अंग दान के लिए आवश्यक तंत्र तैयार करने का आग्रह किया धनखड़ ने - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 4 सितंबर 2022

अंग दान के लिए आवश्यक तंत्र तैयार करने का आग्रह किया धनखड़ ने

dhankhar-urged-to-prepare-necessary-mechanism-for-organ-donation
नयी दिल्ली 04 सितंबर, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने रविवार को धार्मिक गुरुओं और मीडिया से देह दान और अंग दान को ले कर समाज में फैली भ्रांतियों को दूर करने का आह्वान किया। श्री धनखड़ ने दधीचि देह दान समिति के एक सम्मेलन में और देह तथा अंग दान के लिए राष्ट्रीय अभियान के शुभारंभ के अवसर पर कहा कि देह दान और अंग दान एक संवेदनशील मसला है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि समिति ने देह और अंग दान के प्रति समाज में स्वीकार्यता बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास किए हैं, यह संदेश परिवार के स्तर तक पहुंचाना जरूरी है। इस अभियान में मीडिया और सोशल मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। हर मीडिया को समाज के हित के लिए इस संदेश का प्रसार करना चाहिए। उन्होंने अंग दान के लिए आवश्यक तंत्र स्थापित करने पर विशेष बल दिया। श्री धनखड़ ने लोगों से महर्षि दधीचि के जीवन और जीवन संदेश को अपने जीवन में अपनाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा,“इससे आपके जीवन में भी प्रसन्नता और संतोष आएगा तथा आप समाज के उद्धार के लिए भी सहयोग दे सकेंगे।” इस अवसर पर ऋषिकेश के परमार्थ निकेतन की साध्वी भगवती सरस्वती की ‘सकारात्मकता से संकल्प विजय का’ नामक पुस्तक का विमोचन किया गया। विमोचन के बाद, साध्वी ने पुस्तक की पहली प्रति उपराष्ट्रपति को भेंट की।

कोई टिप्पणी नहीं: