नवजागरण का आयाम है स्वतंत्रता संग्राम : पद्मश्री विजयदत्त श्रीधर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 13 सितंबर 2022

नवजागरण का आयाम है स्वतंत्रता संग्राम : पद्मश्री विजयदत्त श्रीधर

freedom-fight
स्वाधीनता के अमृत महोत्सव कार्यक्रम में आयोजित निबंध लेखन, भाषण, चित्रकला फैंसीड्रेस आदि प्रतियोगिताओं के समापन अवसर पर शास. नर्मदा महाविद्यालय में पद्मश्री विजयदत्त श्रीधर, राष्ट्रभाषा प्रचार समिति भोपाल के मंत्री संचालक श्री कैलाशचन्द्र पंत एवं निवर्तमान अपर मुख्य सचिव म.प्र. शासन श्री मनोज श्रीवास्तव को शाल श्रीफल से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा सरस्वती पूजन से हुआ।  प्राचार्य डॉ. ओ. एन. चौबे ने स्वागत उद्बोधन देकर अतिथियों का स्वागत किया। हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. के.जी. मिश्र ने अतिथियों के सामाजिक साहित्यिक प्रदेय पर प्रकाश डाला। विशिष्ट अतिथि मनोज श्रीवास्तव ने स्वाधीनता के अमृत महोत्सव की आवश्यकता रेखांकित की जबकि मुख्य अतिथि पद्मश्री विजयदत्त श्रीधर कहा कि हमारा स्वाधीनता संग्राम नवजागरण का महत्वपूर्ण आयाम है। समाज सुधार राजनैतिक स्वतंत्रता आदि इसके अन्य पक्ष हैं। अध्यक्षीय उदबोधन देते हुए वरिष्ठ पत्रकार कैलाशचंद्र पंत ने व्यक्तिगत जीवन में हिन्दी के प्रयोग की आवश्यकता बतायी। कार्यक्रम का संचालन एवं आभार प्रदर्शन डॉ. हंसा व्यास ने किया। इस अवसर पर समस्त महाविद्यालय परिवार एवं बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: