विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 06 सितंबर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 6 सितंबर 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 06 सितंबर

केंद्रीय दल की उपस्थिति में समीक्षा बैठक सम्पन्न, हर रोज 55 लीटर हर व्यक्ति को जल मिले


vidisha-news
कलेक्टर श्री उमाश्ांकर भार्गव की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित समीक्षा बैठक में जिले के प्रत्येक नागरिक को हर रोज 55 लीटर जल की उपलब्धता सुनिश्चित कराने हेतु क्रियान्वित किए जाने वाले प्रबंधों की समीक्षा की गई है। एनआईसी के व्हीसी कक्ष में आयोजित उक्त समीक्षा बैठक में केन्द्रीय व राज्य प्रतिनिधि शामिल हुए उनके द्वारा आवश्यक सुझावों से अवगत कराया गया है। बैठक में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार में एडिशनल एडवाइजर डॉक्टर राजशेखर, राष्ट्रीय एक्सपर्ट, सीनियर इंफ्रास्ट्रक्चर स्पेशलिस्ट श्री मनोज गुप्ता के अलावा भोपाल से एनआईएच प्रमुख एवं वैज्ञानिक श्री रवि गलकटे, केंद्रीय भू-जल बोर्ड के रीजनल डायरेक्टर श्री राणा चटर्जी तथा केंद्रीय भू-जल बोर्ड के वैज्ञानिक श्री राकेश सिंह तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग भोपाल मण्डल के अधीक्षण यंत्री श्री सुबोध जैन के द्वारा आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में विदिशा जिले की भू-गर्भीय जल की वर्तमान स्तिथि पर विस्तार से चर्चा कर आवश्यक सुझावों से अवगत कराया गया है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि विदिशा जिले में सभी घरों तक नल से जल पहुंचे के लिए रणनीति अनुसार कार्यों का क्रियान्वयन किया जा रहा है। सतह जल भण्डारण में पेयजल आपूर्ति के लिए स्टॉक रखने के निर्देश प्रसारित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में हलाली बांध में ही यह व्यवस्था थी। इसके पश्चात सगड़ के माध्यम से जल मिशन तहत हर घर नल जल पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। जिले में निर्माणाधीन तीन बांध, हिनोथा, कोठा बैराज व टैम में भी समूह नल जल योजना के लिए जल आरक्षित करने के प्रावधान सुनिश्चित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि विदिशा जिले में जल स्त्रोंतों के रिचार्ज करने के प्रबंध क्रियान्वित किए जा रहे हैं किन्तु जल स्तर लगातार नीचे जाने से ग्रीष्मकाल में अनेक जल स्त्रोत जल विहीन हो जाते हैं इस कारण से निर्धारित मापदण्ड के अनुरूप जल की आपूर्ति सुनिश्चित नहीं हो पाती है। जल जीवन मिशन अंतर्गत तैयार एवं क्रियान्वित की जा रही नल जल योजनाओं में 865 ग्रामों में पर्याप्त आवक क्षमता के भू-जल स्रोत प्राप्त नहीं होने के कारण 55 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन के मान से योजनाओं का क्रियान्वयन सम्भव नहीं होने की स्थिति में अन्य विकल्पों के सुझाव पर चर्चा हुई। जहां 55 लीटर से कम पेयजल प्राप्त हो सकेगा। उन ग्रामों में भी योजना का क्रियान्वयन किया जाए एवं योजनाओं को चिरस्थाई बनाने हेतु सतही स्रोत आधारित योजनाओं से जोड़ दिया जाए। कलेक्टर विदिशा द्वारा जिले मे खेती के पैटर्न एवं फसलों के प्रकार पर भी बात रखी गई। उनके द्वारा जिले के समस्याग्रस्त ग्रामों की नल-जल योजनाओं के लिए सतही स्रोत टेम बांध, कोठा बैराज, हिनोता बांध पर आधारित एवं जल निगम द्वारा प्रस्तावित दीर्घकालिक योजना की स्वीकृति एवं क्रियान्वयन पर भी चर्चा की गई। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री संतोष कुमार साल्वे, महाप्रबंधक जल निगम भोपाल श्री अजय दिवाकर, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग, सहायक यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, जल संसाधन विभाग एवं ग्रामीण यंत्रिकी सेवा उपस्थित रहे। बैठक के पश्चात लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों साथ केंद्रीय दल द्वारा लटेरी विकासखंड के पेयजल समस्याग्रस्त ग्रामों का भ्रमण भी किया गया है।


जनसुनवाई कार्यक्रम में 90 आवेदन प्राप्त हुए मौके पर 25 का निराकरण


vidisha-news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के मार्गदर्शन में नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम में 90 आवेदकों ने आवेदन प्रस्तुत कर अपनी व्यक्तिगत एवं सार्वजनिक समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित कराया। डिप्टी कलेक्टर एवं  जनसुनवाई कार्यक्रम के नोडल अधिकारी श्रीमती आरती यादव, एसडीएम गोपाल सिंह वर्मा, डिप्टी कलेक्टर हर्षल चौधरी के अलावा अन्य विभागों के अधिकारियों ने आवेदकों से आवेदन प्राप्ति के उपरांत निराकरण की कार्रवाई की गई है।


अन्न उत्सव कार्यक्रम का आयोजन आज


लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत प्रत्येक माह की सात तारीख को उचित मूल्य दुकानों पर अन्न उत्सव कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा अन्न उत्सव आयोजन निर्धारित मापदण्डों के अनुसार जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में हो इसके लिए प्रत्येक उचित मूल्य की दुकान के लिए एक-एक नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया गया है। जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि 07 से 09 तारीख तक हर माह अन्न उत्सव जिले की सभी 571 शासकीय उचित मूल्य दुकानों पर आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम के पूर्व समस्त शासकीय उचित मूल्य दुकानों पर साफ-सफाई पर विशेष बल दिया जाएगा। आयोजन में जनप्रतिनिधियों एवं सहकारिता समिति के सम्मानीय सदस्यों को भी आमंत्रित किया जाएगा। गौरलतब हो कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अन्तर्गत सम्मिलित पात्र परिवारों को रियायती दर पर नियमित एवं पीएमजीकेएवाय का निशुल्क खाद्यान्न उचित मूल्य दुकानों से शासकीय कर्मचारियों की उपस्थिति में प्रदाय किया जा रहा है। क्रियान्वित व्यवस्था की मॉनिटरिंग के लिए मध्यप्रदेश स्टेट सिविल सप्लाईज कॉर्पोरेशन के महाप्रबंधक श्री केके श्रीवास्तव को नियुक्त किया गया है।


जिले में बाल श्रम कहीं ना हो की मॉनिटरिंग व्यवस्था क्रियान्वित करें


vidisha-news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक में सदस्यों व विभागों के अधिकारियों से कहा कि जिले में कहीं भी बाल श्रम ना हो इसके लिए क्रॉस मॉनिटरिंग की व्यवस्था क्रियान्वित की जाए। उन्होंने जन जागरूकता कार्यक्रमों पर बल देते हुए विभागों के अधिकारियों से कहा कि उन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दें जहां बाल श्रम होने की संभावना होती है। उन्होंने सूचना तंत्र के उन्नयन पर बल देते हुए कहा कि आमजनों के द्वारा प्राप्त होने वाली जानकारियों का निरीक्षण अवश्य किया जाए। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित इस बैठक में समिति के सदस्यों के अलावा पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट, महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश जैन समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश जैन ने जिला बाल संरक्षण से संबंधित किशोर न्याय बोर्ड में लंबित प्रकरणों की जानकारियां प्रस्तुत कीं। किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य श्री मनु श्रीवास्तव ने बताया कि बासौदा एवं त्यौंदा क्षेत्र में सर्वाधित विधि विवादित बालकों के प्रकरण प्राप्त हुए हैं। जिसका मुख्य कारण क्षेत्र में नशे की सामग्री की तस्करी तथा बच्चों का नशे में लिप्त होना है। वर्तमान में बाल कल्याण समिति के द्वारा 186 बच्चों को स्पांसरशिप से लाभान्वित किया जा रहा है तथा जिले में शेष 261 प्रकरणों हेतु नवीन दिशा निर्देशों की जानकारियों से अवगत कराया गया है। बैठक में मुख्यमंत्री बाल आशीर्वाद योजना से लाभान्वित किए जाने की बात पर भी बल दिया गया है। बैठक में चाईल्ड लाईन द्वारा बाल श्रम की समस्याओं से अवगत कराया गया। तत्संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश विभागों के अधिकारियों को मौके पर कलेक्टर द्वारा दिए गए हैं।


नयी शिक्षा नीति में शिक्षक की भूमिका विषय पर वेबिनार का आयोजन


vidisha-news
शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय, विदिशा में मध्यप्रदेश शासन एवं विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के निर्देश अनुसार शिक्षक पर्व के कार्यक्रमों के क्रम में नयी शिक्षा नीति में शिक्षक की भूमिका विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ मंजू जैन ने कहा कि नयी शिक्षा नीति एक नयी पहल है, इसलिए शिक्षकों की भूमिका में भी नयापन आया है। इसे जानने-समझने के लिए यह वेबिनार उपयोगी होगा। मुख्य वक्ताओं में दिल्ली विश्वविद्यालय की शोधार्थी डॉ रितु यादव ने नयी शिक्षा नीति पर विस्तार से चर्चा करते हुए शिक्षकों के महत्त्व पर प्रकाश डाला। मनीष दुबे, सहायक प्राध्यापक शासकीय एसजीएस महाविद्यालय गंजबासोदा ने शिक्षक को नये बदलावों के लिए भूमि तैयार करने की बात की। उन्होंने शिक्षकों को शिक्षा व्यवस्था के केंद्र के रूप में देखा। शासकीय एलबीएस महाविद्यालय सिरोंज से जुड़े सहायक प्राध्यापक भागवत सिंह पाल ने नयी शिक्षा नीति के आलोक में शिक्षकों के उत्तरदायित्व और कर्तव्यों को स्पष्ट किया। कार्यक्रम का संचालन प्रो रवि रंजन ने किया एवं प्रो विनयमणि त्रिपाठी ने तकनीकी सहायता प्रदान की। शासन के आदेशानुसार आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत इसी दिन निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। प्रतिभागियों ने भारत की स्वतंत्रता में महिलाओं की भूमिका विषय पर निबंध लिखे। इस कार्यक्रम का आयोजन डॉ सीमा चक्रवर्ती ने किया। नितिन झा, दिव्या सक्सेना, रमाकांत शाह, कृष्ण कुमार के साथ महाविद्यालय के सभी प्राध्यापकों ने इसमें सक्रिय सहयोग किया।

कोई टिप्पणी नहीं: