अमेरिका में आर्कटिक ब्लास्ट से 50 मरे - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 26 दिसंबर 2022

अमेरिका में आर्कटिक ब्लास्ट से 50 मरे

  • कई शहरों में -57 पारा और 43 इंच मोटी बर्फ

arcatic-blast-in-usa
नयी दिल्ली : अमेरिका में क्रिसमस से पहले अर्कटिक ब्लास्ट से परमाणु बम जैसी तबाही आई है जिसमें ताजा समाचार मिलने तक 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। बर्फीले तूफान के चलते यूएस के कई शहरों में तापमान —57 डिग्री तक पहुंच गया है और कई राज्यों में 43 इंच मोटी बर्फ की चादर पसर गई है। लगभग 20 करोड़ की आबादी पर इसका सीधा असर पड़ा है और अनेक शहरों में बिजली गुल हो गई है। विशेषज्ञों ने इस आपदा को बॉम्ब साइक्लोन नाम दिया है और उनका कहना है कि यह आर्कटिक ब्लास्ट के कारण हुआ है। आर्कटिक ब्लास्ट उस अवस्था को कहते हैं जब अचानक आर्कटिक ध्रुव या उत्तरी ध्रुव से अचानक तेज बर्फीली हवाएं चलनी शुरू हो जाती हैं। सैकड़ों वर्ष के बाद ऐसा हुआ है जब अचानक भयानक बर्फीली हवाएं उत्तरी ध्रुव से अमेरिका की और चली है। इससे लगभग आधे से अधिक यूएस में तापमान बहुत तेजी से गिरा है जिससे बिजली, यातायात और संचार सभी ठप पड़ गए हैं। सड़कों पर भारी बर्फ के चलते एंबुलेंस मरीजों तक नहीं पहुंच पा रही और जिंदगी करीब—करीब ठहर सी गई है। पूरे अमेरिका मेंं 50 से ज्यादा और कनाडा में 10 लोगों की मौत होने की जानकारी है। मेक्सिको में भी तूफान का असर देखा जा रहा है। खराब मौसम की वजह से 12 हजार से ज्यादा फ्लाइट्स कैंसिल हो गई हैं क्योंकि कई एयरपोर्ट्स के रनवे तक बर्फ में दब चुके हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: