जमशेदपुर : कैंटीन कर्मचारी की मृत्यु पर टिमकेन में हंगामा , दो घंटे कार्य बाधित - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 24 सितंबर 2022

जमशेदपुर : कैंटीन कर्मचारी की मृत्यु पर टिमकेन में हंगामा , दो घंटे कार्य बाधित

Canteen-worker-death-tata
विजय सिंह ,लाइव आर्यावर्त ,जमशेदपुर, जमशेदपुर के बारा ,एग्रिको स्थित बेयरिंग निर्माता अमेरिकन कंपनी टिमकेन इंडिया में शुक्रवार को एक कैंटीन कर्मचारी असित की अकस्मात् मृत्यु हो जाने पर उसके पारिवारिक सदस्यों और बस्ती निवासियों ने टिमकेन कंपनी के मुख्य प्रवेश द्वार पर मुआवजा की मांग को लेकर काफी हंगामा किया और लगभग 2 घंटे तक मुख्य प्रवेश द्वार को जाम कर दिया जिसके फलस्वरूप 'बी' शिफ्ट ड्यूटी में आने वाले कर्मचारियों को दो घंटे तक गेट के बाहर ही इंतजार करना पड़ा और इस दौरान उत्पादन भी ठप्प रहा। घटना के संदर्भ में बताया जाता है कि टिमकेन कंपनी कैंटीन संचालक प्रसाद राव ( टिमकेन के पूर्व अधिकारी) की ठेका कंपनी का कैंटीन कर्मचारी असित ( हेड कुक ) के शुक्रवार की सुबह 'ए' शिफ्ट ड्यूटी में आने के कुछ क्षण बाद चक्कर आने की वजह से गिर जाने के बाद टिमकेन परिसर में स्थित अस्पताल में कंपनी डॉक्टर द्वारा प्राथमिक उपचार के बाद एम्बुलेंस से आदित्यपुर स्थित ईएसआई अस्पताल भेज दिया गया जहाँ जांच के दौरान असित की मृत्यु हो गई। तत्पश्चात उसके परिजनों समेत बड़ी संख्या में बस्तीवासियों ने टिमकेन कंपनी आकर मुआवजा की मांग को लेकर कंपनी गेट जाम कर दिया। हंगामे को देखते हुए टिमकेन के सुरक्षा अधिकारी अवधेश कुमार सिंह ने पुलिस प्रशासन से मदद चाही लेकिन समय पर पुलिस बल नहीं उपलब्ध हो पाने से गेट पर मोर्चा संभाल रहे सुरक्षा अधिकारी श्री सिंह स्वयं काफी मशक्कत के बाद परिस्थिति में काबू पाने में सफल रहे। बाद में झारखंड के पूर्व मंत्री दुलाल भुईंया ,चन्दन यादव, आजसू के कन्हैया सिंह, असित के बेटे तथा बस्तीवासियों के ग्यारह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल द्वारा टिमकेन के मानव संसाधन व प्रशासकीय सहायक महाप्रबंधक दिनेश सिंह से मिल कर एक समझौते पर हस्ताक्षर करने के साथ ही गेट जाम समाप्त कर दिया गया। इंजीनियरिंग डिप्लोमा कर रहे असित के बेटे को कंपनी प्रबंधन ने भविष्य में जगह खाली होने पर नौकरी में प्राथमिकता देने का आश्वासन दिया है।  


कोई टिप्पणी नहीं: