बिहार : जन सुराज पदयात्रा का 19वां दिन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 20 अक्तूबर 2022

बिहार : जन सुराज पदयात्रा का 19वां दिन

  • प्रशांत किशोर ने की जन सुराज अल्पसंख्यक समिति के सदस्यों और स्थानीय लोगों से की मुलाकात

Prashant-kishor-jan-suraj-yatra
जन सुराज पदयात्रा में आज विश्राम के दिन प्रशांत किशोर ने नरकटियागंज स्थित पदयात्रा शिविर में समाज के विभिन्न वर्गों के प्रबुद्ध लोगों से मुलाकात की। इसी क्रम में उन्होंने जन सुराज अल्पसंख्यक समिति के सदस्यों एवं ब्रम्हाकुमारी से जुड़ीं महिलाओं के साथ मुलाकात और जन सुराज के विचार पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि पदयात्रा के माध्यम से अब तक लगभग 150 किमी का सफर तय कर चुके हैं और पश्चिम चंपारण में लगभग 20 दिन और रुकेंगे। इस दौरान उन्होंने पश्चिम चंपारण की स्थानीय समस्यायों का जिक्र करते हुए बताया कि जिले के हर पंचायत की समस्याओं का संकलन कर रहे हैं और उसका समाधान कैसे हो इसके लिए भी लोगों से सुझाव ले रहे हैं। पदयात्रा शिविर में स्थानीय आमजन व जनप्रतिनिधियों से जन सुराज पर विचार व्यक्त करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि 2 अक्तूबर से शुरू हुई पदयात्रा के माध्यम से हम बिहार गांव, पंचायत, प्रखंड में जाकर दरवाजा खटखटा रहे हैं, ताकि समाज को मथ कर सही लोगों को चिन्हित किया जा सके। ऐसे सभी सही लोगों के माध्यम से हम बिहार के वास्तविक मुद्दों को समझने का प्रयास करेंगे। सही सोच का अर्थ है बिहार के विकास के लिए प्रयास करने की सोच और इसके लिए जबतक सामूहिक प्रयास नहीं होगा, कोई व्यक्ति या कोई दल अकेले बिहार को आगे नहीं बढ़ा सकता है। इसलिए सामूहिक प्रयास की आवश्यकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: