बिहार : 3.5 करोड़ परिवार में केवल 1250 परिवार के लोग ही सत्ता के केंद्र में: प्रशांत किशोर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 26 नवंबर 2022

बिहार : 3.5 करोड़ परिवार में केवल 1250 परिवार के लोग ही सत्ता के केंद्र में: प्रशांत किशोर

prashant-kishore-bihar
बहुआरी, पूर्वी चंपारण, जन सुराज पदयात्रा के दौरान पूर्वी चंपारण के सुगौली प्रखंड के बहुआरी गांव में प्रशांत किशोर ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, "बिहार में पिछले 20-25 साल से जितने लोग सांसद-विधायक बन रहे हैं, उन सब की जब सूची बनाई गई तो पाया गया कि केवल 1250 परिवार के व्यक्ति ही सांसद या विधायक बने हैं। सामान्य परिवार का व्यक्ति सांसद-विधायक नहीं बन रहा है। बिहार में साढ़े 3 करोड़ परिवार रहते हैं, लेकिन शासन केवल यही 1250 परिवार के लोग कर रहे हैं। जन सुराज के माध्यम से हम लोग समाज से ऐसे व्यक्तियों को ढूंढ कर निकाल रहे हैं,जिनके पिताजी विधायक-सांसद ना हो, बल्कि वह एक योग्य व्यक्ति हो जो समाज के विकास की दिशा में काम कर सकें।"

कोई टिप्पणी नहीं: