बिहार : 28 दिसंबर को मतदान होगा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 27 दिसंबर 2022

बिहार : 28 दिसंबर को मतदान होगा

bihar-nikay-voting-tomorow
पटना. पटना नगर निगम का चुनाव 28 दिसबंर को होगा.इसके अलावे उसी दिन आरा, सासाराम, बिहारशरीफ, गया, छपरा, मुजफ्फरपुर, मोतिहारी, सीतामढ़ी, बेतिया, दरभंगा, पूर्णिया, कटिहार, मुंगेर, बेगूसराय और भागलपुर में भी होगा.पटना नगर निगम के 74 वार्डो में चुनाव होगा.एक वार्ड में प्रत्याशी का चयन निर्विरोध  हो गया है. दूसरे चरण के लिए 28 दिसंबर को मतदान होगा और 30 दिसंबर को मतगणना होगी. अब चुनाव को लेकर सभी उम्मीदवारों में खुशी की लहर दौड़ गई है.प्रथम चरण के नगर निकाय का चुनाव घोषित तारीखों के अनुसार 28 दिसंबर को हुआ.अब दूसरे चरण के  उम्मीदवारों का इंतजार भी खत्म हो गया है. आपको बता दें कि राज्य में नगर निकाय चुनाव पहले 10 और 20 अक्टूबर को होने थे, लेकिन आरक्षण को लेकर चुनावों पर पटना हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी. पंचायत से नगर में आने के बाद 22 ए,22 बी और 22 सी में द्वितीय बार प्रत्याशी मैदान में है.प्रथम बार 22 ए से दिनेश कुमार ,22 बी से सुचित्रा सिंहा और 22 सी से रजनी देवी विजयी हुए थे. निवर्तमान पार्षद इस बार चुनाव भी मैदान में है.उनकी प्रतिष्ठा दांव पर है.पंचायत से नगर में आने के बाद इस बार निवर्तमान डिप्टी मेयर रजनी देवी मेयर पद की उम्मीदवार हैं.पूर्व मुखिया ममता कुमारी डिप्टी मेयर प्रत्याशी हैं.वहीं एक अन्य पूर्व मुखिया शशि देवी 22 बी की पार्षद प्रत्याशी हैं.नकटा दियारा पंचायत के पंचायत समिति के सदस्य चंदन की मां रीता देवी भी 22 बी की प्रत्याशी हैं.22 ए से उमेश चौधरी,मुक्ति प्रकाश,सुशीला देवी के द्वारा निवर्तमान पार्षद को जोरदार चुनौती दी गयी है अब तो प्रजातंत्र के राजाओं के हाथों में प्रत्याशियों की किस्मत है. जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि मतदान और मतगणना की सभी तैयारी पूरी कर ली गई है. अभिलेख या कागजात रखने एवं सत्यापित प्रति उपलब्ध कराने को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी को विस्तृत निर्देश दिया है.इसके तहत अगर कोई व्यक्ति चुनाव से संबंधित कागजात मांगता है तो न्यायालय या प्राधिकृत पदाधिकारी के आदेश के बिना चुनाव संबंधी कागजातों को खोलने या सत्यापित प्रति देना नियमानुकूल नहीं होगा.

कोई टिप्पणी नहीं: