बिहार : स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव के समक्ष महाधरना दिया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 29 नवंबर 2022

बिहार : स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव के समक्ष महाधरना दिया

Protest-against-tejaswi-bihar
पटना. स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत स्वास्थ्यकर्मी कहते हैं कि हम लोग वेतनभोगी हैं. महागठबंधन सरकार बनने के बाद हम लोगों को नियमित वेतन नहीं मिल रहा है.किसी को तीन माह तो किसी को पांच माह से वेतन नहीं मिल रहा है. तो सरकार बताएं कि बिना वेतन के हमलोगों की हालात कैसी हो जाएगी? यह सवाल पटना जिले के विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों कार्यरत ए.एम.एम. का है जिन्हें वेतनादि नियमित नहीं रहा है.किसी को 3 तो किसी को 5 माह से वेतन नहीं मिल रहा है. वेतनभोगी ए.एन.एम.व उसके परिवार वालों की जिंदगी उधारू बन गया है.हर काम उधार हो रहा है. राशन उधार, स्कूल फीस उधार और तो और भगवान की मनौती उधार ही उतारी जा रही है.हर पर्व त्योहार भी बेरौनक ही कटा.बहुसंख्यक और अल्पसंख्यक दोनों राज्यकर्मी परेशान हैं.ईसाई अल्पसंख्यकों को क्रिसमस पर्व 25 दिसंबर को है.नव वर्ष 1 जनवरी को है.बिना वेतन से पर्व त्यौहार कैसे मनाया जाएगा! प्राप्त जानकारी के अनुसार परियोजना आधारित कार्यक्रम में शामिल ए.एन.एम.को 2211 हेड से वेतनादि मिलता है.इसमें केंद्रीयांश  60 प्रतिशत और राज्यांश 40 प्रतिशत है.इससे मिलता है वेतनादि.हिसाब-किताब में देर सबेर होने के कारण वेतन मिलने में विलंब हो रहा है. या और किसी गोपनीय वजह से वेतन भुगतान नहीं हो रहा है इसका खुलासा होना चाहिए.खैर इसका खामियाजा तो 2211 हेड वाले राज्यकर्मियों को ही भुगतना पड़ रहा है. पिछले दिनों परिवार कल्याण के तहत सभी एएनएम के बकाया वेतन एवं अन्य बकाया मद की राशि के भुगतान को लेकर सभी प्रखंडों के स्थापना लिपिक के साथ सदर अस्पताल में बैठक हुई. जिले में करीब 450 एएनएम ऐसे हैं जो 2211 के तहत आते हैं. जिनका भुगतान योजना अंतर्गत किया जाता है. 29 नवंबर को स्वास्थ्य मंत्री के समक्ष महाधरना को सफल बनाने पर बल दिया गया. बिहार चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ की जिला शाखा,पटना की जिला अध्यक्ष कल्पना सिन्हा और जिला मंत्री अमित कुमार मिश्रा ने कहा है कि एनपीएस समाप्त कर सभी को पुरानी पेंशन,ठेका-संविदा, आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को नियमित करने एवं 18 माह के बकाया महंगाई भत्ता का भुगतान सहित अन्य मांगों के पूर्ति के लिए 29 नवंबर को स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव के समक्ष महाधरना दिया गया. इसके पूर्व बिहार राज्य कर्मचारी महासंघ के महासचिव सर्वश्री अशोक कुमार सिंह, प्रशांत कुमार एवं अन्य स्वास्थ्य विभाग में निदेशक प्रमुख से मिले थे. उन्होंने कहा कि एएनएम के वेतन का आवंटन के लिए जानकारी मिली कि पटना जिला से दो दिन पहले मांग प्राप्त हुआ है, निर्गत करने की प्रक्रिया तेजी पर है, एक सप्ताह में सभी जिलों मे पहुंच जाएगा.जो आज तक नहीं पहुंचा.समझा जाता है कि नेताओं की भाषण की तरह ही आवंटन पहुंचाया जा रहा है.वहीं जीएनएम की सेवा पुस्तक से संबंधित निदेशक प्रमुख से मुलाक़ात नही हुआ. पुनः प्रयास किया जाएगा, चिकित्सा प्रतिपूर्ति आवंटन का संचिका वित्त विभाग से लौट कर आते ही निर्गत हो जाएगा इसके साथ अन्यान्य बिन्दु पर भी सकारात्मक वार्ता हुई.

कोई टिप्पणी नहीं: