बिहार : अमित शाह की रैली से जदयू मे घबराहट क्यो? - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 1 सितंबर 2022

बिहार : अमित शाह की रैली से जदयू मे घबराहट क्यो?

upendra-chauhan
पटना 31 अगस्त, राष्ट्रीय सामाजिक न्याय मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र चौहान, प्रधान महासचिव नरेश महतो एव राष्ट्रीय प्रवक्ता नीलमणि पटेल ने संयुक्त बयान जारी कर जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा से पुछा है कि गृह मंत्री अमित शाह का बिहार मे सीमांचल के पूर्णिया मे प्रस्तावित रैली को ले जदयू मे बेचैनी किस बात को लेकर है। कही कुशवाहा जी को गृह मंत्री अमित शाह के बढते जनाधार व उनकी लोकप्रियता से भारतीय जनता पार्टी की बढते प्रभुत्व से जदयू के खिसकती हुई जनाधार की चिन्ता तो नही सता रही है। जनता दल यु का बिहार की राजनीति से सफाया होने का समय आ गया है। नीतीश जी के कथनी और करनी मे व्यापक अंतर को बिहार की जनता भलि भाति समझ चुकी है। इसीलिए बिहार की जनता चुनाव मे महागठबंधन को सबक सिखाने के लिए तैयार बैठी है। मोर्चा नेताओं ने कहा कि भाजपा विकासवाद की राजनीति करने मे विश्वास रखती है। सीमांचल का इलाका आज भी काफी पिछड़ा हुआ है। पूर्णिया सीमांचल का एक अंग है जहा का न केवल प्रति व्यक्ति आय कम है बल्कि गरीबी और पिछड़ेपन की त्रासदी से आज भी पुरा इलाका जूझ रहा है। गृह मंत्री अमित शाह इसी पिछड़ेपन को दुर करने एव सीमांचल के लोगो का सम्पूर्ण विकास के लिए पूर्णिया के दौरे पर जायेगे। ताकि आने वाले समय मे सीमांचल का सम्पूर्ण विकास हो और केन्द्र प्रायोजित योजनाओं का वहा के लोगो को लाभ मिल सके।

कोई टिप्पणी नहीं: