ब्रिटेन स्थित वन वेब के 36 उपग्रहों को प्रक्षेपित करेगा इसरो - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 20 सितंबर 2022

ब्रिटेन स्थित वन वेब के 36 उपग्रहों को प्रक्षेपित करेगा इसरो

isro-to-launch-36-satellites-of-uk-based-one-webb
चेन्नई, 20 सितम्बर, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ब्रिटेन स्थित वन वेब के 36 उपग्रहों को एक साथ प्रक्षेपित करेगा। इसरो के सूत्रों ने बताया कि उपग्रह की अनिवार्य जांच आदि का काम पूरा होने के बाद प्रक्षेपण की तारीख शीघ्र ही घोषित की जायेगी। इस व्यावसायिक प्रक्षेपण के लिए इसरो अपने घरेलू भारी रॉकेट जीएसएलवी एमकेआई तीन का उपयोग करेगा और इन्हे श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से छोड़ा जायेगा। वन वेब ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक बयान में कहा कि सभी 36 सैटेलाइट मंगलवार को श्रीहरिकोटा के स्पेसपोर्ट पहुंच गये। वैश्विक स्तर पर परिवर्तनकारी सम्पर्क देने की दृष्टि के साथ यह प्रक्षेपण वन वेब के लिए महत्वपूर्ण क्षण होने के साथ साथ अगले साल वैश्विक कवरेज देने की दिशा महत्वपूर्ण कदम होगा। सैटेलाइट कम्युनिकेशन उद्योग में वनवेब ने प्रमुख भागीदारों के साथ अपना प्रक्षेपण कार्यक्रम फिर से शुरू किया और कंपनी की सेवाएं पहले से ही अलास्का, कनाडा, यूके और आर्कटिक क्षेत्र में उपलब्ध है। वनवेब में भारत का भारती एंटरप्राइजेज, एक प्रमुख निवेशक और शेयरधारक है। वनवेब ने इस साल ह्यूजेस कम्युनिकेशंस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एचसीआईपीएल)के साथ एक वितरण साझेदारी की घोषणा की थी। बयान में कहा गया कि वनवेब कस्बों, गांवों और दूर दराज के दुर्गम इलाकों जोड़ेगा। इस प्रकार कम्पनी भारत भर में डिजिटल विभाजन को पाटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं: