बिहार : 'पैगाम-ए-मोहब्बत' नाम से कोरस का होने जा रहा पांचवा नाट्योत्सव - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 22 सितंबर 2022

बिहार : 'पैगाम-ए-मोहब्बत' नाम से कोरस का होने जा रहा पांचवा नाट्योत्सव

patna-art-news
पटना. पटना के कालिदास रंगालय में सांस्कृतिक संस्था 'कोरस' के बैनर तले आगामी 23–24–25 सितंबर,2022 को तीन दिवसीय "पांचवां नाट्योत्सव" आयोजित करने जा रहा है.जिसमें कोरस के साथ-साथ दिल्ली और बैंगलोर की टीमें भी शामिल होगीं.  'कोरस' के मीडिया प्रभारी, मात्सी शरण ने कहा कि 'पैग़ाम-ए-मोहब्बत' की थीम पर तीन दिवसीय नाट्योत्सव का आयोजन है.उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब मज़हब के नाम पर नफरत और उन्माद फैलाया जा रहा हो,कोरस का नाट्योत्सव मोहब्बत का पैगाम लेकर आ रहा है.रंगमंच ने इतिहास के अनेक ऐसे अंधेरे दौर में अहम भूमिकाएं निभाई है.इसी कड़ी में एक छोटा प्रयास 'पैगाम-ए-मोहब्बत' नाम से कोरस का होने जा रहा पांचवा नाट्योत्सव भी है.23 से 25 सितंबर तक पटना के कालिदास रंगालय में हो रहा यह आयोजन अनेक खूबसूरत नाट्य प्रस्तुतियों के साथ दर्शकों से रूबरू होगा. उन्होंने कहा कि उद्घाटनकर्ता है स्त्रीवादी विमर्शकार व कवि सविता सिंह हैं. उद्घाटन सत्र 23 सितंबर को है. शाम 6:15 से कोरस गायन है.शाम 6:45 संतिम्मी लव पुराण (एकल अभियान) स्क्रिप्ट व अभिनय डी सरस्वती(बैंगलोर) हैं.24 सितंबर के शाम 6:00 से नमक नाटक का मंचन.रजिया सज्जाद ज़हीर की कहानी पर आधारित कोरस की प्रस्तुति.निर्देशक मात्सी शरण हैं.6:30 से दास्तान -ए-चौबोली (दास्तानगोई)नुसरत अंसारी,पूनम गिरधानी (दिल्ली).25 सितंबर की शाम 6:30 बजे से तीसरा आदमी भंडारी की कहानी पर आधारित कोरस की प्रस्तुति नाट्य रूपांतर व निर्देशन समता राय के द्वारा.इसका समापन 7:40 मिनट पर होगा. उन्होंने कहा कि विस्तृत जानकारी देने और बातचीत के लिए कालिदास रंगालय, गाँधी मैदान में 22 सितंबर को दोपहर 3 बजे एक जरूरी प्रेस–वार्ता रखी गयी है. इस वार्ता को ‘कोरस के पांचवें नाट्योत्सव’ की स्वगताधक्ष्य प्रीति सिन्हा( संपादक, फिलहाल) और विशेष मेहमान कोरस की अतिथि टीम की कलाकार 'डी सरस्वती', जो की कन्नड़ रंगमंच की प्रख्यात रंगकर्मी है, वो भी संबोधित करेंगी.

कोई टिप्पणी नहीं: