जमशेदपुर : ज़नाबादी के बीच वीरान पड़ा टिस्को क्वार्टर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 12 सितंबर 2022

जमशेदपुर : ज़नाबादी के बीच वीरान पड़ा टिस्को क्वार्टर

tata-home
जमशेदपुर, विजय सिंह, जमशेदपुर शहर के ह्रदय स्थल कहे जाने वाले बिष्टुपुर इलाके में टाटा स्टील द्वारा अपने कर्मचारियों ,अधिकारियों को दिए जाने वाले कंपनी क्वार्टर की श्रृंखला में ' के -रोड ' स्थित क्वार्टर नंबर एच -5 / 50 अब अपनी वीरानी पर हैरानी का सबब ओढ़े एक बार फिर से गुलज़ार होने की राह ताक रहा है।कई वर्षों तक के -रोड का यह क्वार्टर  कोल्हान यूनिवर्सिटी के पूर्व कार्यकारी कुलपति व अरका जैन यूनिवर्सिटी के वर्तमान कुलपति डॉ एस एस रज़ी व जमशेदपुर महिला विश्वविद्यालय की उनकी व्याख्याता पत्नी का निवास स्थान रहा है। उजड़ा बगीचा ,बाउंडरी की टूटी तारें व बेतरतीब पेड़ों की लटकती टहनियां रात के घुप अँधेरे में ही नहीं दिन के चमचमाते सूर्य की रोशनी के बीच भी एक उम्दा 'यूरिनेशन प्लेस' बन चुका है। यदि समय रहते संबंधित अधिकारी या विभाग ने संज्ञान नहीं लिया तो संभवतः निर्दिष्ट कंपनी क्वार्टर वीरानी से परेशान होकर सुलभ का मार्ग न अपना ले। कई बार उसे देखकर तो लगता है जैसे कहना चाह रहा हो - " खुद हैरान हूँ मैं अपने सब्र का पैमाना देखकर ,तूने कभी याद न किया और मैंने कभी इंतजार नहीं छोड़ा। "

कोई टिप्पणी नहीं: