मधुबनी : छठव्रतियों के बीच पूजन सामग्री का हुआ वितरण, चेहरे पर दिखी ख़ुशी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 28 अक्तूबर 2022

मधुबनी : छठव्रतियों के बीच पूजन सामग्री का हुआ वितरण, चेहरे पर दिखी ख़ुशी

Chhath-distribution-madhubani
जयनगर/मधुबनी, महापर्व छठ पूजा के लिए जयनगर में छठ पूजन सामग्री व फल का वितरण किया गया। जयनगर क्षेत्र में पिछले 3 साल से लगातार हर साल माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति के तत्वाधान में छठ का मौके पर व्रतियों के बीच फल व अन्य पूजा सामग्री का वितरण होता है। इस दौरान आज माँ अन्नपूर्णा कम्युनिटी किचन परिसर में 101 व्रतियों के बीच फल व पूजन सामग्री बांटी गई। इस मौके पर निवार्तमान मुख्य पार्षद कैलाश पासवान, अनिल बैरोलिआ, दीपू साह, उद्धव कुंवर, दिनेश पुर्वे, मनीष कारक, अरविन्द तिवारी के अलावा दर्जनों बुद्धिजीवी एवं गणमान्य लोग मौजूद रहे। वहीँ, संस्था के विकास चंद्रा, हरेराम चौधरी, गोविन्द जोशी, प्रदीप नायक, संजय महतो, विवेक सूरी, प्रथम कुमार, शंकर यादव, शिव कुमार, अजय सिंह, सुनील कर्ण, पप्पू पुर्वे, संतोष शर्मा, सुमित कुमार राउत एवं  अन्य कई सदस्य मौजूद रहे। इस मौके पर संरक्षक डॉ. सुनील कुमार राउत ने बताया कि छठ पूजा को लेकर पूरे बिहार ही नहीं देश भर में हर्ष का माहौल है। छठ पूजा की महत्ता से हम सब वाकिफ हैं। आज यह पर्व पूरे विश्व में पहुंच गया है। आज इस मौके पर पूजन व फल सामग्री वितरण के दौरान व्रतियों ने उनका आभार व्यक्त किया। वहीँ, समिति के मुख्य संयोजक अमित कुमार राउत ने बताया कि चार दिनों तक चलनेवाले लोक आस्था के इस त्योहार में समाज के हर तबके की श्रद्धा और आस्था है, वह चाहे आमिर हो या गरीब। उन्होंने कहा कि यही एक ऐसा अनुष्ठान है, जिसमें समाज के हर वर्ग के लोग एक साथ समान रूप से जलाशय किनारे बैठकर भगवान भास्कर की अराधना करते हैं। इस महापर्व की खासियत यह है कि भगवान और भक्त दोनों आमने-सामने होते हैं। अतः हम समाज के वैसे लोग जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और छठ महापर्व का अनुष्ठान कर रहे हैं उनकी एक छोटी सी मदद सूप और पूजन-हवन सामग्री देकर करने की कोशिश की है। इस वर्ष कुल 101 सूपों का वितरण सभी के सहयोग से किया गया। सूप में ... साड़ी, नारियल, अरधौता, गागल, नींबू, बद्धि, हल्दी, सिन्दूर, होमाद, कपूर, माचिस, अगरबत्ती इत्यादि पूजन सामग्री जरूरतमंदों को दिया गया। उन्होंने कहा की छठव्रतियों को चिन्हित कर सूप बांटा गया, ताकि सही छठव्रती को सूप मिल सके। सूप पाने पर सभी के चेहरे पर एक संतोष और ख़ुशी दिख रही थी। ऐसे में कुछ ऐसे परिवार जो लोक आस्था का महापर्व छठ की पूजा करना चाहते हैं, और छठ के प्रति असीम श्रद्धा रखते हैं। परंतु, आर्थिक दुर्बलता के कारण पूजा से वंचित रह जाते हैं और मन मसोसकर रह जाते हैं। वैसे 101 परिवार छठ व्रतियों के बीच सामग्री का वितरण किया गया।संस्था ने आम लोगों से अपील किया कि आप भी इस प्रकार के शुभ कार्यों में यथासंभव सहयोग करें, ताकि उनके घरों में भी छठ के आस्था व श्रद्धा का धारा रहे और उन्हें भी खुशियां मिले। उल्लेखनीय है कि कार्तिक महीने में मनाये जाने वाला लोक आस्था का महापर्व छठ का हिंदू धर्म में एक विशेष और अलग स्थान है। भगवान भास्कर के इस अनुष्ठान में शुद्धता व पवित्रता का विशेष महत्व है। प्रकृति के अवयवो में से एक जल स्रोतों के निकट छठ पूजा का आयोजन होता है, जहाँ छठव्रती पानी में खड़े होकर सूर्य देव को अर्घ्य देते है। यह एक ऐसा अनुष्ठान है, जिसमे डूबते और उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है एवं उनकी अराधना की जाती है। चार दिवसीय इस अनुष्ठान के तीसरे दिन छठव्रती पहले डूबते सूर्य की अराधना करते हैं। उसके बाद अगले दिन प्रातः उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही इस महापर्व का समापन होता है। वहीँ, संस्था के समस्तीपुर निवासी संजय कुमार ने बताया की बिहार समेत पुरे देश में इस वक़्त लोक आस्था के महापर्व छठ का समय चल रहा है और इस समय वातावरण में एक अलग सकारात्मक ऊर्जा देखने को मिलती है। एक तरफ छठी मईया के गीतों से वातावरण भक्तिमय हो गया है, वहीं दूसरी तरफ छठ के समय कई लोग गरीब और निर्धन लोगों के बीच छठ पूजन सामग्री का वितरण करते हैं। ऐसे ही कुछ हमलोगों ने आज छठ सामग्री का वितरण किया। वहीँ, माँ अन्नपूर्णा महिला मंच की सदस्या सबिता देवी ने बताया की छठ पूजा में लोगों की अटूट आस्था होती है। लोग मनोकामना पूर्ति की कामना करते है। छठ की महत्ता के कारण जो लोग छठ नहीं भी कर रहे होते हैं, वह अपने तरफ से छठ व्रतियों के प्रसाद में अपना सहयोग देते हैं।  इन्हीं भावों के साथ छठी मईया की सेवा करते हैं। छठ को लेकर आसपास के सभी इलाकों में हम लोग छठव्रतियों के लिए पूजन सामग्री का वितरण कर रहे हैं। वहीँ, संस्था की सदस्या की कामिनी साह ने बताया की आज हमारे संस्था के द्वारा अपने इलाकों में छठ पूजन सामग्री का वितरण किया हैं। खासकर बस्तियों में जाकर भी हमलोग सामग्री का वितरण हर साल किया जाता है। पूजन सामग्री में मूल रूप से सूप, गागल नींबू, नारियल, सेव, केला, सिंदूर और अरता का पात, साड़ी, इत्यादि सामग्री होती है। वितरण सामग्री में मुख्य रूप से यही सारी चीजें होती हैं। वहीं एक अन्य सदस्या प्रियंका देवी का कहना है कि हर बार कि तरह इस बार भी हमलोगों ने छठ के समय व्रतियों को पूजन सामग्री वितरित करने का प्रयास शुरू किए हैं, और उनकी कोशिश रहेगी कि यह प्रयास आगे भी जारी रहे। वहीँ, संस्था की सदस्या अनीता गुप्ता ने कहा की गरीब और निर्धन लोगों को पूजन सामग्री देकर उन्हें छठ करने में मदद करने इस खुशी मिलती है। यह प्रयास भी छठी मईया की सेवा है। गरीब लोग भी धूमधाम से पूरे सम्मान के साथ छठ पर्व मनाना चाहते हैं और इस प्रकार मदद कर हमें काफी खुशी मिलती है। वहीँ, माँ अन्नपूर्णा कम्युनिटी किचन के सदस्य गणेश  काँस्यकार ने बताया की छठ व्रतियों की सेवा करने से मनोकामना पूरी होती है। इसी कामना के साथ हमलोगों ने आज छठ व्रतियों के बीच पूजन सामग्री एवं वस्त्र का वितरण किया है। लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा के अवसर पर संस्था के द्वारा छठ व्रतियों के बीच पूजा सामग्री का वितरण किया गया। इस मौके पर संस्था के एक्टिव सदस्यों ने संयुक्त रूप से ने बताया कि यह संस्था निरंतर जो आर्थिक रूप से कमजोर परिवार हैं, उसे चिह्नित कर राहत सामग्री उपलब्ध कराती आ रही है, और ये आगे भी जारी रहेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: