मधुबनी : तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा (प्रारंभिक) शांतिपूर्ण सम्पन्न। - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 23 दिसंबर 2022

मधुबनी : तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा (प्रारंभिक) शांतिपूर्ण सम्पन्न।

madhubani-ssc-exam
मधुबनी, आज जिले के कुल 17 परीक्षा केंद्रों पर बिहार कर्मचारी चयन आयोग, पटना द्वारा जारी विज्ञापन संख्या 1 / 22 तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा (प्रारंभिक) 2022 का सफल आयोजन किया गया। बताते चलें कि आयोग द्वारा उक्त परीक्षा का आयोजन  दिनांक 23 दिसंबर को दो पालियों में और  24 दिसंबर 2022 को एक पालियों में आहूत किए जाने के निर्देश प्राप्त हैं। इसके लिए जिले के सदर अनुमंडल अंतर्गत कुल 17 परीक्षा केंद्रों पर इसका आयोजन किया गया। जिन परीक्षा केंद्रों पर इस परीक्षा का आयोजन किया गया उसमें दिल्ली पब्लिक स्कूल, बसुआरा, क्लासिक पब्लिक स्कूल, पोल स्टार, शिवगंगा गर्ल्स प्लस टू उच्च विद्यालय, रीजनल पब्लिक स्कूल, मिल्लत टीचर्स ट्रेनिंग स्कूल, आर के कॉलेज, डी एन वाई कॉलेज, जीएमएसएस सूरी प्लस टू उच्च विद्यालय, इंडियन पब्लिक स्कूल, मिल्लत टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, एमवाई प्लस टू उच्च विद्यालय शंभुआर, रामा प्रसाद दत्त जनता उच्च विद्यालय जितवारपुर, मिथिला टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, बसूआरा, अमीर हसन शकूर अहमद महाविद्यालय, वॉटसन प्लस टू उच्च विद्यालय एवं जगदीश नंदन महाविद्यालय सहित कुल 17 परीक्षा केंद्र शामिल हैं। कदाचारमुक्त परीक्षा के आयोजन के मद्देनजर अनुमंडल पदाधिकारी मधुबनी सदर अश्वनी कुमार द्वारा परीक्षा के दिन परीक्षा केंद्र के 500 गज की परिधि में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू रही। 


बताते चलें कि आज पूरे दिन भर प्रभारी जिला पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक एवं जिले के  वरीय पदाधिकारियों द्वारा विभिन्न परीक्षा केंद्रों में विधि व्यवस्था का जायजा लिया जाता रहा। जिसमें आयोग की पर्यवेक्षिका सोनी कुमारी के साथ साथ अनुमंडल पदाधिकारी, सदर अश्वनी कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी दिनेश कुमार चौधरी, निदेशक डीआरडीए राजेश्वर प्रसाद, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, शैलेंद्र कुमार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर सहित अन्य अधिकारी शामिल थे। परीक्षा के आयोजन के लिए नोडल पदाधिकारी सह नगर आयुक्त, अनिल चौधरी ने बताया कि उनके द्वारा जिले के सभी परीक्षा केंद्रों का अनुश्रवण किया गया और सभी तैयारियों का जायजा भी लिया गया। परीक्षा के दौरान विधि व्यवस्था पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि  आयोग के दिशानिर्देश से जिले के सभी परीक्षा केंद्रों पर चाक चौबंद इंतजाम किए गए थे। सभी केंद्रों पर पर्याप्त पुलिस बल और दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई थी। उन्होंने कहा कि आज दोनो पालियों में परीक्षा शांतिपूर्ण व कदाचार मुक्त वातावरण में संपन्न करा ली गई है। कल केवल प्रथम पाली में परीक्षा का आयोजन होना है। उसे भी सभी अधिकारी व कर्मियों की तत्परता से सफलता पूर्वक संपन्न करा लिया जाएगा। नगर आयुक्त ने बताया कि सभी परीक्षा केंद्रों पर प्रवेश के दौरान सभी परीक्षार्थियों की कड़ी जांच की गई। विभाग के निर्देशानुसार उन्हें केवल अपने साथ अपना प्रवेश पत्र, एक फोटो पहचान पत्र और अधिकतम तीन पुस्तकें साथ ले जाने की अनुमति दी गई। यह पुस्तकें गणित, सामाजिक विज्ञान और सामाजिक अध्ययन से संबंधित थी। यह पुस्तक एनसीईआरटी, बीएसईबी या आईसीएसई की टेक्सबुक थी। इसके इतर किसी अन्य हैंड बुक या गाइड को अंदर ले जाने की अनुमति दी गई। उन्होंने बताया कि काफी कम संख्या में परीक्षार्थियों द्वारा पुस्तकें लाई गई थी। जो भी परीक्षार्थी टेक्स्ट बुक लेकर आए थे, उन्हें जांच के बाद ही प्रवेश की अनुमति दी गई। अन्य प्रकार की लाई गई पुस्तकें जब्त कर ली गईं। उन्होंने बताया कि सभी परीक्षार्थियों ने भी जांच में पूर्ण सहयोग किया और आज सभी केंद्रों पर शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षा संपन्न करा ली गई है। नोडल पदाधिकारी ने बताया कि आयोग के निर्देश से सभी परीक्षार्थियों के आंखों के आइरिश को मशीन द्वारा  कैप्चर भी किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: