बिहार : भारतीय प्राणी सर्वेक्षण, गंगा समभूमि प्रादेशिक केंद्र में संविधान दिवस का आयोजन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 26 नवंबर 2022

बिहार : भारतीय प्राणी सर्वेक्षण, गंगा समभूमि प्रादेशिक केंद्र में संविधान दिवस का आयोजन

Constitution-day-patna
पटना, गंगा समभूमि प्रादेशिक केंद्र, भारतीय प्राणी सर्वेक्षण,भारत सरकार, पटना में 26 नवंबर, 2022 को केंद्र के सभागार में संविधान दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर को महत्वपूर्ण आयोजन के रूप में भारतीय प्राणी सर्वेक्षण, गंगा समभूमि प्रादेशिक केंद्र, पटना, के प्रभारी अधिकारी, डॉ. गोपाल शर्मा, वैज्ञानिक ई ने अधिकारियों और कर्मचारियों के बीच भारतीय संविधान की प्रस्तावना का को पढ़ा। इसके बाद केंद्र के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भी इसका पालन किया। उन्होंने भातीय संविधान के गौरव को संजोने एवं महान भारतीय संविधान की विचारधारा को बनाए रखने के लिए हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि करने के लिए "भारत का संविधान एवं इसके मूल्य तथा मौलिक सिद्धांत" विषय पर एक व्याख्यान भी दिया। उन्होंने इसके महत्ता पर भी बात की और भारतीय संविधान के विकास में योगदान देने वाले विभूतियों को याद किया। उन्होंने भारतीय संविधान की प्रस्तावना यानी भारत को एक संप्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष एवं लोकतांत्रिक गणराज्य बनाने पर जोर दिया, जिसका उद्देश्य सभी नागरिकों के लिए न्याय, स्वतंत्रता एवं समानता को सुरक्षित करना है तथा देश की एकता और अखंडता को बनाए रखने के लिए भाईचारे को बढ़ावा देना है। उन्होंने कहा कि संविधान में अंकित अधिकार आवश्यक हैं लेकिन विशेषाधिकार नहीं हैं। डॉ. एम.ई.हसन, वैज्ञानिक ई ने भी संविधान दिवस एवं इसके संशोधनों के महत्व पर जोर दिया। सत्र का समापन मनीष चंद्र पटेल की टिप्पणी और धन्यवाद प्रस्ताव के साथ हुआ। अन्य कर्मचारियों में विजय कुमार, कार्यालय अधीक्षक,देव कुमार, कनिष्ठ प्राणी सहायक,प्रेमजीत कुमार सिंह एमटीएस,सौरभ कुमार सिंह, आशुलिपिक और सुनीता देवी एमटीएस भी इस मौके पर मौजूद थीं।

कोई टिप्पणी नहीं: