मधुबनी : अंतर्राष्ट्रीय महिला जागरूकता पखवाड़ा आयोजित - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 29 नवंबर 2022

मधुबनी : अंतर्राष्ट्रीय महिला जागरूकता पखवाड़ा आयोजित

  • जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा के नेतृत्व में लैंगिक हिंसा के विरुद्ध अंतर्राष्ट्रीय महिला जागरूकता पखवाड़ा के अवसर पर   महिलाओं के विरुद्ध हिंसा के खिलाफ शपथ ग्रहण समारोह का हुआ आयोजन।
  • महिलाओं को किसी भी प्रकार की हिंसा ना तो सहना चाहिए और ना ही उसका समर्थन करना चाहिए अपने अधिकार और हक के प्रति जागरूक होना जरूरी है- जिलाधिकारी
  • किसी भी प्रकार की घरेलू हिंसा,महिला उत्पीड़न,महिला हिंसा की शिकायत टॉल फ्री नंबर 181 पर करे,होगी त्वरित करवाई।  

Women-awareness-week-madhubani
मधुबनी, मैं शपथ लेता हूं कि मैं अपने परिवार एवं अपने आसपास महिलाओं के विरुद्ध होने वाले हिंसा का विरोध करूंगा,बाल विवाह,दहेज प्रथा का विरोध करूंगा----आदि उक्त शपथ जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा के नेतृत्व में  समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में महिला विकास निगम के तत्वावधान में  लैंगिक हिंसा के विरुद्ध अंतर्राष्ट्रीय महिला जागरूकता पखवाड़ा के अवसर पर आयोजित   शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मियों ने लिया। गौरतलब हो कि दिनांक 25 नवंबर से 10 दिसंबर 2022 तक लैंगिक हिंसा के विरुद्ध अंतरराष्ट्रीय महिला पखवाड़ा 2022 के दौरान जन जागरूकता के लिए किए जाने वाले रचनात्मक कार्यक्रमों की श्रृंखला के तहत इस शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया। अपने संबोधन में  जिलाधिकारी ने कहा कि महिलाओं को किसी भी प्रकार की हिंसा ना तो सहना चाहिए और ना ही उसका समर्थन करना चाहिए ,अपने अधिकार और हक के प्रति जागरूक होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा महिलाओं के खिलाफ हो रही  की हिंसा की समस्या के समाधान के लिए वन स्टॉप सेंटर योजना की शुरुआत की गई। इसका उद्देश्य लिंग आधारित हिंसा, स्वास्थ्य, मानवाधिकार और विकास के मुद्दों पर प्रभावकारी कदम उठाना है। हम सभी आए दिन खबरों में बलात्कार, घरेलू हिंसा, दहेज प्रताड़ना, ऑनर किलिंग, यौन उत्पीडन, मानव तस्करी, बाल विवाह, महिला भ्रूण गर्भपात आदि से जुड़ी घटनाओं के बारे में देखते हैं, जो हम सभी के लिए चिंता की बात है। ऐसे में हम सभी को महिलाओं के विरुद्ध होने वाले यौन हिंसा, शारीरिक, आर्थिक एवं मनोवैज्ञानिक शोषण के विरुद्ध खड़ा होना चाहिए। आधी आबादी को सशक्त करने से ही समाज का पूर्ण विकास संभव है। इस काम के लिए पुरुषों के साथ साथ महिलाओं को भी आगे आना होगा।  उन्होंने निर्देश दिया कि अगले दो दिनों में जिले के सभी अनुमंडल व प्रखंड स्तरीय कार्यालयों में इस आशय का शपथ ग्रहण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जल्द ही जिले में सखी वन स्टॉप की स्कीम को पूरी क्षमता से प्रभावी किया जाएगा। इसके लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं।  इसके तहत महिलाओं को आपातकालीन प्रतिक्रिया और बचाव सेवा, मेडिकल सहायता, पुलिस से समर्थन, मनोवैज्ञानिक व कानूनी परामर्श, अस्थाई आश्रय आदि का प्रावधान उपलब्ध कराया जा सकेगा। किसी भी प्रकार की घरेलू हिंसा,महिला उत्पीड़न,हिंसा की शिकायत टॉल फ्री नंबर 181 पर दी जा सकती है। शपथ ग्रहण के अवसर पर उप विकास आयुक्त विशाल राज, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा, अमेत विक्रम बैनामी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, परिमल कुमार, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, वंदना कुमारी, प्रभारी प्रोग्राम पदाधिकारी, कविता कुमारी, महिला हेल्पलाइन संयोजिका, वीना चौधरी, जिला योजना पदाधिकारी, विनोद कुमार सिंह, जिला कल्याण पदाधिकारी, राजीव रंजन देसाई, डायरेक्टर डीआरडीए, राजेश्वर प्रसाद सहित जिले के सभी विभागों के वरीय पदाधिकारी व कर्मी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: