हिमाचल में कामधेनु दूध दो रुपये प्रति लीटर मंहगा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 1 सितंबर 2022

हिमाचल में कामधेनु दूध दो रुपये प्रति लीटर मंहगा

kamdhenu-milk-costlier-by-rs-2-per-liter-in-himachal
हमीरपुर, 01 सितंबर, हिमाचल प्रदेश में कामधेनु दूध गुरुवार से दो रुपये प्रति लीटर मंहगा हो गया। यह जानकारी उत्पादक-एवं-विक्रेता संघ ने दी। कामधेनु हितकारी मंच के नानक सिंह के अनुसार दुग्ध उत्पादक परिवारों के हितों को ध्यान में रखते हुए संस्थान ने यह निर्णय लिया है। गाय के दूध के उत्पादक एवं विक्रेता ने इससे पहले तीन मार्च को दूध के दाम में दो रुपए प्रति लीटर की वृद्धि की थी। वेरका कंपनी ने 19 अगस्त को राज्य में दूध के दम में दो रुपए प्रति लीटर की वृद्धि की थी। श्री सिंह ने कहा कि गायों को खिलाने के लिए कुट्टी और खल की कीमतों में वृद्धि के कारण संगठन को दूध के दाम बढ़ाने के लिए मजबूर होना पड़ा। पूरे हिमाचल प्रदेश में दूध की आपूर्ति कामधेनु संस्था द्वारा की जाती है। इस दूध को बिलासपुर, हमीरपुर, मंडी, कुल्लू, सोलन, शिमला जिलों के साथ चंडीगढ़ में भी पहुंचाया जाता है। इससे पहले कामधेनु दूध हिमाचल प्रदेश के निचले इलाकों जैसे बिलासपुर, हमीरपुर में 52 रुपये प्रति लीटर मिल रहा था जबकि पहाड़ी इलाकों जैसे शिमला, कुल्लू, मंडी और सोलन में इसकी कीमत 54 रुपये प्रति लीटर थी। बिलासपुर और हमीरपुर में आज से गाय का दूध 54 रुपये प्रति लीटर, जबकि राज्य के अन्य हिस्सों में 56 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। कामधेनु संस्था से राज्य के 6,000 परिवार जुड़े हुए हैं। संस्थान इन परिवारों से लगभग प्रतिदिन 40,000 लीटर दूध एकत्रित करती है। 

कोई टिप्पणी नहीं: