बिहार : धार्मिक व्यक्तित्व के धनी ए वी जोसेफ का केरल में निधन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 12 दिसंबर 2022

बिहार : धार्मिक व्यक्तित्व के धनी ए वी जोसेफ का केरल में निधन

  • मेडिकल मिशन सिस्टर्स सोसाइटी की सिस्टर लुसी की छोटी बहन है  मारिया 

A-v-josaf
पटना. पटना महाधर्मप्रांत में करिश्माई आंदोलन का चिराग जलाने वालों में जेसुइट फादर जॉर्ज करमैयिल अग्रणी थे.उनके साथ लोकधर्मी ए वी जोसेफ भी थे.उन लोगों के प्रयास से पटना में पोट्टा टीम आकर 1993  में फादर थोमस के नेतृत्व में पटना में भव्य करिश्माई प्रार्थना आयोजित की गयी.वह भी एक बार नहीं दो बार करिश्माई प्रार्थना आयोजित की गयी.इस आयोजन में भक्तों का आहार की व्यवस्था करने में ए वी जोसेफ लगे थे. उसके बाद करिश्माई आंदोलन को जन जन तक पहुंचाने के लिए फातिमा सुसमाचार केंद्र के पूर्व डायरेक्टर जौर्ज करमैयिल के साथ कमिटी में मिलकर त्रैमासिक ‘वचनधारा‘ पत्रिका प्रकाशित करवाने में अहम भूमिका निभाएं.बाद में एवी जोस ने स्वयं ‘प्रकाश हो जाय‘ पत्रिका प्रकाशित करने लगे.इस पत्रिका का संपादक थे. फादर सत्यप्रकाश ने बताया कि बाइबिल का प्रचार - प्रसार से जुड़े.25 लाख रूपए का ट्रक क्रय किये थे.केरल में बाइबिल से संबंधित लेखन साम्रगी प्रकाशित कर बिहार लाते थे.उन्होंने कहा कि फातिमा सुसमाचार केंद्र के पूर्व डायरेक्टर जौर्ज करमैयिल के साथ मिलकर कार्य किये.अब मेरे साथ मिलकर मौन साधना में कार्य करते थे.उन्होंने कहा कि एक धार्मिक वक्ता थे.उनका अंतिम प्रवचन मोकामा में हुआ था.हमलोगों ने एक महान धार्मिक व्यक्ति खो दिए.एक आदर्श ख्रीस्तीय परिवार के सदस्य को खो दिये. मारिया जोस ने कहा कि मेरे पतिदेव ए वी जोसेफ का जन्म 14.1.1953 को हुआ था.और आज से 11.12.2022 को निधन हो गया.उनका अंतिम संस्कार सेवा मंगलवार 13 दिसंबर, 2022 को आयोजित की जाएगी.अर्थदथिल हाउस, नजंदुपारा, उरलीकुन्नम, पाला में सुबह 10.00 बजे अंतिम संस्कार प्रार्थना सेवा की जाएगी.दोपहर 12.00 बजे अंतिम संस्कार सेवा सेंट ऑगस्टाइन फोराने चर्च, प्रविथानम, पाला में दफन होगा. हमलोग प्यार से याद कर रहे हैं.रोनी जोस, सोनी जे हर्ष ,सिद्धार्थ हर्ष और नील जे हर्ष .

कोई टिप्पणी नहीं: