बेतिया : के.आर.हाई स्कूल में प्राचार्य फादर जैकब ओलिकाथोट्टी को पदस्थापित - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 29 नवंबर 2022

बेतिया : के.आर.हाई स्कूल में प्राचार्य फादर जैकब ओलिकाथोट्टी को पदस्थापित

Father-jacob-principle
बेतिया. उत्तर बिहार में बिहार सरकार के द्वारा अल्पसंख्यक स्कूल के रूप में मान्यता प्राप्त के.आर.हाई स्कूल में प्राचार्य फादर जैकब ओलिकाथोट्टी को पदस्थापित किया गया है.सम्प्रति आरा हाई स्कूल के प्राचार्य हैं फादर जैकब ओलिकाथोट्टी.बहुत जल्द ही के.आर.हाई स्कूल के प्राचार्य पद ग्रहण करने जाएंगे.समझा जाता है कि निवर्तमान प्राचार्य फादर क्रिस्टोफर केरकेट्टा की विदाई समारोह 07 दिसंबर को है.उसी दिन फादर जैकब ओलिकाथोट्टी का स्वागत समारोह में स्वागत कर लिया जाएगा. फादर जैकब ओलिकाथोट्टी का जन्मदिन   04 अगस्त 1964 को है.इस समय 58 वर्ष के हैं.वे विश्वविख्यात जेसुइट में 21 वर्ष की अवस्था में 15 जुलाई 1985 को प्रवेश किये.उनका 33 वर्ष में पुरोहिताभिषेक 28 दिसंबर 1997 को हुआ था. 41 वर्ष में ग्रेड 22 अप्रैल 2005 में मिला. बताते चले कि बॉलीवुड अभिनेता पद्मश्री मनोज बाजपेयी के.आर.हाई स्कूल में पढ़े हैं. जब भी बेतिया पहुंचते हैं तो मनोज बाजपेयी केआर स्कूल जरूर पहुंचते हैं.अपने साथ अपने सहपाठी शैलेंद्र प्रताप सिंह और ज्ञानदेव मणि त्रिपाठी को भी साथ लाते हैं.तीनों ने केआर स्कूल से ही अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की थी. कैम्पस पहुंचने पर मनोज बाजपेयी को अपना बचपन याद आने लगता है. यहां पर आने के बाद शिक्षकों, बच्चों से मुलाकात भी करते हैं. मनोज बाजपेयी कहते हैं कि विद्यालय से ही आपकी नींव पड़ती है और इसी जगह से यह तय होता है कि आप अपनी मंजिल को पाने में कितने सक्षम हैं. मैं आज जो कुछ भी हूं इसकी नींव के.आर. स्कूल से ही पड़ी है. मैं जब यहां पढ़ता था तो मंचों पर जाकर महाभारत का वह प्रसंग कविता सुनाता था. आज उसी मंच पर खड़े होकर बच्चों से रूबरू होने का मौका मिला. जिस असेम्बली में हम सभी खड़ा होते थे, आज वहां एक बार फिर आकर अभिभूत हूं.उन्होंने कहा कि मैं जब भी अपने घर बेलवा आता हूं तो मेरा प्रयास होता है कि मैं अपने विद्यालय में आ सकूं और अपने बचपन की यादों को तजा कर सकूं. पिछले दिनों केआर स्कूल में भितिहरवा आश्रम जीवन कौशल ट्रस्ट और केआर ओल्ड बॉयज एसोसिएशन द्वारा डिजिटल बोर्ड इंस्टॉल कराया गया.तब किसी शूटिंग के सिलसिले में विदेश में मौजूद मनोज बाजपेयी शामिल नहीं हो सके थे. लेकिन वीडियो संदेश के जरिए उन्होंने अपनी उपस्थिति जताई थी. उन्होंने बताया कि पहली बार मुझे मंच इसी स्कूल ने उपलब्ध कराया था.

कोई टिप्पणी नहीं: