सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 12 अगस्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 12 अगस्त 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 12 अगस्त

सभी पात्र नागरिक प्रिकॉशन डोज अवश्य लगवाएं-कलेक्टर


जिले के सभी पात्र नागरिकों से कोविड वैक्सीन की प्रिकॉशन (बूस्टर) डोज लगवाने की कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने अपील की है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि जिले को कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिये नि:शुल्क प्रिकॉशन डोज लगाने के लिये कोविड वैक्सीन अमृत महोत्सव आरंभ किया गया है। इस महा-अभियान में सभी पात्र नागरिकों को 30 सितम्बर, 2022 तक प्रिकॉशन डोज लगाने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि जनप्रतिनिधियों, समाज सेवको,जागरूक नागरिकों की भागीदारी से अधिक से अधिक व्यक्तियों को प्रिकॉशन (बूस्टर) डोज लगवाये जा सकते है। जिले में 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, जिन्होंने कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी डोज के बाद 6 माह की अवधि पूर्ण कर ली है, वे सभी प्रिकॉशन डोज के लिये पात्र हैं।


पूरा जिला हुआ हर घर तिरंगामय, जिले में विभिन्न गतिविधियों के साथ कार्यक्रमों का आयोजन


आजादी के अमृत महोत्सव में "हर घर तिरंगा'' अभियान पूरे जिले में पूरे जोश के साथ संचालित हो रहा है। जिला मुख्यालय सहित तहसील मुख्यालय आष्टा, जावर, इछावर, नसरूल्लागंज, रेहटी, बुधनी और शाहगंज सहित अन्य सभी नगरों और ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन्न गतिविधियों के चलते पूरा जिला तिरंगामय दिख रहा है। इन गतिविधियों में अनेक नवाचार भी हुए हैं, जिन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियाँ हासिल की है। शहरी एवं ग्रामीण में फहराया गया तिरंगा, और सभी नगरों से लेकर पंचायत स्तर पर तिरंगा यात्रा, रैली, पौध-रोपण, रक्तदान, मेडिटेशन के साथ देशभक्ति को प्रर्दशित करती मानव श्रंखला एवं छात्र-छात्राओं द्वारा निर्मित राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे की आकृति शामिल हैं।   जिले के पंचायत एवं नगरीय निकायों के नव-निर्वाचित जन-प्रतिनिधि, सामाजिक संस्थाओं, व्यापारियों, धर्मगुरूओं सहित शासकीय विभागों और स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों द्वारा पिछले एक सप्ताह से सक्रिय भागीदारी निभाई जा रही है। "हर घर तिरंगा" के लिये प्रतिदिन हो रही गतिविधियों ने पूरे जिले को तिरंगामय कर दिया है। जिले जन-प्रतिनिधियों, समाज के हर वर्ग के नागरिकों, छात्र-छात्राओं, समाज-सेवी संगठनों से संबंधित कई व्यक्तियों ने कहा है कि देश ने संघर्ष, त्याग, तपस्या और बलिदान से आजादी पाई है। आजादी के संघर्ष में अपना सर्वस्व बलिदान कर देने वाले शहीद,स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का स्मरण कर उनसे प्रेरणा लेने के लिये आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। "हर घर तिरंगा'' अभियान से आनंद और उत्साह से आजादी का पर्व मनाने का अवसर प्रदान किया है। कई अवसरों पर मुख्यमंत्री ने भी प्रदेशवासियों से 13 से 15 अगस्त की अवधि में अपने घर में तिरंगा झण्डा लहराने की अपील की है। राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के प्रति जिले वासियों को जागरूक किया जा रहा है और विभिन्न गतिविधियों से प्रदेश के हर नागरिक के दिल और दिमाग में राष्ट्रीय ध्वज के प्रति सम्मान और देश-भक्ति का जज्बा पैदा हुआ है। नगर से लेकर गाँव तक आमजन ने तिरंगे को आन-बान-शान से अपने घर पर लहराने का संकल्पकृत है। महिला स्व-सहायता समूह द्वारा बड़ी मात्रा में तिरंगे बनाये जा रहे हैं, जिन्हें स्थानीय प्रशासन द्वारा आमजन को सशुल्क उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। जिला प्रशासन द्वारा जन-प्रतिनिधियों, विभिन्न विभागों, शैक्षणिक एवं सामाजि‍क संस्थाओं, युवाओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ हर घर तिरंगा अभियान की संयुक्त गतिविधियाँ लगातार की जा रही हैं। जन-संचार माध्यमों ने भी अभियान के प्रति सभी वर्गों में जागरूकता पैदा करने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया है।


जिले में 15 अगस्त को जिला, जनपद पंचायत, ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर होगा कार्यक्रम


जिला मुख्यालय पर पुलिस, होम गार्ड, एनसीसी एवं स्काउट गाइड्स की संयुक्त परेड आयोजित की जाएगी। संयुक्त परेड द्वारा मुख्यअतिथि को "गार्ड आफ ऑनर" दिया जाएगा। जिला स्तर पर ध्वजारोहण किया जाएगा एवं राष्ट्र गान का गायन किया जाएगा। मुख्य अतिथि द्वारा मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया जाएगा। संदेश के अलावा कोई अन्य वचन नहीं किया जाएगा कार्यक्रम में राष्ट्रीय ध्वज की गरिमा सुनिश्चित की जाए। जनपद पंचायत मुख्यालय में जनपद अध्यक्ष द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा तथा समारोह में सामूहिक राष्ट्र गान गाया जाएगा। ऐसा ही नगर पालिका, नगर परिषद जिनका मुख्यालय ब्लाक मुख्यालय पर नहीं है, उनमें अध्यक्ष नगर पालिका, नगर परिषद द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा और समारोह में राष्ट्र गान गाया जाएगा। पंचायत मुख्यालय में सरपंच द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा और समारोह में राष्ट्र गान गाया जाएगा। जिला मुख्यालय पर सभी संसद सदस्य, विधायकगण, पार्षद एवं अन्य नागरिकों को आमंत्रित किया जाएंगे। सभी शासकीय कार्यालयों, शिक्षण संस्थाओं में पूर्व वर्ष के अनुसार प्रातः 8.00 बजे या उसके पूर्व ध्वजारोहण एवं राष्ट्र गान के कार्यक्रम आयोजित किए जाएगें तत्पश्चात् सांस्कृतिक, साहित्यिक कार्यक्रम आयोजित किए जाए। सभी शिक्षण संस्थाओं में मौसम का ध्यान रखते हुए प्रातः काल प्रभातफेरी का आयोजन किया जाए। कॉलेज, स्कूलों में खेल कूद, अन्य प्रकार के कौशलों का प्रदर्शन अन्तर्विद्यालय, अन्तर महाविद्यालय स्तर पर वाद विवाद प्रतियोगिताऐं, 15 अगस्त के महत्व पर चुने हुए छात्र-छात्राओं द्वारा वार्ता, राष्ट्रीय एकता, लघु बचत, जनसंख्या स्थिरीकरण, स्वच्छता अभियान एवं पुरस्कारों, प्रमाण पत्रों, मेडल आदि का वितरण कार्यक्रम में सम्मिलित किए जाएं। वृक्षारोपण का कार्यक्रम भी आयोजित किया जाए। जिला स्तर पर राष्ट्रीय एकता के समूह गान आयोजित किये जायेंगे। जिला मुख्यालयों पर स्वतंत्रता दौड़ का आयोजन किया जए। विभिन्न समारोहों में ध्वनि विस्तार यंत्र (लाउड स्पीकर) का उपयोग किया जाता हे। कार्यक्रम स्थल पर प्राथमिक चिकित्सा की आवश्यक व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जाए। स्वतंत्रता दिवस 2022 के अवसर पर प्रदेश में स्थित मुख्य सार्वजनिक भवनों एवं राष्ट्रीय महत्व की इमारतों में 14 एवं 15 अगस्त 2022 की रात में प्रकाश की व्यवस्था की जाए। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, कारगिल में शहीद हुए सैनिकों के परिवारों एवं प्रदेश के लोकतंत्र सेनानियों को सम्मान पूर्वक आमंत्रित किया जाए एवं वृद्ध स्वतंत्रतः संग्राम सेनानियों को उनके घर जाकर शाल, श्रीफल से सम्मानित करेगें।


आजादी के अमृत महोत्सव अन्तर्गत बच्चों को रू-ब-रू करा रही हैं विभिन्न प्रतियोगिताएँ


आजादी के अमृत महोत्सव अन्तर्गत जिले में जनजातीय कार्य विभाग के स्कूलों में स्वतंत्रता दिवस, 15 अगस्त तक विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। स्कूलों में 6वीं से 12वीं कक्षा के बच्चों के लिये निबंध लेखन, पोस्टर एवं पेंटिंग, वाद-विवाद प्रतियोगिता के साथ पौध-रोपण, कक्षा साज-सज्जा (फ्लैश मेकिंग) और रंगोली प्रतियोगिताएँ की जा रही हैं।इन प्रतियोगिताओं से बच्चों को स्वतंत्रता संग्राम के नायकों की वीर-गाथाएँ, स्वतंत्रता का मूल्य एवं आजादी को अक्षुण बनाये रखने के लिये नागरिकों के कर्त्तव्यों से अवगत कराया जा रहा है। स्कूलों में बच्चे उत्साह के साथ इन प्रतियोगिताओं में सहभागिता कर रहे हैं।


स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को शुष्क दिवस घोषित


स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2022 को शासन द्वारा अधिसूचित शुष्क दिवस घोषित किया गया है। इस संबंध में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने आदेश जारी कर स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2022 दिन सोमवार को शुष्क दिवस घोषित कर जिले की समस्त 71 कम्पोजिट मंदिरा दुकानें,एफएल-3 होटलबार,गोदाम एवं देशी मद्यभाण्डागारों को बंद रखे जाने के लिए के निर्देश जारी किये गये है।


जिले में अब तक 877.6 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 44.3 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज


जिले में 01 जून से 12 अगस्त 2022 तक 958.6 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा 591.6 मिलीमीटर थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 12 अगस्त 2022 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 920.8 मिलीमीटर, श्यामपुर में 959.0, आष्टा में 865.2, जावर में 753.0, इछावर में 962.3, नसरूल्लागंज में 924.4, बुधनी में 984.0 और रेहटी में 1299.8 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 24 बजे तक 26.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 34.0 मिलीमीटर, श्यामपुर में 70.0, आष्टा में 35.0, जावर में 28.0, इछावर में 19.0, नसरुल्लागंज में 4.0, बुधनी में 14.0 एवं रेहटी में 7.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


लम्पी के लक्षण दिखते ही तत्काल पशु चिकित्सालय को सूचना दें


पशुओं में लम्पी बीमारी के शुरूआती लक्षण दिखते ही तत्काल अपने निकटतम पशु चिकित्सालय को सूचना दें। प्रदेश में लम्पी की रोकथाम के लिये भोपाल के राज्य पशु रोग अन्वेषण प्रयोगशाला में कंट्रोल-रूम की स्थापना की गई है। एनआईएचएसएडी द्वारा लम्पी चर्म रोग से प्रभावित क्षेत्र में एडवाइजरी जारी की जा रही है। संचालक पशुपालन एवं डेयरी ने प्रदेश के समस्त विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि रोग के लक्षण पाये जाने पर सभी बायो सिक्यूरिटी, बायो सेफ्टी, वेक्टर कंट्रोल उपाय अपनायें। पशुपालकों को सुरक्षा और बचाव के उपायों के प्रति जागरूक करें। संदिग्ध पशु के नमूने तत्काल प्रयोगशाला में भेजें और उदभेद के स्थान से 5 किलोमीटर की परिधि में गोट पॉक्स वेक्सीन से रिंग वेक्सीनेशन और औषधि का पर्याप्त भण्डारण सुनिश्चित करें।सीमावर्ती क्षेत्र की पशु चिकित्सा संस्थाओं, मुख्य ग्राम इकाई, पशु चिकित्सा अधिकारियों को प्रतिदिन क्षेत्र का दौरा कर सतत निगरानी रखने को कहा गया है।


रक्तदान शिविर में 7 महिलाओं ने स्वैच्छिक रूप से रक्तदान किया


sehore-news
स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में 21 व्यक्तियों ने रक्तदान किया। रक्षाबंधन त्यौहार के मौके पर 7 महिलाओं ने स्वैच्छिक रूप से रक्तदान कर किया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया के प्रयास से समाजसेवी संस्था पालीवाल ब्राम्हण समाज तथा सामुदायिक संस्था सीहोर द्वारा रक्षाबंधन त्यौहार के अवसर गत दिवस रक्तदान शिविर लगाकर 21 व्यक्तियों द्वारा रक्तदान किया गया। जिसमें 07 महिलाएं शामिल है। सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार मांझी के निर्देश पर आयोजित शिविर के में जिला ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. सुधीर श्रीवास्तव ने बताया कि रक्षाबंधन के पावन मौके पर रक्तदान करने वाली बहनों में चंचल पालीवाल, सोनिया पालीवाल, उमा पालीवाल, निधि, अनिता, कल्पना तथा प्रभा पालीवाल शामिल है।


वर्षा जनित बीमारियों से बचाव की अपील


स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि वर्षा के मौसम में बीमारियां फैलने का खतरा अधिक रहता है। इस मौसम में होने वाली बीमारियां खतरनाक साबित हो सकती है। इससे सावधानी बरतने की आवश्यकता है, लापरवाही जानलेवा हो सकती है।वर्षा के मौसम में होने वाली बीमरियां जैसे सर्दी, जुखाम, बुखार, मलेरिया, चिकनगुनिया, हैजा एवं टाइफाइड हो सकते है सर्दी, जुखाम, बुखार से बचने के लिए बारिश में ज्यादा देर तक न भीगे, भीगने से बचे, भीगने पर शरीर को साफ-कपड़े से पोछे तुरंत कपड़े बदले। मलेरिया से बचने के लिये अपने घर के आसपास गड्डा न होने दें, अगर गड्डा हो तो, उसमें पानी इकठा न होने दें। हैजा से बचने के लिए घर के आसपास सफाई रखें, गंदा पानी उपयोग में न लायें, पानी को छानकर या उबालकर उपयोग करें। टाइफाइड खतरनाक बीमारी में से एक है। यह संक्रमित जल व दूषित भोजन से होता है, इस बीमारी में तेज बुखार आता है एंव कई दिनों तक रहता है। इस बीमारी का संक्रमण रोगी के पित्ताशय में रहता है, टाइफाइड होने वाले रोगी से दूर रहना चाहिए और चिकित्सक से दवा लेनी चाहिए। विभाग ने आम जनता से अपील की है कि वर्षा के मौसम में होने वाली बीमारियों से बचाव जरूरी है। अगर बचाव न किया जाये तो यह खतरनाक हो सकती है। इसलिए कोई भी बीमारी होने पर चिकित्सक को अवश्य दिखायें, जिससे रोग की पहचान की जा सके।


शिशु जन्म के तुरंत बाद से 6 माह तक मां का दूध पिलाएं, बच्चों को तंदुरूस्त बनाए


जिला चिकित्सालय के पीएनसी वार्ड में पीएनसी माताओं एवं उनके परिजनों को स्तनपान के महत्व की जानकारी देते हुए जागरूकता पाम्पलेट का वितरित किए गए। जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने प्रसूता माताओं तथा उनके महिला परिजनों से कहा कि शिशु जन्म के तुरंत बाद से 6 माह तक मां का दूध पिलाएं और बच्च को तंदुरूस्त बनाए। प्रसव के 1 घंटे के भीतर नवजात शिशु को अपना गाढा, पीला, पौष्टिक दूध (कोलस्ट्रम) अवश्य पिलाएं। जन्म के तुरंत बाद से 6 माह तक शिशु को सिर्फ मां का दूध ही पिलाए। और 6 माह तक शिशु को पेय पदार्थ, पानी, घुट्टी इत्यादि न पिलाए। छ: माह की आयु के उपरांत स्तनपान के साथ-साथ शिशु के विकास के लिए उपयुक्त एवं पर्याप्त पूरक आहार दलिया, खिचडी, भाप में पके फल, खीर खिलाए। याद रखें मां का दूध ही शिशु का पूरा पोषण है और बीमारियो से बचाता है। आपात स्थिति जैसे दस्त, बुखार, इत्यादि में भी शिशु द्वारा स्तनपान जारी रखें।


नेशनल लोक अदालत का आयोजन 13  अगस्त को करणों के निराकरण के लिए जिले में कुल 24 खण्डपीठों का गठन


वर्ष की तृतीय नेशनल लोक अदालत का आयोजन प्रदेश भर में किया जावेगा। जिला एवं तहसील न्यायालय आष्टा, नसरूल्लागंज, बुदनी एवं इछावर में तृतीय नेशनल लोक अदालत का आयोजन 13 अगस्त 2022 को प्रधान जिला न्यायाधीष एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री आर.एन. चंद के निर्देशानुसार किया जावेगा। नेशनल लोक अदालत में न्यायालय में लंबित आपराधिक शमनीय प्रकरण, धारा 138 पराक्राम्य लिखित अधिनियम, क्लेम प्रकरण, विद्युत अधिनियम, वैवाहिक विवाद सम्बंधी व अन्य सिविल प्रकरण सहित कुल 3991 राजीनामा योग्य प्रकरण रखे गये है। विधुत अधिनियम, बैंक रिकवरी, जलकर एवं बी.एस.एन.एल. विभाग से संबंधित लगभग 8125 प्रीलिटिगेशन प्रकरण नेशनल लोक अदालत के समक्ष रखे जाएगें हैं। नेशनल लोक अदालत में अधिक से अधिक प्रकरणों के निराकरण के लिए सीहोर में 11, आष्टा में 05, नसरूल्लागंज में 04, बुदनी में 03 एवं इछावर में 01 खण्डपीठों  रहेगी। इस प्रकार कुल 24 खण्डपीठों का गठन किया गया है।                  


नेशनल लोक अदालत में विद्युत, बैंक व जलकर के प्रीलिटिगेशन प्रकरणों में भारी छूट

सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री मुकेश कुमार दांगी द्वारा बताया गया कि मध्य प्रदेश शासन उर्जा विभाग द्वारा विद्युत अधिनियम से संबंधित न्यायालय में लंबित व प्रीलिटिगेशन प्रकरणों में 13 अगस्त 2022 को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत के संबंध में छूट के निर्देश जारी किए गए हैं। न्यायालय में चलने वाले विद्युत चोरी के प्रकरणों में 20 प्रतिशत एवं संपूर्ण ब्याज की छूट एवं प्रीलिटिगेशन प्रकरणों में भी 30 प्रतिशत एवं संपूर्ण ब्याज की छूट रहेगी। ब्याज की छूट मात्र नेशनल लोक अदालत में समझौता करने पर ही राजी रहेगी। नगर पालिका से संबंधित जलकर के प्रकरणों में मध्य प्रदेश शासन नगरीय विकास एवं आवस विभाग द्वारा जारी निर्देशानुसार नियमानुसार छूट प्रदान की जावेगी, साथ ही बैंक रिकवरी के प्रकरणों में भी बैंकों द्वारा नियमानुसार छूट प्रदान की जावेगी।


लोक अदालत के लाभ:-

पक्षकारों के मध्य आपसी सद्भाव बढ़ता है, कटुता समाप्त होती है, समय, धन व श्रम की बचत होती है।  कोई भी पक्षकार हारता नही है दोनो पक्षकारों की जीत होती है। लोक अदालत मे न्याय शुल्क वापस हो जाता है।  लोक अदालत का आदेश या निर्णय अंतिम होता है, लोक अदालत के आदेश के विरूद्ध अपील नही होती। लोक अदालत में पक्षकारों के मध्य विवाद हमेशा के लिए समाप्त हो जाता है। वर्ष की तृतीय लोक अदालत 13 अगस्त में अपने प्रकरणों का निराकरण समझौता, सहमति के आधार पर कराया जाकर लोक अदालत का लाभ उठाने की अपील की जाती है। अधिक जानकारी के जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर एवं तहसील विधिक सेवा समिति आष्टा, नसरूल्लागंज, बुदनी एवं इछावर से सम्पर्क किया जा सकता है।


किसान कीटनाशक दवा का छिड़काव करें


जिले में खरीफ फसलो के अंतर्गत सोयाबीन की फसल सबसे अधिक क्षेत्र मे बोई गई है। वर्तमान में फसल 40 दिन की हो गई है। सोयाबीन की जल्दी पकने वाली वैरायटी में फूल आ गये है। अब कीटव्याधियों से सुरक्षा करना आवश्यक है। सोयाबीन एवं अन्य फसल में लगने वाले कीटो के लिए कीटनाशी दवा का छिड़काव करना आवश्यक है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने बताया कि सोयाबीन फसल में लगने वाले कीटो में तने की मक्खी के नियंत्रण के लिए कीटनाशक थायोमिथाक्सम + लेम्बडा सायहेलोथ्रिन (125 मि.ली प्रति हे.) का छिड़काव करें। पत्ती खाने वाले कीटो की सुरक्षा के लिए फूल आने से पहले हीसोयाबीन फसल में क्लोरइंट्रानिलिप्रोल 18.5 एस.सी. (150 मि.ली प्रति हे.) का छिड़काव करें। चक्र ग्रंग (गर्डल बीटल) के प्रभावी नियंत्रण हेतु साइक्लोप्रीड 21.7 एस.सी. (750 मि.ली प्रति हे.) या प्रोफेनोफॉस 50 ई.सी. (1250 मि.ली. प्रति हे.) या पूर्व मिश्रित बीटासायफ्लथ्रिन + इमिडाक्लोप्रीड (350 मि.ली. प्रति हे.) या पूर्व मिश्रित थायोमिथाक्सम + लेम्बडा सायहेलोथ्रिन (125 मि.ली प्रति हे.) का छिड़काव करें। फसल में जैविक नियंत्रण के लिए टी-आकार की खूंटी खेतो में लगावे ताकि कीटभक्षी पक्षी खुटियों पर बैठकर इल्लियों को खा सके । किसान भाईयों को यह भी सलाह दी जाती है कि वे अपनी फसलों का संवत् निगरानी करते रहे। कीटव्याधी के प्रकोप होने पर तत्काल कीटनाशक दवाओं का उपयोग करें। कीटनाशक दवाएं पंजीकृत विक्रेताओं से ही क्रय करें। क्रय करते समय पक्का बिल आवश्यक रूप से लेवे। अधिक जानकारी के लिए कृषि महाविद्यालय सीहोर एवं कृषि विज्ञान केन्द्र सेवनिया के वैज्ञानिक तथा अपने क्षेत्र के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से संपर्क करें।


हाई स्कूल में 3 विषय चयन की पात्रता


माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा शिक्षण-सत्र 2022-23 की हाई स्कूल परीक्षा के लिए विद्यार्थी को निर्धारित भाषा विषयों में से कोई तीन विषय का चयन करना होगा। नेशनल स्किल क्वालीफिकेशन फ्रेमवर्क विषय का चयन करने वाले विद्यार्थियों को निर्धारित भाषा विषयों में से कोई दो भाषा विषय का चयन करना होगा। चिल्ड्रन विथ स्पेशल नीड के विद्यार्थी गणित अथवा विज्ञान के स्थान पर चित्रकला अथवा गायन वादन अथवा तबला पखावज अथवा कंप्यूटर विषय में से कोई एक विषय ले सकेंगे। साथ ही ऐसे परीक्षार्थियों को तीन भाषा विषय में से दो भाषा विषय में छूट प्रदान की गई है। ऐसे परीक्षार्थी किसी एक भाषा विषय का चयन कर सकेंगे। इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए गए हैं। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थाओं में नियमित प्रवेश के लिए प्रवेश संबंधी मार्गदर्शिका पुस्तिका भी जारी की गई है।


बिजली चोरी की सूचना देने वाले को मिलेगा ईनाम


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा बिजली चोरी की रोकथाम के लिए इनाम योजना घोषित की है। अवैध उपयोग की सूचना देने पर निर्धारित शर्तों के अधीन पारितोषिक देने का प्रावधान है। सूचना के आधार पर राशि वसूली होने पर सफल सूचनाकर्ता को 10 प्रतिशत राशि का भुगतान किया जाएगा। इस राशि की अधिकतम सीमा नहीं है। बिजली के अवैध उपयोग, चोरी के संबंध में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कंपनी मुख्यालय एवं क्षेत्रीय मुख्यालयों के अलावा क्षेत्रीय महाप्रबंधकों को भी लिखित अथवा दूरभाष पर सूचना दी जा सकती है। सूचनाकर्ता की जानकारी गोपनीय रखने की जिम्मेदारी संबंधित अधिकारी की रहेगी। कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी को सूचनाकर्ता नहीं माना जाएगा। सूचनाकर्ता को प्रोत्साहन राशि का भुगतान कंपनी मुख्यालय से किया जाएगा। प्रोत्साहन राशि सीधे सूचनाकर्ता के बैंक खाते में जमा की जाएगी। प्रकरण बनाने एवं राशि वसूली करने वाले विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी ढाई प्रतिशत राशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी। कंपनी मुख्यालय में इस योजना के क्रियान्वयन के लिए विजिलेंस सेल गठित किया गया है। इस विजिलेंस सेल को भी सूचना भेजी जा सकती है।


गैर घरेलू विधुत कनेक्शन के लिए स्वैच्छिक आवेदन करें


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कहा है कि ऐसे उपभोक्ता जो अपने आवासीय परिसर में रेस्ट हाउस, गेस्ट हाउस, पेइंग गेस्ट, कोचिंग क्लासेस, ब्यूटी पार्लर आदि चलाते हैं, वे अपने प्रयोजन को घरेलू से गैर घरेलू (व्यवसायिक) श्रेणी में परिवर्तित करवा लें। विद्युत वितरण कंपनी के संबंधित कार्यालय में जाकर अथवा कंपनी पोर्टल portal.mpcz.in अथवा UPAY App अथवा Urjas portal से ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। कंपनी ने उपभोक्ताओं से यह भी अपील की है कि उपभोक्ता ने जिस प्रयोजन के लिए कनेक्शन लिया है, उसी के अनुसार विद्युत का उपभोग करें। उदाहरण के लिए यदि किसी उपभोक्ता ने घरेलू (लाइट और फैन) का कनेक्शन लिया है तो वे केवल उस परिसर को निवास के रूप में उपयोग करें। कंपनी ने कहा है कि सघन चैकिंग अभियान के दौरान किसी भी प्रकार की व्यवसायिक गतिविधि आवासीय परिसर में संचालित की जा रही है तो ऐसी गतिविधियों को गैर घरेलू प्रयोजन में माना जाएगा और संबंधित दोषी उपभोक्ता से जुर्माना वसूल किया जाएगा।


हर घर तिरंगा और स्वच्छता पखवाड़ा का कार्यक्रम आयोजित


हरू युवा केंद्र सीहोर @YuvaSehore के तत्वाधान में जिला युवा अधिकारी श्रीमती निक्की राठौर के निर्देश पर स्वयंसेवक मेघा माहेश्वरी द्वारा ग्राम शिकारपुर, हाई स्कूल ज्ञान ज्योति सरस्वती शिशु मंदिर शिकारपुर में स्वच्छता पखवाड़े के अंतर्गत संगोष्ठी शपथ एवं पौधारोपण कार्यक्रम करवाया गया जिसमें युवाओं ने स्वच्छता हेतु श्रमदान करने और पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लिया| साथ ही हर घर तिरंगा अभियान हेतु हर घर तिरंगा फहराने की ग्रामीणों से अपील की। इस अवसर पर स्कूल के प्रिंसिपल श्री राधेश्याम वर्मा, सरपंच सचिन वर्मा, अनिल मेवाड़ा ,अखिलेश वर्मा, जीवन वर्मा, जीना वर्मा उपस्थित रहे।


संकल्प नशा मुक्ति केन्द्र के तत्वाधान में किया गया, नशा मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन


sehore-news
सीहोर। शहर के सैकड़ाखेड़ी स्थित संकल्प नशा मुक्ति केन्द्र के तत्वाधान में नशा मुक्त अभियान-नशे से आजादी कार्यक्रम के अंतर्गत शुक्रवार को बड़ी संख्या में हितग्राहियों के द्वारा सामूहिक रूप से शपथ ग्रहण करते हुए नशे से मुक्ति रहने की प्रार्थना की। इस संबंध में जानकारी देते हुए केन्द्र के संचालक राहुल सिंह ने बताया कि नशा मुक्त अभियान-नशे से आजादी कार्यक्रम के अंतर्गत अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इससे पहले केन्द्र में नुक्कड नाटक, रैली, संकल्प समारोह, पेंटिंग आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया था। शुक्रवार को केन्द्र में इस अभियान के दौरान यहां पर मौजूद प्रभारी नटवर कुशवाहा ने कहा कि लोग अक्सर तनाव और विफलता से पीछा छुड़ाने के लिए नशे की लत का शिकार हो जाते हैं। इससे मुक्त होने के लिए हृदय की पवित्रता एवं विचारों की शुद्धता के साथ नशा मुक्ति अभियान एवं नशा मुक्ति परामर्श एवं पुनर्वास केंद्र बेहद जरूरी है। केन्द्र में हमारे द्वारा हितग्राहियों को नशे की मुक्ति दिलाए जाने की कांसलिंग की जाती है। जिसमें प्रेरित करना: मनोवैज्ञानिक यह काम बखूबी करते हैं। समझाने, रास्ता दिखाने और उत्साह बढ़ाकर असंभव से दिखने वाले काम को वे संभव बना सकते हैं। इससे मरीज को सीधे फायदा होता है। -नशा करने से रोकना: परिवार के लोग नशे के बुरे प्रभावों के बारे में बताकर नशे से दूर रहने के लिए किसी को मना सकते हैं। -जानकारी देकर: नशे के बुरे प्रभावों और इससे निकलने के रास्ते की जानकारी देकर अडिक्शन से बचाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि नशे की लत होना एक बीमारी है, जो किसी व्यक्ति के मस्तिष्क और व्यवहार को प्रभावित कर सकती है। कुछ पदार्थ जैसे शराब, गांजा और निकोटीन को भी नशे ही का एक रूप माना जाता है, जब कोई इन्सान इनका आदी हो जाता है। सामान्य शब्दों में कहा जाए तो एक ही गतिविधि में बार-बार लिप्त होने की ललक या खुशी पाने के लिए किसी पदार्थ का सेवन, लेकिन जिस बात से शरीर को नुकसान हो उसे ही व्यसन या लत कहा जाता है। इसको दूर करने के लिए सबसे पहले यहां पर आने वाले हितग्राही की संगति से उसको मुक्त कराया जाता है। 


भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ बगावत कर चुनाव लड़ने वाले जावर के भाजपा नेता तेजसिंह कप्तान एवं वर्षा मालवीय 6 साल के लिए पार्टी से हुए  निष्काषित,भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय ने की निष्कासन की कार्यवाही


सीहोर । आष्टा विधानसभा क्षेत्र की नगर परिषद जावर के नगर परिषद अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के चुनाव में आज भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी की घोषणा के बाद भी दो भाजपा नेताओं द्वारा बगावत कर अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ने के मामले को भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय ने इसे गम्भीर अनुशासनहीनता मानते हुए सीहोर जिला भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष श्री रवि मालवीय ने आज इन दोनों भाजपा नेताओं को 6 साल के लिए भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से निष्काषित किया है। भारतीय जनता पार्टी सीहोर जिला मीडिया प्रभारी सुशील संचेती ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि आज नगर परिषद जावर के सम्पन्न हुए चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने नगर परिषद जावर के अध्यक्ष पद के लिए मंजू वैद्य को एवं उपाध्यक्ष पद के लिये मधु ठाकुर को अपना अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया था। इन दोनों के अधिकृत प्रत्याशी घोषित किये जाने के बाद भी श्रीमति वर्षा विजेन्द्र मालवीय एवं तेजसिंह कप्तान (दोनों निवासी जावर) ने अधिकृत प्रत्याशी की घोषणा के बाद भी अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव लड़ा था। जो अनुशासनहीनता की परिधि में आता है। बगावत कर चुनाव लड़ने वाले इन दोनों भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं वर्षा मालवीय एवं तेजसिंह कप्तान को जिला भाजपा अध्यक्ष श्री रवि मालवीय ने आज 6 साल के लिये भाजपा की प्राथमिक सदस्यता एवं सभी दायित्वों से मुक्त कर निष्काषित कर दिया है।


प्रजापति समाज के तत्वाधान में मनाया गया भुजरिया का पर्व, आस्था और उत्साह के साथ निकाला गया भव्य चल समारोह


sehore-news
सीहोर। हर साल की तरह इस साल भी प्रजापति समाज के तत्वाधान में भुजरिया का पर्व आस्था और उत्साह के साथ मनाया जाएगा। शुक्रवार को समाज के द्वारा बड़ी संख्या में महिलाओं और समाजनों के द्वारा चल समारोह निकाला गया। जिसमें महिलाएं सिर पर भुजरिया लेकर चल रही थी, वहीं पुरुष चल समारोह के दौरान डंडे हाथों में लेकर ढोल-नगाड़ों पर अपने करतब कर रहे थे। सुबह से ही भुजरिया पर्व का सिलसिला चल रहा था। इस संबंध में जानकारी देते हुए प्रजापति समाज के अध्यक्ष विष्णु सम्राट प्रजापति ने बताया कि रक्षाबंधन के बाद भुजरिया मिलन समोराहों का जगह-जगह आयोजन किया गया। जिसमें धर्म के अनुसार घर-घर में भुजरियों का पूजन करने के बाद भुजरियों को मंदिरों पर ले जाकर भगवान को चढ़ाई गई। मोहल्ले में भुजरियों एक स्थान पर एकत्रित कर सुविधानुसार नदी आदि पर ले जाकर विसर्जन किया गया। गंज स्थित मंदिर पर भुजरिया एकत्रित कर उनका सामूहिक रूप पूजन कर ढोल-नगाड़ों के साथ गांव के मुख्य चौराहों से होते हुए नदी पर पर ले जाकर विसर्जन किया गया। नगर सहित देवस्थान पर भुजरियों को चढ़ाने के बाद घर-घर जाकर भुजरियों का आदान-प्रदान कर एक दूसरे से गले मिलकर अपने गिले-सिखवें दूर कियें तथा एक-दूसरे पर मेहरबानी बनाए रखने के लिए अशीर्वाद लिया। उन्होंने बताया कि यह अपनी भारतीय संस्कृति की परंपरा को बचाए रखे हुए उत्साह के साथ पर्व मनाया जाता है। क्षेत्र में अन्य समाज भी भुजरिया का पर्व मनाते है और चल समारोह निकाला जाता है। चल समारोह में योगेश प्रजापति, आकाश प्रजापति, अर्जुन प्रजापति रमेश प्रजापति राजेश प्रजापति तुलसीराम प्रजापति मनोज प्रजापति, हरि सिंह प्रजापति राहुल प्रजापति राजकुमार प्रजापति, रतिराम प्रजापति, कालूराम पटेल, नारायण प्रजापति, सुरेश प्रजापति एवं अन्य समाज के लोग सम्मिलित हुए। 


युवा गल्ला व्यवसाई प्रतीक शाह का असामयिक निधन, आज अंतिम यात्रा


सीहोर। वरिष्ठ गल्ला व्यापारी दिलीप शाह के पुत्र प्रतीक शाह उम्र 32 का आज शुक्रवार को हृदयाघात हो जाने से असामयिक देवलोक गमन हो गया है। प्रतीक शाह आज घर पर ही रक्षाबंधन का पर्व मना रहे थे सभी बहनें घर पर ही आई हुई थीं। रक्षाबंधन के बाद वह सभी भोजन कर रहे थे। इसके बाद प्रतीक को सीने में कुछ दर्द हुआ जिसे गैस संबंधी समस्या समझते हुए उन्होने इनो भी लिया। कुछ ही समय में वह बेहोंश होकर जमीन पर गिर पढ़े। प्रतीक शाह बहुत मिलन स्वभाव के धनि थे और मण्डी में अनेक व्यापारियों से उनके संबंध मधुर थे। उनके मित्रों की भी मण्डली थी। आज जिसने भी प्रतीक की असामयिक घटना सुनी लोग विश्वास नहीं कर सके। प्रतीक शाह अपने पीछे अपने माता पिता सहित बड़ी बहन रिद्धि शाह पत्नी पूनम शाह को छोड़ गए हैं।  आप राय चंद जी जैन पूर्व अध्यापक टैगोर क्रमांक वन के भतीजे थे। आप कांग्रेस नेता व गल्ला व्यापारी जयंत शाह के भतीजे थे। इनकी अंतिम यात्रा शनिवार दोपहर 1:00 बजे निज निवास वर्कशॉप रोड गल्ला मंडी सीहोर मंडी सब्जी मंडी विश्राम घांट के लिए निकलेगी।


हर घर तिरंगा अभियान के तहत जिलेभर में निकाली जा रही जनजागरूकता रैली


sehore-news
आजादी का अमृत महोत्सव अतंर्गत 11 से 17 अगस्त तक "हर घर तिरंगा" अभियान चलाया जा रहा है। अभियान को सफल बनाने एवं स्वतंत्रता सप्ताह में हर घर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए लोगो को जागरूक करने के उद्देश्य से जिलेभर में जन जागरूकता रैलियां आयोजित की जा रही है। जन जागरूकता रैलियों के माध्यम से जिले की सभी तहसीलो में स्कूल एवं कॉलेज के छात्र-छात्राओं, सामाजिक संगठनों, ग्राम विकास प्रफुस्टन समितियों सहित अन्य संगठनों तथा ग्रामवासियों द्वारा हर घर तिरंगा अभियान का प्रचार प्रसार कर नागरिकों को स्वतंत्रता सप्ताह में अपने घरों, दुकानों, सार्वजनिक संस्थानों, व्यक्तिगत प्रतिष्ठानों आदि में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।


जिले में  12 अगस्त को 05 व्यक्तियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव


जिले में 12 अगस्त को प्राप्त रिपोर्ट में 05 व्यक्तियों कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव केस की संख्या 42 हो गई है।   


मेरा संकल्प है कि प्रदेश में हम अनाथ शब्द नहीं रहने देंगे - मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • बच्चों अपने आप को कभी अकेला मत समझना, “मेरी राखी शिवराज मामा के घर” मनाने पहुँचे मुख्यमंत्री कोविड बाल कल्याण योजना से जुड़े बच्चे
  • मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बच्चों का लाड़-प्यार और आशीर्वाद के साथ किया स्वागत,  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बच्चों को किया प्रेरित

sehore-news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रेम, स्नेह और आत्मीयता का अद्भुत त्यौहार राखी हमें आश्वस्त करता है कि हम अकेले नहीं हैं। कोविड महामारी के दौरान कई बच्चों को माता-पिता अकेले छोड़ कर चले गए। पिछली दीवाली हमनें इन सब बच्चों के साथ मुख्यमंत्री निवास में मनाई थी। इस वर्ष हम राखी साथ मना रहे हैं। तुम्हारे मामा, राज्य सरकार और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आशीर्वाद आप सबके साथ है। मेरा यह संकल्प है कि प्रदेश में हम अनाथ शब्द नहीं रहने देंगे। बच्चों आप अपने आप को कभी अकेला मत समझना। दुनिया में बहुत से महापुरूष ऐसे हुए हैं, जिन्होंने बचपन में ही अपने माता-पिता को खो दिया और कई कठिनाइयों का सामना किया, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। जीवन में कठिनाइयों का सामना करते हुए उपलब्धियाँ अर्जित की और अपना नाम, कार्य तथा विचार स्थापित किए। मुख्यमंत्री श्री चौहान “मेरी राखी शिवराज मामा के घर” मनाने मुख्यमंत्री निवास आए बच्चों से चर्चा कर रहे थे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कोविड-19 बाल कल्याण योजना, बाल निकेतन, एसओएस ग्राम, आरुषि बालिका गृह, पश्चातवर्ती गृह और नित्य सेवा सोसायटी के बच्चे शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन बच्चों का लाड़-प्यार और आशीर्वाद के साथ स्वागत किया। मुख्यमंत्री निवास पधारे सभी बच्चों के हाथ में राष्ट्रीय ध्वज था। श्रीमती साधना सिंह, श्री जामवाल तथा श्री हितानंद शर्मा भी उपस्थित थे।  मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित कार्यक्रम में सीहोर जिले से सचिन रैकवाल, अंजली रैकवाल, अभय रैकवाल, कायनात, रियान, शीबा खान, प्रिया मालवीय, अर्पित, नीरज, मनतशा खान, सिदरा एवं अनस शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बच्चों को प्रेरित करते हुए कहा कि आप बड़े से बड़ा काम कर सकते हैं। हम ठान लें कि हमें क्या करना है। मेरा विश्वास है कि व्यक्ति जो सोचता है, उस दिशा में दृढ़ प्रतिज्ञ होकर निरंतर प्रयासरत करने से वह अपने विचार के अनुसार लक्ष्य प्राप्त करने में सफल होता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मन लगा कर पढ़ें और खेलें। प्रत्येक व्यक्ति में कोई न कोई प्रतिभा अवश्य होती है, उसे पहचानें और उसे निखारने का निरंतर प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता की पंक्तियाँ “कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती” का उल्लेख करते हुए कहा कि बच्चों कभी निराश मत होना, पढ़ो, लिखो, आगे बढ़ो, परिवार और प्रदेश का नाम रोशन करो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने “मेरी राखी शिवराज मामा के घर” मनाने आए बच्चों का निवास परिसर में फूल बरसा कर स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना संक्रमण में माता-पिता को खोने वाले बच्चों को राखी मनाने के लिए मुख्यमंत्री निवास आमंत्रित किया था। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए ऐसे व्यक्तियों के बारे में जानकारी दी, जिन्होंने किसी भी परिस्थिति में हार नहीं मानी इससे बच्चों में उत्साह, उमंग और विश्वास का संचार किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मिल्खा सिंह, स्वामी शिवांग, दीपा मलिक, इरावन सिंघल, अब्राहम लिंकन, स्टीफन हॉकिंग, रजनीकांत, स्टीव जॉब्स वाल्ट डिजनी, तीरंदाज राकेश कुमार, अरुणिमा सिन्हा और नेल्सन मंडेला की उपलब्धियों के बारे में बताया। निवास पधारे बच्चों का "चंदा मामा से प्यारा मेरा मामा” के गीत से स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान को बच्चों ने राखी बाँधी और मुख्यमंत्री ने सभी बच्चों को उपहार भेंट किए। उन्होंने सभी बच्चों के साथ भोजन किया तथा ग्रुप फोटो खिंचवाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बच्चों को 13 से 15 अगस्त तक "हर घर तिरंगा" अभियान में भाग लेने के लिए प्रेरित भी किया। कार्यक्रम में बताया गया कि वेंदातु ग्रुप सीहोर, विदिशा, रायसेन के 100 जरूरतमंद बच्चों को ऑनलाइन एप से शिक्षा प्रदान करेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालाघाट, जबलपुर, इंदौर, शिवपुरी के बच्चों से वर्चुअली संवाद भी किया। कार्यक्रम के आरंभ में बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियाँ दी और देशभक्ति एवं राखी गीत प्रस्तुत किए।


टाउन हॉल पर लगाए गए राष्ट्रीय ध्वज नागरिको हर घर तिरंगा फहराने कर रहे प्रेरित


आजादी का अमृत महोत्सव अतंर्गत 11 से 17 अगस्त तक "हर घर तिरंगा" अभियान चलाया जा रहा है। अभियान को सफल बनाने एवं स्वतंत्रता सप्ताह में हर घर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए लोगो को जागरूक करने के उद्देश्य से जिलेभर में जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है। सीहोर नगर में टाउन हॉल के सामने लगाए गए राष्ट्रीय ध्वज नगर में आकर्षण का केन्द्र बने हुए है। यह राष्ट्रीय ध्वज सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने के साथ ही लोगों को 13 से 15 अगस्त तक अपने घरों पर तिरंगा झंडा फहराने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: