बिहार : जॉबलेस चायवाली है रीता कुमारी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 11 अक्तूबर 2022

बिहार : जॉबलेस चायवाली है रीता कुमारी

Jobless-tea-seller-rita-kumari
पटना. आप पान खाते का हैं तो क्यों नहीं पान का फ्लेवर वाला चाय पीने के लिए 'जॉबलेस चायवाली' के पास आ जाते हैं.Sociology houners में ग्रेजुएट रीता कुमारी ने नवीन पॉलिटेक्निक पाटलिपुत्र के द्वार से कुछ दूरी पर वाली    'जॉबलेस चायवाली' ने स्टॉल सजा रखी है. अब देर किस बात की आइए पानवाला चाय का लुफ्त उठाने.आप आए और अपने दोस्तों को भी साथ लाए.यहां छह प्रकार की वैरायटी टी उपलब्ध है.बाई मैं रीता कुमारी आपका इंतजार कर रही हूं.  बिहार में महागठबंधन की सरकार है.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीस लाख बेरोजगारों को नौकरी या रोजगार देने की घोषण कर रखी है.इसके पहले जब तेजस्वी प्रसाद यादव नेता प्रतिपक्ष थे,तब दस लाख नौकरी देने के दावे करते थे.वह भी मुख्यमंत्री बनते ही पहले ही दस्तख़त कर देंगे. उपमुख्यमंत्री समेत पांच विभागों के मंत्री हैं. बेरोजगारों की उम्मीद पर खरा नहीं उतरे.जॉबलेस चायवाली रीता कुमारी कहती हैं कि जमीनी हकीकत कुछ और ही है. कुर्जी-पटना रेलवे मार्ग पर स्थित है नवीन पॉलिटेक्निक पाटलिपुत्र.इसी के बगल में ग्रेजुएट प्रियंका गुप्ता की तरह ही रीता कुमारी भी चाय बेंचने लगी है.जॉबलेस चायवाली रीता कुमारी कहती है कि राजधानी पटना में इंद्रपुरी  रोड जीरो है वहीं पर रहती हूं.छपरा के निवासी अमीत कुमार के साथ विवाह हुआ है.दो बच्चे है.रीता कहती है हमदोनों ग्रेजुएट है.ढंग की नौकरी तलाश किये.मगर बढ़ती मंहगाई की चुनौती स्वीकार करने लायक वेतन नहीं मिल रहा था.आठ-नौ हजार रू.की नौकरी और ऊपर से विभिन्न तरह की पाबंदियों के कारण नौकरी को तिजांजलि दे दी. नौकरी की तलाश करके थकहार करके Sociology houners में ग्रेजुएट रीता कुमारी को नौकरी नहीं मिली.वह करती है कि दो सालों से टी स्टॉल लगाने का सपना देख रही थीं.आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण रीता कुमारी स्टॉल  नहीं लगा सकी.आगे कहती है मेरे ख्वाब को अर्थशास्त्र में ग्रेजुएट प्रियंका गुप्ता धरती पर उतार सकी.वह कहती है कि एक हफ्ता से टी स्टॉल लगाने लगी.पांच हजार रू.खर्च की है. मालूम हो कि आज कल जब भी चाय का जिक्र होता है तो  जुबान पर प्रियंका गुप्ता ग्रेजुएट चायवाली का नाम जरूर आता है.प्रियंका गुप्ता की चाय की दुकान पर  कुल्हड़ चाय, मसाला चाय, पान चाय और चॉकलेट चाय आदि मिलती है.  उसी तरह रीता कुमारी ने भी कुल्हड़ चाय 10,मशाला चाय 15,पान चाय 15,चोकोलेट चाय 20,रोज चाय 20,कुकिस चाय 5 और इंडियन सोल्जर को फ्री चाय देती हैं.सुबह 6:00 से 11:00 बजे तक फिर  4:00 से 10:00 बजे तक खोलती है.       

कोई टिप्पणी नहीं: