बेतिया : ग्वादालूपे मां मरियम का वार्षिक पर्व - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 13 दिसंबर 2022

बेतिया : ग्वादालूपे मां मरियम का वार्षिक पर्व

Mother-marry-function
बेतिया. ग्वादालूपे मां मरियम का वार्षिक पर्व रविवार 11 दिसंबर को बेतिया शहर के पादरी दुसैया में माता मरियम की शोभा यात्रा निकाली गई.नगर से सटे पादरी दुसैया में धूमधाम व उत्साह के साथ मनाया गया.पर्व की धूम नगर के मुख्य चर्च से लेकर पादरी दुसैया के चर्च तक रही. मां मरियम के तीर्थ स्थल के रूप में जाना जाने वाला पादरी दुसैया में श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा. हालांकि पर्व की आगाज तो दिसंबर से ही शुरू हो गई थी.दो दिसंबर को बेतिया धर्मप्रांत के बिशप पीटर सेबेस्टियन गोबियस ने नोवेना प्रार्थना कर झंड़ोतोलन के साथ शुरू किया गया था.9 दिवसीय नोवेना प्रार्थना की गई.जिसमें बहुत सारे श्रद्धालु आते रहे और नोवेना प्रार्थना करते रहे.जो कि अलग-अलग पल्ली से आए हुए पुरोहितों द्वारा संचालित किया जाता था. इस दौरान पूर्व वार्ड सदस्य एवं वार्ड नंबर 33 के भावी वार्ड पार्षद प्रत्याशी पति - रवि माइकल सिंह ने कहा कि रविवार को बेतिया धर्मप्रांत में हर्ष व उल्लास है.बेतिया से पदयात्रा कर धर्मी पादरी दुसैया आ रहे.यहां पर चमत्कारी ग्वादालूपे माता मरियम की प्रतिमा स्थापित है.यहां के यूथ पादरी दुसैया पहुंच मार्गों की सफाई की गयी.ईसाई समुदाय के युवा- हिमांशु, आशीष, प्रेम जॉन, सुमित बेनतुरा, सोनू विक्टर, प्रिंस अलेक्जेंडर, अमित डेविड , प्रकाश दीपक ,विकी विक्टर ,विशाल विक्टर, चंदन पीटर, एवं ईसाई समुदाय के युवा अध्यक्ष- रोहित मुकुल और ईसाई समुदाय के पूर्व युवा अध्यक्ष-आंजिलो एस जैकब, सभी ने शोभायात्रा को सफल बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाई. रविवार को ईसाई समुदाय ने ग्वादालूपे मां मरियम का वार्षिक पर्व मनाया. बेतिया चर्च से भक्तगण चलकर सात किलोमीटर तय करके पादरी दुसैया पहुंचे.दुसैया और बेतिया से मिलाकर चार हजार की संख्यां में उपस्थित भक्तगण धूमधाम व उत्साह के साथ पर्व मना रहे हैं.राह में प्रार्थना की गयी.सब संतों से हमारे लिए प्रार्थना का गुहार लगाया गया.सफेद वस्त्र पहनकर ग्वादालूपे मां मरियम की प्रतिमा के सामने फूलों की वर्षा करते रहे.बच्चों की तैयारी सुश्री शालू सुरूर ने की थी.इस बीच पादरी दुसैया के चर्च तक चहलकदमी बढ़ गयी. बताते चले कि मां मरियम के तीर्थ स्थल के रूप में जाना जाने के कारण पादरी दुसैया में श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा. फादर क्लोड कोर्दा संचालनकर्ता हैं. बता दें कि इस शोभायात्रा में दूर-दूर से सभी जाति- धर्म के श्रद्धालु अपने भक्ति के साथ यहां पर दर्शन एवं मन्नत मांगने के लिए आते हैं और उनकी जरूरतें पूरी होती है.यह शोभायात्रा बेतिया क्रिश्चियन क्वार्टर के श्रद्धालुओं द्वारा माता मरियम के डोली के साथ प्रार्थना करते हुए शहर मार्ग से पादरी दुसैया के ग्वादालूपे माता मरियम गिरजाघर में आते हैं. उसके बाद सभी श्रद्धालुओं द्वारा इस डोली को लेकर पादरी दुसैया में शोभायात्रा निकाली गयी.शोभायात्रा के बाद प्रार्थना सभा का संचालन बेतिया धर्मप्रांत के बिशप पीटर सेबेस्टियन गोबियस एवं अन्य पुरोहितों द्वारा संचालित किया गया. इस अवसर पर भक्तों के बीच परमप्रसाद वितरण किया गया. पादरी दुसैया का पल्ली पुरोहित ने अन्य पल्लियों से आने वाले भक्तों के लिए ठहरने व खाने की व्यवस्था किए थे.

कोई टिप्पणी नहीं: