिश के कारण कई लोगों की यहां जान गई थी, लेकिन इस बीच भी उक्त तीन चिकित्सक बालटाल में यात्रियों के स्वास्थ्य परीक्षण कार्य में सत्त लगे रहे, जो काफी प्रसंशनीय है।


शाल-श्रीफल एवं अभिनदंन पत्र देकर किया इस्तकबाल

जिसके चलते तीनों चिकित्सकों का अतिथियों के साथ कमेटी के समस्त पदाधिकारी एवं सदस्यों में कोषाध्यक्ष युसूफ बागवान, शाबिर भाई, रशीद भाई, वरिष्ठ हनीफ लोधी, खलील अहमद शेख, यूनूस लोधी, सादिक यादगार, इस्माईल खान, इमरान जमजम, अब्दुल रहमान शेख अब्दुल रहीम अब्बू दादा, अब्दुल वाहिद शेख मो. बिलाल, अशरफ कला, फरीद दिवानी, शाहरूख सिसगर, शाहरूख बागवान, सद्दाम अनवर, अलीभाई आदि ने शाल-श्रीफल भेंटकर एवं अभिनंदन-पत्र देकर भावभरा इस्तकबाल किया। इससे पूर्व उर्स कमेटी के सदर सईदु बाबा एवं पार्षद रशीद कुरैशी ने भी तीनों चिकित्सको पुष्पमाला पहनाकर उनके कार्य की सराहना की। इस दौरान चिकित्सक डॉ. अलावा, डॉ. गणावा एवं डॉ. पटेल ने अमरनाथ में सर्द मौसम के बीच भी ड्यटी के दौरान रहे अनुभवांे को सभी के समझ साझा किया गया। अंत में सभी के प्रति आभार कमेटी सचिव मो. ईसा शेख ने माना।


शिव-पार्वती और राधा-कृष्ण के साथ मातृ शक्तियों ने जमकर किया नृत्य, झाबुआ के पैलेस गार्डन पर सकल हिन्दू समाज की मातृ शक्तियों का हुआ महा-समागम

  • सैकड़ों महिलाओ ने एक जैसे लाल वस्त्रों में की सहभागिता, सावन के झूलों का आनंद के साथ भजनों के बीच लक्की ड्रा से चुने गए भाग्यशाली महिलाओं के नाम
  • हरियाली तीज पर सामाजिक महासंघ महिला इकाई ने किया अनूठा आयोजन

jhabua-news
झाबुआ। हरियाली तीज पर 31 जुलाई, रविवार को शहर के पैलेस गार्डन पर सामाजिक महासंघ महिला इकाई द्वारा प्राचीनतम समय की अनूठी परंपराओं और संस्कृति को जीवित रखने के लिए भव्य स्तर पर कार्यक्रम रखा गया।  जिसमें सकल हिन्दू समाज की सैकड़ों मातृ शक्तियों ने सहभागिता कर जहां एकजुटता का परिचय दिया। वहीं सावन के झूलों पर झूलकर और शिव-पार्वती के साथ झूमकर तथा राधा-कृष्ण संग रास रचाकर वृंदावन और मथुरा की याद को ताजा किया। महिलाओं ने समधुर संगीतमय धार्मिक भजनों और गीतों का भी भरपूर आनंद लिया। अंत में सभी के लिए लक्की ड्रा भी रखा गया। जिसमें विजेताओं को नगद पुरस्कार एवं उपहार भी प्रदान किए गए। समापन पर सभी महिलाआंे ने स्वादिष्ट फरियाली खिचड़ी की प्रसाद ग्रहण की। जानकारी देते हुए सामाजिक महासंघ महिला इकाई की जिला प्रभारी श्रीमती शीतल जादौन ने बताया कि झाबुआ शहर में इस तरह का यह प्रथम आयोजन था। जब एक छत के नीचे सकल हिन्दू समाज, जिसमें राजूपत समाज, ब्राम्हण समाज, सोनी समाज, रजक समाज, सकल जैन समाज, दशा नीमा समाज, सिंधी समाज सहित सभी समाज की मातृ शक्तियों ने एक जैसे ड्रेस कोड लाल साड़ी में संज-संवरकर सहभागिता की। उक्त अनूठा कार्यक्रम दोपहर 2 बजे से आरंभ हुआ, लेकिन दोपहर 1 बजे से ही शहरभर से महिलाओं का आयोजन स्थल पर आना आरंभ हो गया था। प्रवेश द्वार पर ब्लूनस से सुंदर सज्जा की गई। अंदर प्रवेश करने पर सभी को केसरिया तिलक बालिका सृष्टि जादौन एवं कृष्णा नागर ने लगाया। बाद सभी पर पुष्प वर्षा आयोजन की मुख्य सहयोगी रीतू सोड़ानी,  चंचला सोनी एवं दीपा सोनी ने की। सभी मातृशक्तियों का स्टॉल लगाकर पंजीयन वरिष्ठ श्रीमती कुंता सोनी ने किया। आयोजन स्थल पर समस्त व्यवस्था वरिष्ठ श्रीमती सुशीला भट्ट, पमिता सोनी, रेखासिंह राठौर, भारती सोनी, ज्योति सोनी, चेतना चौहान, स्मृति भट्ट, अनिता जाखड़, सहित सभी समाजों की प्रमुख महिलाआंे ने संभाली। 


मातृशक्तियो का अद्भुत समागम हुआ

आयोजन स्थल पर सावन मास के चलते पुराने समय में लोग जिस तरह जंगलों और सूने स्थानों पर पेड़ो और वृक्षों पर रस्सी बांधकर झूला झूलते थे, उसी तरह के झूलों को रस्सी से बांधकर एवं उस पर ब्लूनस से सजाकर तैयार किया गया। इस तरह के 3 झूले लगाए गए। जिस पर मातृ शक्तियों ने झूलते हुए अपने पुरानी पंरपराओं की यादों को ताजा किया। साथ ही झूले पर बैठकर एक-दूसरे के फोटो और सेल्फी लेकर उसे सोशल मीडिया पर भी जमकर शेयर किया।


गणेश महिला मंडल ने भजनों से बांधा समां

इसी बीच गणेश महिला मंडल मेघगनर से एक जैसे ड्रेस कोड़ लाल वस्त्रों में सज-संवरकर आई समस्त महिलाओं ने संगीतमय एवं समुधर श्रावण और हरियाली तीज के भजन प्रस्तुत किए। जिस पर महिलाएं अपने आपको नृत्य करने एवं गरबा खेलने से भी नहंी रोक पाई। कार्यक्रम के मध्य में आयोजन स्थल पर शिव-पार्वती बनकर अदिका सोनी एवं प्रियांशी राठौर तथा राधा-कृष्ण बनकर वर्षा सोनी एवं कृष्णा सोनी पहंुची, जिनकी प्रवेश द्वार पर सामाजिक महासंघ महिला इकाई की पदाधिकारियांे ने आगवानी कर पुष्पमालाओं से स्वागत कर अंदर प्रवेश करवाया। उनके अंदर प्रवेश करते ही माहौल और भक्तिमय तथा धर्ममय हो गया। उनके साथ महिलाओ ने जहां सावन के झूलों का लुत्फ उठाया तो समधुर भजनों पर नृत्य करते हुए जमकर खुशियां मनाई। इस दौरान श्री संकट मोचन हनुमान मंदिर सेवा समिति से जुड़ी महिलाएं भी अलग डेªस कोड में कार्यक्रम का आनंदन लेती नजर आई।


लक्की ड्रा खोलकर पुरस्कार वितरण किया गया

करीब एक घंटे तक पूरा माहौल सांस्कृतिक परंपराओं और रीति-रिवाजों के बीच भक्तिमय माहौल के साथ पटा रहा। पूरे आयोजन स्थल को भी सुदंर रूप से सजाया गया। सभी महिलाओं को लक्की ड्रा हेतु नंबर की पर्चियां भी प्रदान की गई। समापन पर नन्हंे-मन्हे बच्चों से लक्की ड्रा खुलवाएं गए। जिसमें प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय रहने वाली महिलाओं को नगद पुरस्कार एवं उपहार देकर सामाजिक महासंघ महिला इकाई की श्रीमती शीतल जादौन की ओर से पुरस्कृत किया गया।


स्वादिष्ट फरियाली खिचड़ी का उठाया लुत्फ

संपूर्ण आयोजन सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं जिला महासचिव उमंग सक्सेना की परि-कल्पना एवं मार्गदर्शन अनुरूप रखा गया। जिसके अंत में समस्त मातृ शक्तियों ने आरती कर स्वादिष्ट फरियाली खिचड़ी का भी आनंद लिया। सफल आयोजन के लिए सामाजिक महासंघ महिला इकाई की ओर सकल हिन्दू समाज की मातृशक्तियों के प्रति भावभरा आभार व्यक्त किया गया तथा भविष्य में भी सकल हिन्दू समाज की मातृ शक्तियों को एकजुट करते हुए इस तरह के अन्य कई आयोजन करने का भी सामूहिक निर्णय लिया गया।


सुदेव -सुगुरू- सुधर्म पर आस्था रखना सम्यकत्व हे - पूज्य जिनेन्द्र मुनिजी मसा.

  • जीव अनादि काल से दूसरों को ठग रहा है, खुद भी ठगा रहा है-अणुवत्स पूज्य संयतमुनिजी

झाबुआ ।  1 अगस्त सोमवार को स्थानक भवन में धर्मसभा में प्रवचन देते हुए पूज्य जिनेन्द्र मुनिजी म.सा. ने फरमाया कि यह संसार माया, कपट, की बहुलता से भरा हुआ है । जीव यह जानता है कि इसने मेरे साथ धोखा किया है, मैं भी इसके साथ वैसा ही करूं। यह समझ मिथ्यात्व  के कारण आती है। मिथ्यात्व के कारण जीव अनादिकाल से संसार में परिभ्रमण कर  कर्म का बंध करता आ रहा है तथा दुःख उठाता रहाहै । वह  दुःख को ही सुख मानता है, यह मोह है ।सही श्रद्धा का अभाव ही मिथ्यात्व है।


9 तत्व में 3 तत्व जानने योग, 3 तत्व छोडने योग्य, 3 तत्व ग्रहण करने योग्य -

आपने आगे फरमाया कि वैसे तो 9 तत्व के बारे में सभी को जानकारी होना चाहिये पर तीन तत्व जानने योग्य है, तीन तत्व छोडने योग्य है, तथा तीन तत्व ग्रहण करने योग्य है । इन  नौ तत्वों के प्रति विपरित समझ मिथ्यात्व है । सुदेव सच्चे है, उनके प्रति सच्ची श्रद्धा नही रखना, जो मोक्ष मार्ग पर भगवान की आज्ञा से चल रहे है, ऐसे गुरू को गुरु नही मानना मिथ्यात्व है । सुधर्म  को धर्म के रूप में नही मानना मिथ्यात्व है । भगवान की वाणी के प्रति विपरित  श्रद्धा करना मिथ्यात्व है । भगवान की वाणी सुनकर मिथ्यात्व के स्वरूप् को समझने से मिथ्यात्व खत्म होता हे । थोडी सी श्रद्धा धीरे धीरे बढने पर मिथ्यात्व चला जाता है तथा मोक्ष मार्ग की और जीव  गमन करता है। हम सभी छदमस्थ है, छदमस्थ को कभी -कभी मिथ्यात्व का क्षण मात्र के लिये भी उदय हो जाता है तो वह पतित हो जाता हे । संयम कापालन करते हुए भी कभी कभी जीव मिथ्यात्व की ओर आकर्षित हो जाता है ।


श्रद्धारूप मिथ्यात्व और प्रवृर्ति रूप् मिथ्यात्व 2 प्रकार के होते है-

श्रद्धा में कमी आजाये कि मैे जो कर रहा हूं, उसका फल मिलेगा या नही । श्रद्धा दृढ  हो तो श्रावक श्राविका फसंते नहीहै । कभी कभी ऐसी प्रवृर्त्ति अनादिकाल से चली आ रही है कि ये मुझे  करना ही पडेगा , यह प्रवृर्ति रूप् मिथ्यात्व है ।  ये छोडने योग्य है । अपना पूण्य  यदि बलवान है कि, तो कोई भी नुकसान नही पहूंचा सकताहै । मेरा मिथ्यात्व छूटे, भगवान द्वारा बतायें गये मार्ग पर चलूं ऐसी दृढ श्रद्धा होना चाहिये।


सुदेव- सुगुरू, सुधर्म पर आस्था रखना सम्यकत्व है ।

आपने फरमाया कि सुदेव की आराधना, भक्ति करने से सम्यकत्व में निर्मलता आती हे । सुगुरू के प्रति भी सच्ची श्रद्धा रखना चाहिये । सुगुरू हमे सही मार्ग दिखाते है । सुदेव के प्रति भी श्रद्धा रखना चाहिये ।  जिस प्रकार  नींव के बिना मकान मजबुत नही होता हेै, वेसे ही सम्यकत्व के बिना श्रद्धा  मजबूत नही होती हे । श्रद्धा होना मोक्ष प्राप्ति का मार्ग हैे । दर्शन के बिना ज्ञान नही, ज्ञान के बिना चारित्र नही आयेगा । सम्यक चारित्र के बिना मोक्ष नही, मोक्ष के बिना  निर्वाण भी नही होगा । भगवान की वाणी श्रवण करते रहने से जीव की  श्रद्धा निर्मल बनती हे । सच्ची श्रद्धा से कई आपत्ती-विपत्तियां दूर होती हेै । हमे दृढता से श्रद्धा को निर्मल बनाना है, इससे आराधना भी निर्मल होगी ।


जीव अनादि काल से दूसरों को ठग रहा है, खुद भी ठगा रहा है-

अणुवत्स पूज्य संयतमुनिजी मसा ने फरमाया कि जीव अनादिकाल से दूसरों को ठग रहा है तथा खुद भी ठगा रहा है । एक दूसरे की चुगली करना,छू लगाना, छू लगा कर भाग जाना, इसमें व्यक्ति क मजा आता हे । संसार ऐसा है, जिसमे व्यक्ति ठगा रहा है, ऐसे संसार में रहने से क्या फायदा?ऐसा विचार नही आता । जीव अनेक बार ठगाया है । संसारी मनुष्य एक दुसरे के प्रति कपट किया करते है  किसी के साथ धोखा करना माया कपट है । ठग विद्या में लोग माहिर होते है, आधुनिक  सोश्यल मीडिया  के द्वारा भी लोग ठगा रहे है, ठग रहे है । अनेक  प्रकार की माया कपट करके जीव कर्म बांध रहा है । ठगा ठगा कर ठोकरे खाकर भी आज तक ठाकुर नही बने ।  गिफ्ट छोटा,पेकिंग बडा यह भी  माया है । धर्म ध्यान  का टाईम नही है, ऐसा कह कर खुद ठगा रहा है ।संसारी मनुष्य प्रायः कपट क्रिया वाले होते है । मन मे यह विचार आना चाहिये कि एक बार, दो बार ठगा गया तो आगे सावधानी रखूंगा।

तप जीवन का स्त्रोत है,तप  जीवन की जलती ज्योत है ।

तप से होती है कर्म निर्जरा , तप मोक्ष मार्ग का स्त्रोत  है ।

आज धर्म सभा में राजपाल मुणत, श्रीमती राजकुमारी कटारिया, श्रीमती सोनल कटकानी ने 24 उपवास, श्रीमती रश्मि मेहता ने 22 उपवास,श्रीमतीआरती कटारिया,  श्रीमती रश्मि ,निधि, निधिता रूनवाल, श्रीमती नेहा ,चीना घोडावत,  ने 21 उपवास ,श्री अक्षय गांधी ने 20 उपवास कुमारी खुशी चौधरी ने 14 उपवास के प्रत्याख्यान ग्रहण किये । श्री सुजानमल जी कटकानी, श्रीमती मोहनबेन कटकानी, श्रीमती बंसतीबेन, श्री संजय जेैन, श्रीमती रूपा डिंपल घोडावत श्री राजेश, प्रदीप श्रीमती  पदमा हर्षा, बरवेटा  द्वारा उपवास एकासन  आयम्बिल,  निवि तप से  वर्षीतप किया जारहा है। श्रीमती पूर्णिमा सुराणा द्वारा सिद्धी तप श्रीमती उषा , सविता, पद्मा, सुमन रूनवाल द्वारा मेरू तप किया जा रहा हे । संघ में चोला-चोला,तेला - तेला  बुला-बेला तप भी श्रावक श्राविकायें कर रहे है । तेला आयम्बिल तप की लडिया चालू है । व्याख्यान का संकलन सुभाष ललवानी द्वारा किया गया। संचालन- केवल कटकानी द्वारा किया गया ।


जीव दया अभियान के तहत मेगा हेल्थ कैम्प में 20 लोगों के होंगे निःशुल्क बड़े ऑपरेशन

  • अब थांदला में प्रत्येक माह 10 - 20 व 30 तारीख को लगेगा स्वास्थ्य शिविर

jhabua-news
थांदला। जैनाचार्य पूज्य श्री उमेशमुनिजी म.सा. की स्मृति में उज्जैन के प्रसिद्ध आर डी गार्डी मेडिकल कॉलेज के सहयोग से मेगा हेल्थ कैम्प प्रत्येक माह की 10, 20 व 30 तारीख को लगाया जा रहा है। कैंम्प का मुख्य उद्देश्य हर्निया, पथरी, बच्चेदानी, जॉइंट पेन व उनके ऑपरेशन, मोतियाबिंद सहित आँखों सम्बन्धी गम्भीर बीमारियों के ऑपरेशन, नाक - कान - गला व बच्चों के सभी छोटे बड़े रोगों का ईलाज व उनकी जाँच व ऑपरेशन निःशुल्क कर आमजन को महंगी दवाई व खर्च से बचाते हुए आरोग्यता प्रदान करना है। इसी क्रम में आज स्थानीय महावीर भवन पर मेगा कैम्प का शुभारंभ संघ अध्यक्ष जितेंद्र घोड़ावत, वरिष्ठ समाजसेवी महेश डाकोलिया (इंन्दौर), पूर्व अध्यक्ष नगीनलाल शाहजी व शिविर संयोजक भरत भंसाली के द्वारा किया गया। इस अवसर पर संघ के कोषाध्यक्ष प्रकाशचंद्र शाहजी, सुरेशचंद्र कांकरिया, पत्रकार आत्माराम शर्मा विशेष रूप से उपस्थित थे। शिविर की जानकारी साझा करते हुए संस्था के  शिविर संयोजक डॉ कैलाश शर्मा व पवन नाहर ने बताया कि शिविर में करीब 30 मरीजों का परीक्षण कर 20 मरीजों को विभिन्न बीमारियों के ऑपरेशन की समझाईश दी गई जिसे जैन समाज द्वारा आर डी गार्डी कॉलेज के माध्यम से उज्जैन में निःशुल्क कराया जाएगा।  इसके लिए संस्था द्वारा माह के प्रत्येक 10, 20 व 30 तारीख को वाहन द्वारा लाने व ले जाने  की व्यवस्था भी की जा रही है। जैन समाज व उज्जैन संस्था ने क्षेत्रीय जनता से अपील करते हुए कहा कि यदि आपके आसपास कोई गम्भीर मरीज हो तो उनका  8770935562 व 9424567444 पर सम्पर्क कर पंजीयन करवाते हुए उसे तय दिनांक को थांदला लेकर आ सकते है व निःशुल्क परामर्श व ईलाज लेकर सदा के लिए बीमारी दूर कर सकते है।


राष्ट्रीय सेविका समिति ने किया विशाल नारीशक्ति कावड़ यात्रा का आयोजन - बम भोलें के जयकारों से गूंज उठा शिवालय


jhabua-news
थांदला। श्रावण मास में कावड़ यात्रा के महत्व को देखते हुए थांदला नगर में राष्ट्र सेविका समिति ने थांदला से शिवगढ़ के अति प्राचीन शिव मन्दिर तक विशाल कावड़ यात्रा का आयोजन किया। 6 किमी की इस कावड़ यात्रा में सैकड़ो की संख्या में माता बहनें केसरिया साड़ी व सूट पहने हाथ में सजी हुई कावड़ लेकर शामिल हुईं। कावड़ यात्रा का प्रारम्भ स्थानीय बावड़ी मंदिर से दूध प्रसादी लेकर किया गया। कावड़ यात्रा नगर के मुख्य पीपली चौराहा, आजाद चौक, जवाहर मार्ग, अंबे माता मंदिर, बस स्टैंड होती हुई सुतरेटी पहुँची इस दौरान नगर के सभी चौराहों पर अनेक संगठनों ने पुष्प वर्षा करते हुए यात्रा का स्वागत किया। सुतरेटी सरपंच व स्थानीय नवयुवकों ने सभी कावड़ियों का पुष्पवर्षा करते हुए स्वागत कर स्वल्पाहार करवाया इसके बाद यात्रा शिवगढ़ किलें में स्थित अति प्राचीन शिव मंदिर पर पहुँचीं जहाँ कावड़ियों ने कावड़ में लाये जल व दूध से शिवलिंग का अभिषेक कर बिलपत्र व पुष्प चढ़ाकर पूजा की। चारों तरफ से बम भोलें के जय नादों ने छोटा काशी कहे जाने वाली धर्म नगरी थांदला व शिवगढ़ को एक कर दिया व बच्चों से लेकर वृद्ध महिलाओं ने आयोजन में शामिल होकर धार्मिक एकता का अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया। कावड़ यात्रा में शामिल सभी महिलाओं के लिए राष्ट्रीय सेविका समिति ने स्थानीय मंडी पर धर्म सभा का आयोजान किया जिसका संचालन जिला सह शारीरिक प्रमुख कृतिका शर्मा, व पण्डित द्वारिका प्रसाद शर्मा द्वारा किया गया। सभा में जिला बौद्धिक प्रमुख अमृता भावसार व जिला कार्य वाहिका ज्योति सोनी ने बौद्धिक दिया। टुन्ना भट्ट एवं ममता शर्मा ने सभी आगंतुकों के प्रति आभार माना। अंत में समस्त कावड़ यात्रियो ने भोजन प्रसादी ग्रहण की वही हिमांगी कलाल ने सभी को प्रभावना भेंट की।


समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक आयोजित

  • सिकलसेल की जांच समय सीमा में पूर्ण करने पर कलेक्टर ने बधाई दी
  • अंकुर अभियान एवं उर्जा साक्षरता में अधिक से अधिक रजिस्टेªशन करें-कलेक्टर

jhabua-news
झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में समयावधि पत्र (टीएल) की बैठक आयोजित थी। श्री मिश्रा ने बैठक में राज्य शासन द्वारा सिकलसेल की जांच शतप्रतिशत करने के लिए 31 जुलाई की समय सीमा निर्धारित की गई थी। स्वास्थ्य विभाग, महिला बाल विकास विभाग, जनजातीय कार्य विभाग के संयुक्त प्रयास से यह लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है। कलेक्टर श्री मिश्रा ने इस हेतु सभी को बधाई दी। इसमें महत्वपूर्ण है कि गर्भवति माताओ बच्चों एवं युवाओं की जांच समय पर होने पर समय पर इलाज की कार्यवाही सुनिश्चत करली गई है। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री एस.एस.मुजाल्दा, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनिल झा, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री एल.एन.गर्ग, डिप्टी कलेक्टर श्री तरूण जैन के साथ सभी जिला अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में श्री मिश्रा ने निर्देश दिए कि अंकुर अभियान के अंतर्गत समस्त ग्राम पंचायतों में लक्ष्य लेकर शतप्रतिशत रजिस्टेªशन करें एवं कम से कम प्रतिव्यक्ति 10 पौधे की संख्या दर्ज करें। आज जिले में लगभग 21 हजार रजिस्टेªशन किया जाना सुनिश्चित करेंगे। स्कूलों में शतप्रतिशत वैक्सीनेशन की कार्यवाही तत्काल पूर्ण करें। जितना प्रथम डोज में वैक्सीनेशन हुआ है उतना ही वैक्सीनेशन द्वितीय डोज में हो, स्कूल, कॉलेज में अध्ययनरत बच्चों को वायु दुत अंकुर अभियान एप एवं उर्जा साक्षरता एप अधिक से अधिक डाउनलोड कर पोस्ट करें। बुधवार एवं शनिवार को पूनः वैक्सीनेशन अभियान चलाया जाएगा। जिला स्तर पर इस संबंध में कन्टेªाल रूम भी बनाया गया है। जिला अधिकारी अपने भ्रमण के समय स्कूलों का भी निरीक्षण करें एवं पता करे कि सभी बच्चों को पुस्तके प्राप्त हो गई है एवं अन्य व्यवस्था को भी देखे एवं इसके लिए ध्यान आकर्षित करवाया जाए। श्री मिश्रा ने निर्देश दिए कि सीएम हेल्पलाईन के जो प्रकरण जुलाई में प्राप्त हुए है उन्हे फोकस कर निराकरण करें। जिला अधिकारी जनसुनवाई में आए प्रकरणों का समय सीमा में निराकरण करें। विभाग अपनी जिम्मेदारी से कार्य करे आम जन को सडक के कारण कोई परेशानी न हो। पुल-पुलिया में संकेतक अवश्य लगाए नगरी क्षेत्र में भी खुले ड्रेनेज नहीं रहे इसके अतिरिक्त नालिया की साफ-साफाई तत्काल कि जाना सुनिश्चत करें। नगरी क्षेत्र में जल भराव के कारण एवं ड्रेनेज के कारण कोई समस्या उत्पन्न न हो। श्री मिश्रा ने निर्देंश दिये की नवीन शैक्षणीक सत्र प्रांरम्भ हो चुका है स्कूलों के लिए पाठय पुस्तके उपलब्ध हैं तत्काल वितरण सुनिश्चत करें। गणवेश की व्यवस्था भी सुनिश्चत करे। जो पुस्तके वितरण की गई है यह देख ले कि कोई वंचित न रहा हो। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत इसकी नियमित समिक्षा करे। विधानसभा प्रश्नों का प्रतिउत्तर समय सीमा में प्रस्तुत हो। घर-घर तिरंगा अभियान, उर्जा साक्षरता अभियान की समीक्षा की जावे एवं अनुभाग स्तर एवं जनपद स्तर पर समीक्षा करें। मनरेगा के अंतर्गत अमृत सरोवर तालाब सभी विकास खंडों में बनाये गये है। इसकी सतत मानिटरिंग करें। यहा पर मत्स्य विभाग तत्काल मछली के बीज यहां पर डाले एवं मत्स्य उत्पादन के लिए विशेष प्रयास करे। समायवधि पत्रों, सीएम हेल्पलाइन, सीएम विजिट, का निराकरण करें। विभाग द्वारा यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी शिकायत नान अटेंड नहीं रहे। कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे खरीफ फसलों के प्रकरणों में जांच तत्काल करें प्रतिदिन दुकानों पर विक्रय किए जाने वाले खाद्य/बीज/दवाईयों की भी जांच करें एवं इसका प्रेस नोट भी जारी करें। उर्वरक की पर्याप्त उपलब्धता रहे। बैठक में श्री मिश्रा ने निदेश दिए कि सीएम हेल्पलाईन के यदि 500 दिवस से उपर एवं 300 दिवस एवं 100 दिवस से अधिक लंबित प्रकरणों का तत्काल निराकरण सुनिश्चित करे। लंबित प्रकरणों की जानकारी भी अनिवार्य रूप से लावे एवं प्रतिवेदन को पोर्टल पर दर्ज करे। श्री मिश्रा ने निर्देश दिए कि आयुष्मान कार्ड बनाए जाने में तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित करें। किसानों युरिया खाद्य एवं बीज की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करें। तहसीलदार अपने क्षेत्र में तत्काल निरीक्षण सुनिश्चित करे। बस्ती विकास के कार्य तत्काल पूर्ण करे। श्री मिश्रा ने बैठक में निर्देश दिए कि भू-माफिया, खनिज माफिया, शराब माफिया, मिलावट माफिया पर तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित करें। जल जीवन मिशन के कार्याे की सतत मानिटरिंग की जाए। इसके लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत संयुक्त रूप से इसकी जांच करें एवं प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे। बैठक में अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा, सीएमएचओ श्री डॉ. जे.पी.एस.ठाकुर एवं समस्त जिला अधिकारी उपस्थित थे। वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत, थांदला श्री अनिल भाना, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती प्रीति संघवी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मेघनगर श्रीमती अंकिता प्रजापति एवं समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत समस्त तहसीलदार, समस्त बीएमओ, समस्त सीएमओ, समस्त सीईओ, जनपद पंचायत जुडे थे।

अंकुर अभियान की समीक्षा बैठक संपन्न


झाबुआ । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में कलेक्टर कार्यालय के सभा कक्ष में आज अंकुर योजना के संबंध में समीक्षा बैठक ली गई बैठक में कलेक्टर श्री मिश्रा ने निर्देश दिए की जहां पर जिला अधिकारियों एवं अपने स्टाफ के द्वारा पौधे लगाए जा रहे है। श्री मिश्रा ने निर्देश दिए कि अंकुर अभियान में अधिक से अधिक रजिस्टेªशन करने के लिए जिले की समस्त ग्राम पंचायत, जिले की सभी शैक्षणिक संस्थाए अपना अहम योगदान एवं भागीदारी सुनिश्चत करेगें। प्रतिदिन लक्ष्य लेकर कार्य करेंगे। उन्हें मध्य प्रदेश सरकार द्वारा वायुदूत ऐप पर एमपी अंकुर योजना पंजीकरण करेे। जिसमें भाग लेने वाले और पेड़ लगाने वाले सभी लोगों को प्राणवायू पुरस्कार मिलेगा। एमपी अंकुर योजना कार्यक्रम में जनता की भागीदारी सुनिश्चित करेगी और जो लोग वृक्षारोपण अभियान में भाग लेना चाहते हैं, वे वायुदूत ऐप पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। अंकुर योजना पंजीकरण के लिए, प्रतिभागियों को पौधा लगाते समय एक तस्वीर अपलोड करनी होगी और 30 दिनों तक पौधे की देखभाल करने के बाद दूसरी तस्वीर अपलोड करनी होगी। सत्यापन के बाद, मुख्यमंत्री प्रत्येक जिले से चुने गए विजेताओं को प्राणवायु पुरूस्कार प्रदान करेंगे। अंकुर योजना पंजीकरण के लिए वायुदूत ऐप वायुदूत मध्य प्रदेश सरकार के अंकुर कार्यक्रम की गतिविधियों के प्रबंधन के लिए एक मोबाइल आधारित एप्लिकेशन है। अंकुर कार्यक्रम में मध्य प्रदेश राज्य ने आम लोगों को वृक्षारोपण के लिए प्रोत्साहित करने के लिए जनभागीदारी प्रतियोगिता शुरू की गई है। इस प्रतियोगिता में भागीदारी ऑनलाइन अंकुर योजना पंजीकरण और वायुदूत ऐप का उपयोग करके गतिविधि विवरण अपलोड करने के माध्यम से है। अंकुर योजना के लिए वायुदूत ऐप की विशेषताएं अंकुर योजना के कार्यान्वयन के लिए नए वायुदूत ऐप की महत्वपूर्ण विशेषताएं यहां दी गई हैं। यह एक उपयोगकर्ता के अनुकूल ऐप है जिसमें निम्नलिखित विशेषताएं हैं। प्रतिभागियों का ओटीपी आधारित पंजीकरण, प्रतियोगिता के लिए फोटो अपलोड, प्रमाणपत्र डाउनलोड  यहां तक ​​कि नियुक्त सत्यापनकर्ता और नोडल अधिकारी भी प्रविष्टियों के सत्यापन के लिए इस ऐप का उपयोग कर सकते हैं। वृक्षारोपण स्थलों का पता लगा सकते हैं और कई अन्य सक्रिय कर सकते हैं। अंकुर योजना पंजीकरण द्वारा, नागरिक पौधे लगाने के अभियान में भाग ले सकेंगे और उन्हें मानसून के दौरान इन पेड़ों को लगाने के लिए सम्मानित किया जाएगा। पौधरोपण की पहल करने वाले लोगों को उनकी भागीदारी के लिए प्राणवायु पुरस्कार दिया जाएगा।  मानसून के दौरान अंकुर योजना के तहत पौधरोपण अभियान चलाया जाएगा। प्रकृति में असंतुलन को ठीक करना होगा।” कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा ने नागरिकों से मानसून में अधिक से अधिक पेड़ लगाने का संकल्प लेने का भी आग्रह किया। अंकुर योजना पंजीकरण वायुदूत एप पर मध्य प्रदेश की सरकार अब राज्य में बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण की योजना बना रही है। इसके लिए सरकार ने अंकुर योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत जो लोग भी वृक्षारोपण के इस अभियान में हिस्सा लेंगे, उन्हें राज्य सरकार की तरफ से अवार्ड भी दिया जाएगा। इस योजना का उद्देश्य जो भी इस योजना का हिस्सा बनेगा और वृक्षारोपण करेगा उसे सरकार की तरफ से ‘प्राणवायु अवार्ड’ दिया जाएगा। कोरोना वायरस की दूसरी लहर में मध्य प्रदेश में हालात काफी गंभीर हो गए थे। राज्य में ऑक्सीजन की कमी की काफी खबरें आईं थी। इस दौरान कई मरीजों की मौत भी ऑक्सीजन की कमी के चलते हुई। ऐसे में सरकार ने राज्य में ऑक्सीजन प्लांट लगाने के साथ ही वृक्षारोपण करने की योजना भी शुरू की है, जिसे अंकुर नाम दिया गया है। सरकार की इस योजना का उद्देश्य राज्य में हरियाली बढ़ाना और प्रकृति में आए असंतुलन को रोकना है। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री एस.एस.मुजाल्दा, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनिल झा, डिप्टी कलेक्टर श्री तरूण जैन, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल.एन.गर्ग, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा, सीएमएचओ श्री डॉ. जे.पी.एस.ठाकुर एवं समस्त जिला अधिकारी उपस्थित थे। वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत, थांदला श्री अनिल भाना, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती प्रीति संघवी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मेघनगर श्रीमती अंकिता प्रजापति एवं समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत समस्त तहसीलदार, समस्त बीएमओ, समस्त सीएमओ, समस्त सीईओ, जनपद पंचायत जुडे थे।


“ऊर्जा साक्षरता अभियान के संबंध में बैठक आयोजित, “ऊर्जा साक्षरता अभियान“ चलाया जायेगा-कलेक्टर


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा ने आज समयावधि पत्रों की बैठक के साथ उर्जा साक्षरता अभियान के संबंध में भी बैठक ली। जिसमे श्री मिश्रा ने बताया कि प्रदेश के सभी नागरिकों को ऊर्जा साक्षर बनाने के लिये प्रदेश स्तर पर “ऊर्जा साक्षरता अभियान“ चलाया जायेगा। अभियान के माध्यम से प्रदेश के नागरिकों को ऊर्जा बचत की जानकारी दी जायेगी। ऊर्जा साक्षरता अभियान में प्रदेश के सभी नागरिकों को समयबद्ध कार्य-योजना अनुसार ऊर्जा साक्षर बनाने के प्रयास किए जाएंगे। इसमें जन-सामान्य में ऊर्जा के व्यय एवं अपव्यय की समझ विकसित करना, ऊर्जा के पारम्परिक एवं वैकल्पिक साधनों की जानकारी देना एवं उनका पर्यावरण पर प्रभाव की समझ पैदा करना, ऊर्जा एवं ऊर्जा के उपयोग के बारे में सार्थक संवाद, ऊर्जा संरक्षण एवं प्रबंधन के बारे में जागरूकता, ऊर्जा उपयोग के प्रभावों, परिणामों की समझ के आधार पर इसके दक्ष उपयोग हेतु निर्णय लेने की दक्षता उत्पन्न करना, पर्यावरणीय जोखिम एवं जलवायु परिवर्तन के नकारात्मक प्रभाव को कम करना और विभिन्न ऊर्जा तकनीकों के चयन हेतु सक्षम बनाना जैसी गतिविधियाँ आयोजित की जाएंगी। ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से निपटने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए राज्य सरकार द्वारा “ऊर्जा साक्षरता अभियान“ प्रारम्भ किया जा रहा है। इस अनूठे अभियान के माध्यम से स्कूलों एवं कॉलेजों के विद्यार्थियों एवं जन-साधारण को ऊर्जा और ऊर्जा की बचत के विषय में जानकारी दी जायेगी। अभियान को एक मिशन के रूप में क्रियान्वित किया जायेगा। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री एस.एस.मुजाल्दा, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनिल झा, डिप्टी कलेक्टर श्री तरूण जैन, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल.एन.गर्ग, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा, सीएमएचओ श्री डॉ. जे.पी.एस.ठाकुर एवं समस्त जिला अधिकारी उपस्थित थे। वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत, थांदला श्री अनिल भाना, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती प्रीति संघवी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मेघनगर श्रीमती अंकिता प्रजापति एवं समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत समस्त तहसीलदार, समस्त बीएमओ, समस्त सीएमओ, समस्त सीईओ, जनपद पंचायत जुडे थे।


हर घर तिरंगा अभियान: स्वयं सहायता समूह के द्वारा निर्मित तिरंगें को विभागों को दिए

  • तिरंगामय झाबुआ के लिए जिला अधिकारियों को प्रतिक स्वरूप तिरंगा प्रदान किया
  • जिले में 11 अगस्त से 17 अगस्त तक तिरंगा अभियान चलाया जाएगा-कलेक्टर

jhabua-news
झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा तिरंगा अभियान के अंतर्गत जिला अधिकारियों को टीएल बैठक के पश्चात राष्ट्रीय ध्वज भेंट किए गए। यह तिरंगा जिले के स्वयं सहायता समूह के द्वारा निर्मित किए गए है। जो सभी विभागों के द्वारा खरीदे जाएगें एवं आमजन भी इन स्वयं सहायता समूह से लेकर हर घर तिरंगा अभियान के अंतर्गत इस अभियान से जुडेंगे। आज बैठक में प्रतीक स्वरूप तिरंगा उप संचालक कृषि श्री नगीन रावत, प्रभारी पीआरओ जिला जनसम्पर्क कार्यालय श्री सुधीर कुशवाह, सहायक संचालक उद्यान श्री अजय चौहान को प्रदान किया गया। भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा अपने आप में ही भारत की एकता, शांति समृद्धि और विकास का दर्शाता है। भारत के राष्ट्रीय ध्वज में शीर्ष पट्टी केशरिया रंग देश की ताकत और साहस को दर्शाता है, मध्य में सफेद रंग व धर्म चक्र शांति और सच्चाई का प्रतीक है, आखरी पट्टी हरे रंग की होती है जो भूमि की उर्वरता, वृद्धि और शुभता का दर्शाती है। राष्ट्रीय ध्वज के प्रोटोकाल का अनिवार्य रूप से पालन करने के निर्देश कलेक्टर श्री मिश्रा के द्वारा दिए गए। इस दौरान सभी जिला अधिकारी उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना की जिला स्तरीय समिति की बैठक आयोजित


jhabua-news
झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में आत्म निर्भर भारत योजना अंतर्गत प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के अंतर्गत जिला स्तरीय समिति की बैठक कलेक्टर कार्यालय सभा कक्ष में आज दोपहर पश्चात आयोजित थी। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन, महाप्रबंधक उद्योग श्री विरेन्द्र सिंह इस्किया, उप संचालक कृषि श्री नगीन रावत, लीड बैंक अधिकारी एलडीएम श्री राजेश कुमार, प्रमुख वैज्ञानिक कृषि डॉ. श्री आई.एस.तोमर, नार्बाड प्रतिनिधि, जिला प्रबंध एमपी एग्रो, जिला प्रबंधक आजीविका परियोजना श्री देवेन्द्र श्रीवास्तव, सरपंच ग्राम पंचायत आम्बा पिथनपुर उपस्थित थे। बैठक में वर्ष 2020-21 में आत्मनिर्भर भारत योजना अंतर्गत प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के अंतर्गत जिले में सूक्ष्म खाद्य उद्योग स्थापित करने के निर्देश प्राप्त हुए थे। उक्त योजना के अंतर्गत जिले में वन डिस्टीक वन प्रोडक्ट में टमाटर आधारित सूक्ष्म खाद्य उद्योग स्थापित करने वाले कृषकों/उद्यमी को डीपीआर तैयार करने हेतु जिला रिसोर्स परसन न्यू के साथ प्राप्त आवेदनों की सूची का अनुमोदन एवं अन्य प्रगति के संबंध में चर्चा की गई।

हर घर तिरंगा अभियान के क्रियान्वयन हेतु 2 अगस्त को बैठक आयोजित


झाबुआ,। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में हर घर तिरंगा अभियान का क्रियान्वयन के संबंध में सभी जिला अधिकारी एवं जिला क्रायसेस मेनेजमेंट की बैठक दिनंाक 02 अगस्त को दोपहर 04 बजे कलेक्टर सभा कक्ष में आयोजित की गई है। जिसमें भारत सरकार द्वारा दिनांक 11 अगस्त से 17 अगस्त की अवधि में हर घर तिरंगा अभियान के क्रियान्वयन हेतु निर्देश दिए गए है। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य देशवासियों को अपने घर पर राष्ट्रीय ध्वज लगाने के लिए प्रेरित करना। जनसामान्य में देश भक्ति की भावना जागृत करना तथा राष्ट्रीय ध्वज के बारे में जागरूकता उत्पन्न करना है। इसी अनुक्रम में हर घर तिरंगा अभियान के क्रियान्वयन हेतु झाबुआ जिले के प्रत्येक घर में 11 अगस्त से 17 अगस्त तक तिरंगा झण्डा फहराने के संबंध में बैठक आयोजित की गई है। सभी जिला अधिकारी एवं जिला क्रायसेस मेनेजमेंट के सभी सदस्य उपस्थित रहेगें।

 

जघन्य सनसनीखेज चिन्हित स्तरीय समिति की प्रकरणों की बैठक सम्पन्न


jhabua-news
झाबुआ,। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय जघन्य सनसनीखेज के चिन्हित प्रकरणों की समीक्षा बैठक कलेक्टर कार्यालय में आयोजित की थी। इस बैठक में झाबुआ जिले के वे अपराध जो जघन्य एवं सनसनीखेज के जो प्रक्ररण चिन्हित किए गए है ,उसके सम्पूर्ण विवरण की फाईल के साथ बैठक में प्रस्तुत किए गए थे।  इस बैठक में अपर कलेक्टर श्री एस.एस. मुजाल्दा, अति. पुलिस अधीक्षक श्री पी. एल. कुर्वे, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनिल झा, जिला अभियोजन अधिकारी श्री सौभाग्यसिंह खिंची, उप संचालक अभियोजन श्री के.एस.मुवेल, उप अधीक्षक जिला जेल श्री आर.के. विश्वकर्मा उपस्थित थे।

नगरीय निकाय परिषद पद के निर्वाचित प्रत्यार्थियों का प्रथम सम्मेलन, नगर परिषद मेघनगर में दिनांक 10 अगस्त को प्रथम सम्मेलन


झाबुआ,। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सोमेश मिश्रा के आदेश दिनंाक 01 अगस्त में राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगर पालिका परिषदों के आम निर्वाचन 2022 के निर्वाचन हेतु जारी समय-अनुसूची अनुसार जिला झाबुआ की नगर परिषद मेघनगर के आम निर्वाचन की कार्यवाही सम्पन्न करवाई गई थी। आदेश में पार्षद पद के प्रत्याशियों का प्रथम सम्मेलन आयोजित करने एवं अध्यक्ष, उपाध्यक्ष तथा अपील समिति के सदस्यों के निर्वाचन की कार्यवाही सम्पन्न कराए जाने हेतु पीठासीन अधिकारी श्री अनिल भाना अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मेघनगर को नियुक्त किया गया है।   अतः पीठासीन अधिकारी अपने क्षेत्र की नगर परिषद में दिनंाक 10 अगस्त 2022 को प्रत्याशियों को प्रथम सम्मेलन आयोजित करने तथा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष तथा अपील समिति के सदस्यों के निर्वाचन की कार्यवाही सम्पन्न कराया जाना सुनिश्चित करेंगे। प्रथम सम्मेलन आयोजित करने के पूर्ण पार्षद पद के प्रत्याशियों को सम्मेलन की सूचना, स्थान, समय पर उपस्थित रहने हेतु लिखित अधिसूचना स्वयं पीठासीन अधिकारी अपने हस्ताक्षर एवं पद मुद्रा सहित जारी करेंगे। प्रत्येक पार्षद को अधिसूचना तामिल कराया जाकर प्राप्ति की अभिसूची कार्यालय में सुरक्षित रखी जावेगी। अधिसूचना का प्रकाशन नगर परिषद के सूचना पटल पर भी प्रसारित की जाकर स्थानीय दैनिक समचार पत्रों में सर्व साधारण को सूचित हो का प्रकाशन कराया जावेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: