किशनगंज : यूडीआईडी कार्ड निर्माण के लिये किया जा सकेगा आवेदन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 12 अगस्त 2022

किशनगंज : यूडीआईडी कार्ड निर्माण के लिये किया जा सकेगा आवेदन

  • * दिव्यांगजनों के यूडीआईडी कार्ड निर्माण को लेकर प्रखंडवार आयोजित होगा शिविर
  • * शिविर में यूडीआईडी कार्ड निर्माण के लिये जरूरी प्रमाण पत्र के साथ किया जा सकेगा आवेदन
  • * जिलाधिकारी के निर्देश पर शिविर के तिथि का हुआ निर्धारण,जरूरी तैयारियों को दिया जा रहा अंतिम रूप

kishanganj-news
किशनगंज: जिले के ऐसे दिव्यांगजन जिन्हें, दिव्यांगता प्रमाण पत्र पूर्व में निर्गत किया जा चुका है. लेकिन, किसी कारण से अब तक उनका यूडीआईडी कार्ड नहीं बना पाया है. ऐसे दिव्यांगजनों के जिले में विशेष पहल की जायेगी. यूडीआईडी कार्ड निर्माण को लेकर दिव्यांगजनों से आवेदन प्राप्त करने के उद्देश्य से प्रखंडवार शिविर का आयोजन किया जायेगा. निदेशक दिव्यांगजन सशक्तिकरण निदेशालय से प्राप्त निर्देश के आलोक में जिला प्रशासन द्वारा प्रखंडवार शिविर आयोजन को लेकर जरूरी तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. जिलाधिकारी, श्री श्रीकांत शास्त्री के निदेशानुसार आगामी 16 अगस्त से निर्धारित 14 सितम्बर तक तिथि के मुताबिक प्रखंडवार शिविर का आयोजन किया जायेगा. सिविल सर्जन डॉ कौशल किशोर ने इस संबंध में बताया कि प्रखंडवार आयोजित होने वाले शिविर के लिए अलग-अलग तिथि निर्धारित की गयी है. शिविर में यूडीआईडी कार्ड के लिये दिये जाने वाले आवेदन के साथ सभी जरूरी प्रमाणपत्र संलग्न करना जरूरी होगा. इसमें दिव्यांगजन के आधार कार्ड, दिव्यांगता प्रमाणपत्र, दो फोटो, बैंक पासबुक की मूल प्रति के साथ-साथ एक छायाप्रति लाना अनिवार्य है. इसके लिये किसी तरह का कोई शुल्क देय नहीं है.


जिलाधिकारी  श्रीकांत शास्त्री के निर्देशानुसार जिले के बहादुरगंज प्रखंड मुख्यालय परिसर सहित अन्य 4 जगहों  में शिविर का आयोजन 16 , 17 , 18 एवं 20  अगस्त ,कोचाधामन प्रखंड  में शिविर का आयोजन 22,23 व 24 अगस्त पोठिया प्रखंड में 25, 26 एवं 27 अगस्त को, दिघलबेंक प्रखंड में प्रखंड मुख्यालय सहित अन्य 0 जगहों में शिविर का आयोजन 29 , 30 ,31 अगस्त एवं 01 सितम्बर , ठाकुरगंज प्रखंड में  शिविर का आयोजन 02 ,03 , 05 एवं 06 सितम्बर को तेधागाछ प्रखंड मुख्यालय  में शिविर का आयोजन 07,08 ,09 एवं 10 सितम्बर को वही किशनगंज प्रखंड में 12 , 13 एवं 14 सितम्बर को  शिविर का संचालन सुबह 10 बजे से शाम 05 बजे तक किया जायेगा. जिलाधिकारी, श्रीकांत शास्त्री ने बताया दिव्यांगजनों को यूडीआईडी निर्गत करने के उद्देश्य से प्रखंड स्तर पर आयोजित विशेष शिविरों में प्रखंड विकास पदाधिकारी नियंत्री पदाधिकारी के तौर पर कार्य सम्पादित कराना सुनिश्चित करेंगे.वहीं संबंधित स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी संयोजक पदाधिकारी के तौर पर कार्यों का निष्पादन करेंगे. शिविर में प्राप्त ऑफलाइन आवेदनों एवं प्राप्त दस्तावेजों तथा लाभार्थी की विवरणी को http://www.swdbihar.in/UDID/Home.aspx पर प्रविष्टि किया जायेगा।उन्होंने बताया इन शिविरों में दिव्यांगजन अपने दिव्यांगता प्रमाण पत्र के सत्यापन के लिए आवश्यक दस्तावेजों के रूप में अपना फोटो, आधार कार्ड,दिव्यांगता प्रमाण पत्र, बैंक खाता की छाया प्रति साथ में अवश्य लेकर आयें. वहीं यदि कोई नये दिव्यांगजन अपना दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनवाने के लिए इन शिविरों में आते हैं तो उन्हें यूडीआईडी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन किये जाने के लिए सिविल सर्जन कायार्लय से संपर्क किये जाने के लिए मार्गदर्शन प्रदान करेंगे. जिलाधिकारी, श्रीकांत शास्त्री  ने बताया जिले में दिव्यांगजनों को प्रदान किये जाने वाले यूडीआईडी कार्ड के त्वरित निष्पादन एवं मॉनिटरिंग के लिए सिविल सर्जन की अध्यक्षता में अनुमंडल पदाधिकारी, सहायक निदेशक, जिला प्रबंधक आदि का मॉनिटरिंग सेल का गठन किया जाना है,जो यूडीआईडी पंजीयन शिविर की व्यवस्था एवं प्राप्त आवेदनों की सतत अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण करेंगे.यदि कोई दिव्यांगजन निर्धारित तिथि के बाद अपना आवेदन लेकर आते हैं तो उनका आवेदन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर जमा लेते हुए नियमानुसार सहायक निदेशक, जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण कोषांग को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे.वहीं प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देशित करते हुए जिलाधिकारी श्री श्रीकांत शास्त्री ने बताया इस शिविर के आयोजन से पूर्व प्रचार-प्रसार के लिए प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए स्थानीय जनप्रतिनिधि,विकास मित्र, पंचायत सचिव, महिला पर्यवेक्षिका, आशा कार्यकर्त्ता आदि का सहयोग लेते हुए वार्ड स्तर तक इन शिविरों की सूचना प्रेषित होना सुनिश्चित करेंगे.

कोई टिप्पणी नहीं: