मधुबनी : जिले में हर्षोउल्लास से मनाया गया 76 वां स्वतंत्रता दिवस - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 16 अगस्त 2022

मधुबनी : जिले में हर्षोउल्लास से मनाया गया 76 वां स्वतंत्रता दिवस

  • जिलाधिकारी अरविन्द कुमार कुमार वर्मा ने पुलिस केंद्र मधुबनी में आयोजित स्वतंत्रता दिवस मुख्य समारोह में किया झंडोतोलन
  • जिला  प्रशासन न्याय के साथ विकास के पथ पर अग्रसर होते हुए जिले के समावेशी विकास के लिए दृढ़ संकल्पित है।-जिलाधिकारी।
  • जिले के महादलित टोलो में जिलाधिकारी सहित वरीय अधिकारियो की उपस्थिति में टोला बुजुर्ग ने फहराया झंडा।

madhubani-news
मधुबनी : सम्पूर्ण जिले में पूरे हर्षोउल्लास एवम धूमधाम से मनाया  गया 76 वां स्वतंत्रता दिवस ।  जिलाधिकारी अरविन्द कुमार कुमार वर्मा ने पुलिस केंद्र मधुबनी में आयोजित स्वतंत्रता दिवस मुख्य समारोह में झंडोतोलन किया। जिलाधिकारी ने अपने संबोधन में कहा की मैं जगत जननी सीता,कवि कोकिल विद्यापति, महा अद्वैत वेदांती  मंडन मिश्र ,अयाची मिश्र की जन्मभूमि ,महाकवि कालिदास की कर्मभूमि, महर्षि याज्ञवल्क्य की तपोभूमि, और मिथिला के हृदय स्थली कही जाने वाली मधुबनी की धरती को मैं नमन फ़करता हूं।इस धरती ने ज्ञान और चिंतन को सदैव नई दिशा दी है और नव्य न्याय की आधारशिला रखने का गौरव प्राप्त किया है। उन्होंने कहा कि जिला  प्रशासन न्याय के साथ विकास के पथ पर अग्रसर होते हुए जिले के समावेशी विकास के लिए दृढ़ संकल्पित है। उन्होंने कहा कि मधुबनी जिला में जहां विकास के अनेक संभावनाएं हैं वहीं दूसरी तरफ चुनौतियां भी कायम है।  उन्होंने कहा की मधुबनी जिला प्रशासन गरीबों वंचितों एवं अल्पसंख्यकों को उनका वाजिब हक दिलाने हेतु सदैव प्रयत्नशील है ताकि सामाजिक न्याय के सिद्धांत का पालन हो सके। उन्होंने कहा कि अनियमित मानसून पर जिला प्रशासन नजर बनाए हुए हैं। जिले में हुई औसत से कम वर्षा को देखते हुए कृषि विभाग लगातार सक्रिय रहकर विभागीय दिशा निर्देशों का पूरी ऊर्जा के साथ अनुपालन करने में जुटी हुई है। अब अब तक जिले के 83% कृषि योग्य भूमि पर रोपनी कर ली गई है जिले के 7 लाख 50 हजार  471 किसानों के द्वारा कृषि विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण कराया गया है। अब तक कुल 322884 किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से आच्छादित हो चुके हैं। डीजल अनुदान के लिए अब तक कुल 2572 किसानों के द्वारा आवेदन किया गया है,जिन्हें नियमानुसार अनुदान देने की करवाई की जा रही है। वित्तीय वर्ष 22-23 के खरीफ फसल अंतर्गत मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना में कुल 16000 नमूनों के संग्रहण के विरुद्ध 15999 ग्रिड का निर्माण किया जा चुका है।अब तक अनुदानित दर पर कुल 15184 किसानों के बीच 3164 क्विंटल धान के बीज का वितरण किया गया है। वितीय वर्ष 2022 23 में 42 किसान पाठशाला का आयोजन किया गया जिसमें 1050 किसानों को प्रशिक्षण प्रदान किया जा चुका है। बिहार कौशल विकास मिशन के अंतर्गत जिले के प्रगतिशील कृषक शिक्षित बेरोजगार युवक-युवतियों को विभिन्न विषयों पर प्रशिक्षित कर जीविकोपार्जन हेतु क्षमता विकास एवं रोजगार सृजन का कार्य भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिले में शिक्षा विभाग के द्वारा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने की दिशा में लगातार प्रयास जारी है। इस परिप्रेक्ष्य में विद्यालयों के छात्र छात्राओं को विभिन्न प्रकार के लाभ भी प्रदान किए जा रहे हैं। कक्षा 9 से 12 की बालिकाओं को किशोरी स्वास्थ्य योजना अंतर्गत कुल एक लाख सोलह हजार सात सौ पैंतीस  लाभुकों को  कुल तीन करोड़ पचास लाख बीस हजार पाँच सौ रुपये का भुगतान किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि आपदा पीड़ितों को ससमय राहत उपलब्ध कराने को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह से गंभीर है। जिले में अबतक 437 कोरोना संक्रमण से मृत व्यक्तियों के  निकटतम आश्रित को कुल 19 करोड़ 66 लाख की राहत राशि उपलब्ध करवाई गई। हाल ही में यूपी के बाराबंकी  में हुए सड़क हादसे में मृत 4 व्यक्तियों के निकटतम आश्रित को दो-दो लाख रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष से  ससमय उपलब्ध करवाई गई।-इसके अतिरिक्त बज्रपात, सड़क दुर्घटना ,पानी में डूबने, अग्निकांड आदि से हुई मृत्यु में कुल 128 मृतकों के निकटतम परिजनों को राहत राशि भुगतान हेतु अभिलेख स्वीकृत की गई है जिनकी भुगतान की करवाई की जा रही है जिले में पंचायत राज विभाग द्वारा पंचायतों के नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों के उन्मुखीकरण के उद्देश्य से प्रशिक्षण कार्यक्रमों को श्रृंखलाबद्ध रूप से संचालित किया जा रहा है इन कार्यक्रमों का मकसद ग्राम पंचायतों में कार्य कुशल एवं बेहतर कार्य प्रणाली का विकास करना है। जिले के सभी 388 पंचायतों में पंचायत सरकार भवन का निर्माण किया जाना है अब तक 76 पंचायतों में पंचायत सरकार भवन का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है। जिले में तीन मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल का निर्माण अपने अंतिम चरण में है। 20 यात्री शेड का निर्माण पूर्ण हो चुका है तथा 22 पर निर्माण की प्रक्रिया जारी है। जिले के 20 लाभुकों को दो लाख के सब्सिडी के साथ एंबुलेंस प्रदान किया गया है ।जिलाधिकारी ने कहा कि  मधुबनी जैसे बड़े जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने  को लेकर स्वास्थ्य विभाग भी कृत संकल्पित है। कोरोना संक्रमण की जांच के लिए अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त आरटीपीसीआर लैब की स्थापना रामपट्टी में पूर्ण कर ली गई है। जिले के सभी प्रखंडों में कोविड-19 की जांच की सुविधा उपलब्ध है। वर्तमान में 17 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं जो सभी होम आइसोलेशन में हैं। ऐसे में हम सभी को सतर्कता से काम लेने की आवश्यकता है। जिले में अभी तक 53 लाख 63 हजार 149  लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है । उन्होंने कहा कि मैं इस अवसर पर तमाम जिले वासियों से अपील करता हूं कि जिन लोगों ने अभी तक कोविड-19 का पहला, दूसरा या बूस्टर डोज़ नहीं लिया है वे सभी स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे वैक्सीनेशन ड्राइव का लाभ उठाएं और अपने नजदीकी वैक्सीनेशन पॉइंट पर जाकर टीका अवश्य लगवाएं । उन्होंने कहा कि जननी बाल सुरक्षा कार्यक्रम के अंतर्गत संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के उद्देश्य जिले के शहरी क्षेत्र की महिलाओं को 1000 रुपये ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को 1400 रुपये  प्रदान किए जाते हैं।  जिले के दूरदराज के क्षेत्रों में घर-घर तक बिजली पहुंचाने और 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने हेतु  विद्युत विभाग द्वारा लगातार प्रयास जारी है। इसी परिपेक्ष में विभिन्न योजनाओं के तहत मधुबनी जिले में 15 नए विद्युत शक्ति उप केंद्र स्थापित किए गए हैं ।जिले के किसानों को कृषि कार्य के लिए पर्याप्त बिजली उनके क्षेत्र तक पहुंचाने के उद्देश्य से जिले में 61 नए कृषि फीडरों का निर्माण किया गया है। 1435 किलोमीटर में एलटी लाइन का निर्माण किया गया है। जिले में जर्जर एलटी लाइन को 2471 किलोमीटर में केबल में परिवर्तित किया गया है। मधुबनी शहर क्षेत्र में अब तक 16571 घरों में स्मार्ट मीटर लगाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने हेतु वित्तीय वर्ष 22- 23 में कुल 96 पीड़ित को  कुल 82 लाख 67 हजार 900 रुपये का भुगतान किया जा चुका है। हत्या के मामले में 12 पीड़ितों को पेंशन का लाभ दिया जा रहा है। वर्तमान में जिले में अभी 3 बालको के लिए और एक बालिकाओं के लिए अनुसूचित जाति आवासीय महाविद्यालय का संचालन भी किया जा रहा है । जिले के महादलित टोलो में भी स्वतंत्रता दिवस की धूम रही। इस अवसर पर जिलाधिकारी सहित सभी अधिकारियों ने अपने-अपने निर्धारित महादलित टोला में उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: