राजनाथ ने वीर नारियों को सम्मानित किया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 18 अगस्त 2022

राजनाथ ने वीर नारियों को सम्मानित किया

rajnath-honors-veer-naris
नयी दिल्ली 18 अगस्त, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मणिपुर के तुपुल में हाल ही में भूस्खलन में जान गंवाने वाले सशस्त्र बलों के जवानों की 'वीर नारियों' को गुरुवार को सम्मानित किया। सेना की त्रिशक्ति कोर ने पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले के बेंगदुबी सैन्य स्टेशन में वीर नारियों के सम्मान में समारोह का आयोजन किया था। प्रादेशिक सेना की 107 इन्फैंट्री बटालियन 11 गोरखा राइफल्स के तीस कर्मियों - एक अधिकारी, तीन जूनियर कमीशन अधिकारी और 26 अन्य रैंक - जून में हुई त्रासदी के दौरान मारे गए 61 व्‍यक्तियों में शामिल थे। रक्षा मंत्री ने प्रत्येक 'वीर नारी' को सात लाख रुपये का चेक प्रदान किया। इस त्रासदी में घायल हुए 13 जवानों को भी सम्मानित किया गया। वीर नारियों और सैनिकों के साथ बातचीत के दौरान, श्री सिंह ने जवानों की बहादुरी और समर्पण की सराहना करते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि राष्‍ट्र हमेशा इन जवानों के बलिदान का ऋणी रहेगा। उन्होंने रक्षा मंत्रालय की की ओर से पूपीड़ित परिवारों को पूरी सहायताका। का आश्वासन दिया । कह उन्‍होंने चुनौतीपूर्ण स्थिति में जिरीबाम-तुपुल-इंफाल रेल लाइन परियोजना को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए भी सशस्त्र बलों की सराहना की। श्री सिंह ने कहा कि यह परियोजना देश की रणनीतिक और सामाजिक-आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। वीर नारियों और सैनिकों ने अभार व्यक्त करते हुए युवाओं को सशस्त्र बलों में शामिल होने के बारे में प्रेरित करने के लिए रक्षा मंत्रालय और भारतीय सेना द्वारा की गई पहल की सराहना की। इस अवसर पर दार्जिलिंग के सांसद राजू बिस्ता, थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज पांडे, जीओसी 111 सब एरिया लेफ्टिनेंट जनरल तरुण कुमार आइच और भारतीय सेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: